उत्तर हिंदुस्तान में ठंड की दस्तक, पहाड़ों में हुई मौसम की पहली बर्फबारी से तेजी से गिरेगा तापमान

उत्तर हिंदुस्तान में ठंड की दस्तक, पहाड़ों में हुई मौसम की पहली बर्फबारी से तेजी से गिरेगा तापमान

अक्टूबर का महीना जैसे-जैसे बीत रहा है वैसे-वैसे तामपान में लगातार गिरावट दर्ज की जा रही है. खिली धूप होने के बावजूद लोगों को गरमी से राहत भी मिलनी प्रारम्भ हो गयी है. मॉनसून की विदाई के साथ ठंड का एहसास होने लगा है.

पहाड़ों पर मौसम की पहली बर्फबारी हो गयी है. जिससे उत्तर हिंदुस्तान में मौसम के तापमान में तेजी से गिरावट दर्ज हो सकती है. दरअसल, 11 अक्टूबर को जम्मू- कश्मीर के कुछ इलाकों में पहली बर्फबारी देखने को मिली है. इसके साथ ही अब उत्तर हिंदुस्तान समेत देश के अन्य राज्यों में ठंड बढ़ने की आशा है.

मौसम विभाग के अनुसार मॉनसून की वापसी होते ही पश्चिम के पहाड़ी इलाकों से आने वाली ठंडी हवाएँ तामपान को गिराना प्रारम्भ कर देंगी. करीब एक सप्ताह बाद मॉनसून के पूरी तरह वापसी के संभावना हैं. जैसे ही मॉनसून की पूरी तरह वापसी हो जाएगी उसके बाद से ही ठंड का आगमन हो जाएगा. जानकारों के अनुसार अक्टूबर के चौथे सप्ताह से सुबह-शाम अधिक ठंड का एहसास होने लगेगा.


Uttarakhand Rains Update : सहायता के लिए अक्टूबर की सैलरी देंगे मुख्यमंत्री धामी, एयर एंबुलेंस भी प्रारम्भ होगी

Uttarakhand Rains Update : सहायता के लिए अक्टूबर की सैलरी देंगे मुख्यमंत्री धामी, एयर एंबुलेंस भी प्रारम्भ होगी

देहरादून उत्तराखंड के सीएम पुष्कर सिंह धामी ने अहम घोषणा करते हुए शुक्रवार को बोला कि वह अक्टूबर महीने का अपना वेतन सीएम राहत फंड में जमा करवाएंगे, जिससे उत्तराखंड में भारी बारिश और भूस्खलन के चलते बने आपदा के दशा में लोगों की सहायता की जा सके आपदा ग्रस्त इलाकों के दौरे पर शुक्रवार को पीड़ितों से मिलते हुए धामी ने ये आदेश भी दिए कि दूरस्थ प्रभावित गांवों और इलाकों में लोगों की सहायता के लिए एयर एंबुलेंस की सुविधा भी प्रारम्भ की जाए इसके साथ ही, बड़ा अपडेट यह भी है कि प्रदेश में आज शनिवार को भी राहत एवं बचाव काम जारी रहेंगे

उत्तराखंड में वर्षाजनित आपदा में अब तक कम से कम 67 लोगों के मारे जाने की बात कही जा रही है जबकि ट्रेकिंग के दौरान बर्फबारी के चलते भी ट्रेकरों और पर्यटकों की मृत्यु की खबरें आ रही हैं इस बीच, धामी ने आपदा प्रभावित क्षेत्रों के दौरे के सिलसिले में शुक्रवार को चमोली ज़िले में उन पीड़ितों से मुलाकात की, जिनके परिजन आपदा के चलते लापता हैं आधिकारिक आंकड़े के अनुसार 64 मौतें हुई हैं और आपदा प्रभावित इलाकों के 11 लोग अब भी लापता हैं

पुष्कर सिंह धामी के बयान के विषय में एएनआई का ट्वीट

बताते चलें कि गुरुवार को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने उत्तराखंड के आपदा प्रभावित क्षेत्रों का हवाई सर्वेक्षण किया था उनके साथ मुख्यमंत्री धामी भी उपस्थित रहे थे इस सर्वे के बाद बोला गया था कि केन्द्र सरकार उत्तराखंड के साथ पूरा योगदान बनाए हुए है इधर, सीएम धामी प्रदेश में 7000 करोड़ के नुकसान का आंकलन बता चुके हैं और इस बारे में केन्द्र को प्रस्ताव भेजने की बात कह चुके हैं