वायरल

पड़ोसी से हुआ दो बच्चे की मां को प्यार: पति ने कर दी पत्नी की हत्या

दो बच्चों की मां को पड़ोस में रहने वाले एक आदमी से प्यार हो गया. पति और पत्नी के बीच पड़ोसी की वजह से झगड़ा होने लगा पति ने पत्नी को समझाने की प्रयास की लेकिन अंत में जब पत्नी नहीं मानी तो पति ने उसकी मर्डर कर दी.

डेढ़ वर्ष से पत्नी का पड़ोसी से था रिश्ता
पुलिस को उसने कहा कि उसकी पत्नी होलिका सिमडेगा जिला के अराणी नवाटोली गांव की रहने वाली थी. दस वर्ष पूर्व दोनो का शादी हुआ था.दोनो के दो बच्चे भी है.मगर इधर डेढ़ दो वर्ष पूर्व से उसकी पत्नी का पड़ोस के रहने वाले एक पुरुष के साथ प्रेम संबंध प्रगाढ़ ले रहा था.दोनो के बीच गैरकानूनी संबंध भी थे.

घर से बाहर कमाने जाता था पति प्रेमी से मिलती थी पत्नी
जब वह राजमिस्त्री के काम से घर के बाहर कहीं जाता था तो उसकी पत्नी अपने प्रेमी से मिलती थी.इस बात की जानकारी उसके मायके वालों को भी दी गई थी.जिसके बाद पत्नी को उसके मायके पहुँचा दिया गया था.वह काफी दिनों से मायके में थी.इसके बाद परिवारिक समझौता और पुनः इस तरह की हरकत नही करने की सहमति के बाद पत्नी को वापस लाया गया था.
मगर वापस आने के बाद भी उसका प्रेमी से मिलना जुलना लगा रहता था.काम से उसके घर लौटने के बाद उसे परिवारिक सुख नही मिल पाता था.जिसके बाद वह पत्नी को उसके प्रेमी से बचाकर रखने के लिए जहां काम करने जाता था वहां साथ ले जाता था. मगर वह वहां साथ रहना नही चाहती थी. काफी समझाने के बाद भी वह मानने को तैयार नहीं थी. पति नेमायके छोड़ देने की बात कही.जिसके बाद वह उसे बाइक में साथ लेकर मायके जा रहा था.

स्क्रू ड्राइवर गले में घोंप कर मार डाला
इसके बाद पत्नी को बालकों पहाड़ के पास ले जाकर स्क्रू ड्राइवर को गला मे घोंपकर मार डाला.साथ ही उसका पर्स लेकर वापस घर लौट गया. इसके बाद पुलिस उसे पकड़ ली.इधर पूरे घटनाक्रम को लेकर एसडीपीओ नजीर अख्तर और थाना प्रभारी मो जहांगीर ने कहा कि घटना के बाद होलिका देवी के पिता शंकर सिंह के लिखित आवेदन के आधार पर काण्ड दर्ज किया गया.साथ ही काण्ड के त्वरित उद्भेदन हेतु पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर उनके नेतृत्व में एक विशेष अनुसंधान टीम का गठन किया गया. अनुसंधान के दौरान घटना में मृतिका के पति की संलिप्तता सामने आई. फिर गुप्त सूचना पर पति 30 वर्षीय संजय साहू पिता स्वर्गीय जगन्नाथ साहू ग्राम तापकारा थाना पालकोट को अरैस्ट किया गया. तत्पश्चात उसका स्वीकारोक्त बयान लिया गया. अपने स्वीकारो बयान में पति संजय साहू ने पुलिस को घटना में अपनी संलिप्ता बताते हुए उपरोक्त कारणों की विस्तृत जानकारी दी.

पूछताछ में हुआ खुलासा
अभियुक्त संजय के निशानदेही पर पुलिस ने घटना में प्रयुक्त खून लगा हुआ लोहे का एक रड स्क्रू ड्राइवर एवं मृतिका का पर्स तापकारा पुल के नीचे से बरामद किया गया. इसके बाद पुलिस ने घटना करने में प्रयोग में ले गये मोटरसाइकिल को भी बरामद किया.इस छापेमारी टीम में बसिया अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी नजीर अख्तर,थाना प्रभारी मो जहांगीर,सब इंस्पेक्टर गौतम वर्मा,रामचंद्र यादव,एसआई परतो खलखो एवं पालकोट थाना के रिजर्व गार्ड शामिल थे.

अनाथ हो गए बच्चे
माँ की मर्डर और पिता के कारावास जाने के बाद दोनो के दो बच्चे अनाथ हो गए.दोनो बच्चे अभी थाना के संरछन में है.दोनो की उम्र 6 से 8 वर्ष है.दोनो बच्चों को मृतका के पिता अपने साथ सिमडेगा ले जाने की सहमति प्रदान की है.जिसके बाद पुलिस कागजी कार्रवाई कर बच्चो को उसके नाना के पास सुपुर्द करने की तैयारी में जुटी है.

Related Articles

Back to top button