गाजियाबाद जिले में घर में सो रहे पिता-पुत्री की चाकुओं से गोदकर किया गया मर्डर 

गाजियाबाद जिले में घर में सो रहे पिता-पुत्री की चाकुओं से गोदकर किया गया मर्डर 

गाजियाबाद जिले के साहिबाबाद थाना क्षेत्र के शहीद नगर में घर में सो रहे पिता-पुत्री की चाकुओं से गोदकर मर्डर कर दी गई. प्रातः काल करीब 8 बजे इस दोहरे हत्याकांड का पता चला. घटना के बाद पुलिस के आला अधिकारियों ने घटनास्थल का जायजा लिया. 

पुलिस ने हत्याकांड का खुलासा करते हुए मृतक के भांजे को शुक्रवार दिन में ही अरैस्ट कर लिया. पुलिस का दावा है कि मृतक की पत्नी से उसके भांजे के गैरकानूनी संबंध थे. इसका विरोध करने पर उसने इस दोहरे हत्याकांड को अंजाम दिया.

शुक्रवार प्रातः काल शहीद नगर में रहने वाले अब्दुल्ला (38) व उनकी 10 वर्ष की बेटी हाफजा का मृत शरीर मिला. अब्दुल्ला मूलरूप से बुलंदशहर के जलालपुर का रहने वाले थे. बीते करीब पांच वर्ष से शहीद नगर जी ब्लॉक में रह रहे थे. वह पहले जूते का कार्य करते थे, लेकिन लॉकडाउन के कारण परचून की दुकान चला रहे थे. परिवार में उनकी पत्नी, तीन बेटियां व एक बेटा है. अब्दुल्ला की पत्नी चार दिन पहले ही अपनी दो बेटियों व बेटे को लेकर गढ़मुक्तेश्वर के कलवाड़ा स्थित अपने मायके गई थी. शुक्रवार प्रातः काल करीब 8 बजे अब्दुल्ला का मौसेरा भाई परवेज घर आया, लेकिन दरवाजा ना खुलने पर उसने पड़ोसियों से मदद ली. इसके बाद पुलिस को मुद्दे की सूचना दी. कमरे का दरवाजा खोलने पर अंदर अब्दुल्ला व हाफजा का मृत शरीर चाकुओं के कई वार से लहूलुहान मिला. घटना की जानकारी मिलते ही आईजी प्रवीण कुमार व एसपी सिटी ने मौके पर जाकर मुआयना किया. इसके बाद मृतक के पिता ओर से दी गई तहरीर के आधार पर अब्दुल्ला के भांजे सफीर को अरैस्ट कर इस दोहरे हत्याकांड का खुलासा कर दिया. 

ऐसे खुला हत्याकांड : इलेक्ट्रॉनिक सर्विलांस व सीसीटीवी फुटेज के आधार पर सफीर से कड़ाई से हुई पूछताछ के बाद घटना का खुलासा हुआ. पुलिस ने बताया कि अब्दुल्ला ने सफीर का उसकी पत्नी से संबंध होने का विरोध किया था. इसी वजह से चार दिन पहले अब्दुल्ला व उसकी पत्नी में झगड़ा हुई व वह अपने मायके चली गई. घटना का खुलासा करने के लिए पुलिस की चार टीमें लगी हुई थीं. पुलिस ने बताया कि छत के रास्ते से आकर सफीर ने रात करीब 2-3 बजे के करीब इस जघन्य घटना को अंजाम देते हुए दोनों की मर्डर कर दी. 

घटनास्थल पर उपस्थित था आरोपी

एसपी केशव कुमार ने बताया कि सूचना मिलने के बाद जब पुलिस मौके पर पहुंची तो आरोपी भी अन्य लोगों के साथ घटनास्थल पर उपस्थित था. मुद्दे में जाँच बढ़े के बाद अहम सबूत हाथ लगे, जिसमें पता चला कि सफीर ने ही दोहरे हत्याकांड को अंजाम दिया है. 

''पुलिस ने तत्परता से कार्य करते हुए इलेक्ट्रॉनिक सर्विलांस की मदद से तीन घंटे में घटना का खुलासा कर आरोपी को अरैस्ट कर लिया.''- कलानिधि नैथानी, एसएसपी