एक्सपर्ट से जानें बथुआ खाने के फायदे के बारे मे...

एक्सपर्ट से जानें बथुआ खाने के फायदे के बारे मे...

नैनीताल:पहाड़ में होने वाला बथुआ (Bathua) एक अच्छा आहार माना जाता है इसे अंग्रेजी में लैंब क्वार्टर या वाइल्ड स्पिनच भी कहते हैं जबकि इसका वानस्पतिक नाम चीनूपोडियम एल्बम है इसको लंबे समय से सब्जी और रायता के रूप में उपयोग में लाया जाता है वहीं, इसके पूड़ी और पराठे भी बनाए जाते हैं जबकि शिल्प शास्त्र की पुस्तक में लिखा गया है कि बुजुर्ग घरों में हरा रंग करने के लिए प्लास्टर में बथुआ मिलाते थे

कुमाऊं यूनिवर्सिटी में वनस्पति विज्ञान विभाग के प्रोफेसर डॉ ललित तिवारी बताते हैं कि इनमें कई तरह के विटामिन्स जैसे B1, B2, B3, B5, B6, B9 और C पाए जाते हैं इसके अतिरिक्त कैल्शियम, मैगनेशियम, मैगनीज, सोडियम और अन्य मिनरल्स भी होते हैं इसके अतिरिक्त पहले के समय में महिलाएं सर से डेंड्रफ हटाने के लिए बथुए के पानी से बाल धोया करती थीं

बथुआ खाने हैं कई अहम फायदे
100 ग्राम कच्चे बथुवे के पत्तों में 7.3 ग्राम कार्बोहाइड्रेट, 4.2 ग्राम प्रोटीन और 4 ग्राम पोषक रेशे होते हैं इसमें कुल मिलाकर 43 कैलोरी होती है जब बथुआ मट्ठा, लस्सी या दही में मिला दिया जाता है तो यह अधिक प्रोटीन वाला और किसी भी अन्य खाद्य पदार्थ से अधिक सुपाच्य और पौष्टिक आहार बन जाता है इसके साथ में बाजरे या मक्का की रोटी, मक्खन और गुड़ की डली हो तो इसे खाने का स्वाद बदल जाता है बथुआ का साग गुर्दों में पथरी और अमाशय को बलवान बनाता है यह गर्मी से बढ़े हुए लिवर को ठीक करता है और यह स्वस्थ्य रहने के लिए सबसे बेहतरीन औषधि है