जहर देकर हत्‍या के मामले में पति के बहनोई और उसके भाई को उम्रकैद

जहर देकर हत्‍या के मामले में पति के बहनोई और उसके भाई को उम्रकैद

अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश प्रदीप कुमार मणि ने तीन साल पूर्व नानकमत्ता थानाक्षेत्र में जहर देकर महिला की हत्या करने के मामले में पति के बहनोई व उसके भाई को आजीवन कारावास की सजा सुनाई है। साथ ही दस हजार रुपये का अर्थदंड भी सुनाया है। जुर्माना अदा न करने पर छह माह का अतिरिक्त कारावास भोगना होगा। मामले में मुख्य हत्यारोपित महिला का पति आज भी फरार चल रहा है।

सिसैया वन महोलिया मेलाघाट झनकईया के गुरुमुख सिंह ने नानकमत्ता थाने में 14 मई 2018 को रिपोर्ट दर्ज कराई थी। इसमें बताया था कि उसके पिता जसवंत सिंह, उनके बहनोई कुलवंत सिंह तोती व बेअंत सिंह 12 मई 2018 को उसकी मां सुखवीर कौर एवं उसे जबरन मायके कच्ची खमरिया नानकमत्ता से उठाकर ले गए थे। इसके बाद उसकी मां को पीटा व बाद में जहर देकर मार दिया। शिकायत करने पर उसे मारने की धमकी दी।

पुलिस ने हत्यारोपितों के विरुद्ध धारा 452, 302, 323, 506 के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया था। मामला अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश की अदालत में पहुंचा। पुलिस ने नौ अगस्त 2018 को कोर्ट में आरोप पत्र दाखिल किए थे। अभियोजन पक्ष की ओर से सहायक जिला शासकीय अधिवक्ता फौजदारी सौरभ ओझा ने पैरवी करते हुए 14 गवाह पेश किए।


दोनों पक्षों की दलीलें सुनने के बाद न्यायाधीश मणि ने आरोपित बिचुवा बगिया कुलवंत सिंह उर्फ तोती व उसके भाई बेअंत सिंह को दोषी पाते हुए धारा 302 के तहत आजीवन कारावास की सजा व दस हजार रुपये का अर्थदंड सुनाया। साथ जुर्माना जमा न करने पर छह माह के अतिरिक्त के कारावास की सजा सुनाई है। शासकीय अधिवक्ता ने बताया कि मामले का मुख्य आरोपित जसवंत सिंह अभी भी फरार चल रहा है। कुलवंत व बेअंत दोनों ही जसवंत के बहनोई हैं।


Uttarakhand Rains Update : सहायता के लिए अक्टूबर की सैलरी देंगे मुख्यमंत्री धामी, एयर एंबुलेंस भी प्रारम्भ होगी

Uttarakhand Rains Update : सहायता के लिए अक्टूबर की सैलरी देंगे मुख्यमंत्री धामी, एयर एंबुलेंस भी प्रारम्भ होगी

देहरादून उत्तराखंड के सीएम पुष्कर सिंह धामी ने अहम घोषणा करते हुए शुक्रवार को बोला कि वह अक्टूबर महीने का अपना वेतन सीएम राहत फंड में जमा करवाएंगे, जिससे उत्तराखंड में भारी बारिश और भूस्खलन के चलते बने आपदा के दशा में लोगों की सहायता की जा सके आपदा ग्रस्त इलाकों के दौरे पर शुक्रवार को पीड़ितों से मिलते हुए धामी ने ये आदेश भी दिए कि दूरस्थ प्रभावित गांवों और इलाकों में लोगों की सहायता के लिए एयर एंबुलेंस की सुविधा भी प्रारम्भ की जाए इसके साथ ही, बड़ा अपडेट यह भी है कि प्रदेश में आज शनिवार को भी राहत एवं बचाव काम जारी रहेंगे

उत्तराखंड में वर्षाजनित आपदा में अब तक कम से कम 67 लोगों के मारे जाने की बात कही जा रही है जबकि ट्रेकिंग के दौरान बर्फबारी के चलते भी ट्रेकरों और पर्यटकों की मृत्यु की खबरें आ रही हैं इस बीच, धामी ने आपदा प्रभावित क्षेत्रों के दौरे के सिलसिले में शुक्रवार को चमोली ज़िले में उन पीड़ितों से मुलाकात की, जिनके परिजन आपदा के चलते लापता हैं आधिकारिक आंकड़े के अनुसार 64 मौतें हुई हैं और आपदा प्रभावित इलाकों के 11 लोग अब भी लापता हैं

पुष्कर सिंह धामी के बयान के विषय में एएनआई का ट्वीट

बताते चलें कि गुरुवार को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने उत्तराखंड के आपदा प्रभावित क्षेत्रों का हवाई सर्वेक्षण किया था उनके साथ मुख्यमंत्री धामी भी उपस्थित रहे थे इस सर्वे के बाद बोला गया था कि केन्द्र सरकार उत्तराखंड के साथ पूरा योगदान बनाए हुए है इधर, सीएम धामी प्रदेश में 7000 करोड़ के नुकसान का आंकलन बता चुके हैं और इस बारे में केन्द्र को प्रस्ताव भेजने की बात कह चुके हैं