वायरल

ब्लाइंड मर्डर का खुलासा, घटना के सभी छह आरोपी गिरफ्तार

पाली जिले में सुमेरपुर थाना पुलिस की टीम ने ब्लाइंड हत्या का खुलासा कर घटना के सभी 6 आरोपियों को अरैस्ट कर लिया है. मोबाइल चोरी के संदेह में साथी मजदूर ने अपने दो भाई और बहनोई एवं अन्य दो दोस्तों के साथ मिलकर चाकू और पत्थरों से वार कर मर्डर की थी.

एसपी चुनाराम जाट ने कहा कि सुरेश उर्फ सूर्य गमेती पुत्र सतिया (20), भाई प्रकाश उर्फ कुका (25) और प्रभु (22), बहनोई मोवना उर्फ मोवा पुत्र बुम्बरीया (24) और साथी काला उर्फ कालू गमेती पुत्र दीता राम (22) एवं प्रेम गमेती पुत्र भूरिया (21) को अरैस्ट किया गया है. सभी आरोपी थाना माण्डवा क्षेत्र के रहने वाले हैं.

एसपी जाट ने कहा कि 17 अप्रैल को कोलीवाडा गांव के पास पुलिस को गांव कुकावास निवासी पुरुष हमीरा राम उर्फ सोमिया उर्फ अमृत गमेती पुत्र पप्पू राम (25) का मृतशरीर मिला था. पहली नजर में ही पुलिस ने भांप लिया कि मर्डर कहीं और कर मृत-शरीर यहाँ फेंकी गई है. घटना की गंभीरता को देखते हुए एडिशनल एसपी चैन सिंह महेचा और सीओ भूपेंद्र सिंह शेखावत के निर्देशन एवं एसएचओ हिंदुस्तान सिंह रावत के नेतृत्व में एक विशेष टीम गठित की गई.

पुलिस ने जांच की तो सामने आया कि 16 अप्रैल को हमीरा राम मजदूरी पर गया था. उसके बाद दोपहर से ही शराब का सेवन कर रहा था. शाम को सुमेरपुर-शिवगंज सीमा पर आयोजित भील मेले में भी गया. मृतक को आखिरी बार उसके एक दोस्त गीना राम ने रंगमंच मैदान के पास देखा था जो घटना स्थल से करीब 6 किलोमीटर दूर है.

इस जानकारी पर पुलिस ने आसपास के सभी सीसीटीवी फुटेज खंगाले. जिसमें मौके के पास ही स्थित एक विद्यालय की निर्माणाधीन बिल्डिंग में रह रहे श्रमिकों पर पुलिस का संदेह गहरा गया. संदिग्ध की जानकारी हासिल की तो वे फरार मिले. पुलिस की एक टीम सिरोही के गांव सानवाड़ा से आरोपी प्रभु और प्रेम तथा दूसरी टीम ने गुजरात के पालनपुर से प्रकाश उर्फ कूका तथा सुरेश उर्फ सूर्या को पकड़ा वही सुमेरपुर में रुके हुए मोवना उर्फ मोहनतथा कालू को भी टीम ने अरैस्ट कर लिया.

एसपी श्री जाट ने कहा कि पूछताछ में सामने आया है मृतक हमीरा राम आरोपी सूर्या उर्फ सुरेश कुमार का दोस्त है. गत साल अंत में सूर्या ने 24 हजार और उसके भाई प्रकाश उर्फ कुका ने 10 हजार का नया मोबाइल लिया था जो चार-पांच दिन बाद ही चोरी हो गया. जब इन्होंने विद्यालय में लगे सीसीटीवी फुटेज चेक किया तो हमीरा राम मोबाइल चोरी करते हुए दिख गया जो घटना के बाद अपने गांव चला गया था.

घटना के रोज इन्हें हमीरा राम मेले में घूमता हुआ मिल गया. जिसे यह बहला फुसला कर बात करने के बहाने बाइक पर बैठा विद्यालय ले आए और मोबाइल के बदले पैसों की मांग कर हाथापाई की. लड़ाई बढ़ने पर विद्यालय से आगे कोलीवाडा गांव ले जाकर चाकू और पत्थरों से वार कर मर्डर कर दी.

Related Articles

Back to top button