इस फिल्‍म में अब आएंगे नजर, छोटी उम्र में बड़े पर्दे पर छा गए ऋषिकेश के प्रभु भट्ट

इस फिल्‍म में अब आएंगे नजर, छोटी उम्र में बड़े पर्दे पर छा गए ऋषिकेश के प्रभु भट्ट

ऋषिकेश की कई प्रतिभाएं अभिनय के क्षेत्र में छोटे व बड़े पर्दे पर अपनी पहचान बना चुकी हैं। इनमें तीर्थनगरी के प्रभु भट्ट एक ऐसे कलाकार हैं, जो छोटी उम्र में ही बड़े पर्दे पर अपनी चमक बिखेर रहे हैं। आइडीपीएल ऋषिकेश निवासी प्रभु भट्ट की उम्र अभी महज दस वर्ष की है। एनडीएस स्कूल श्यापुर में चौथी कक्षा के छात्र प्रभु भट्ट बड़े पर्दे पर कई फिल्मों में नजर आ चुके हैं।

रायफलमैन जसवंत सिंह के जीवन पर आधारित जेएसआर प्रोडक्शन की फिल्म '72 आवर्स: मार्टियर हू नेवर डाइड' में अभिनय कर चुके हैं। इसी वर्ष उनकी दो फिल्म पद्मा सिद्धि फिल्मस के बैनर तले बनी 'सौम्या गणेश' और जंगली प्रोडक्शन की फिल्म 'बधाई दो' रिलीज होने वाली है। बधाई दो, बालीवुड फिल्म 'बधाई हो' का सीक्वल है। इस फिल्म में प्रभु भट्ट अभिनेता राजकुमार राव और अभिनेत्री भूमि पेडनेकर के भांजे का किरदार निभा रहे हैं। प्रभु ने जी-5 वेब सीरीज में भी बाल कलाकार के रूप में अभिनय किया है। हाल में ही एक चाकलेट कंपनी के चर्चित विज्ञापन में प्रभु भट्ट ने अपनी अदाकारी से सभी को मोहा है।

प्रभु भट्ट के पिता ऋषि राज भट्ट भी फिल्मों से जुड़े हैं। वह अभिनय के साथ साथ फिल्मों में राइटिंग का कार्य भी करते हैं। जबकि प्रभु भट्ट की मां नीलम गृहणी हैं। प्रभु भट्ट ने बताया कि उनके पिता ऋषिराज भट्ट ही उन्हें एक्टिंग और डायलाग बोलना सिखाते हैं। प्रभु भट्ट का सपना स्कूली पढ़ाई के बाद नेशनल स्कूल आफ ड्रामा में जाकर थिएटर की बारीकियां सीखना है। प्रभु भट्ट स्कूल में भी एक मेधावी छात्र के रूप में पहचान रखते हैं। प्रभु ने बताया कि वह अपनी पढ़ाई के साथ अभिनय में के लिए भी पूरा समय निकालते हैं।


उत्तराखंड में कोरोना! 24 घंटे में सामने आए 2904 नए मामले, कोविड में अनाथ हुए बच्चों को मिलेगी आपदा राहत राशि

उत्तराखंड में कोरोना! 24 घंटे में सामने आए 2904 नए मामले, कोविड में अनाथ हुए बच्चों को मिलेगी आपदा राहत राशि

प्रदेश में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 2904 नए मामले सामने आए हैं, जबकि चार कोरोना संक्रमितों की मौत हो गई। दूसरी ओर, बुधवार को 1241 मरीजों ने कोरोना से जंग जीत ली।



स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी जानकारी के मुताबिक, प्रदेश में सामने आए 2904 नए मामलों में अल्मोड़ा में 19, बागेश्वर में 127, चमोली में 06, चंपावत में 30, देहरादून में 1016, हरिद्वार में 337, नैनीताल में 397, पौड़ी में 89, पिथौरागढ़ में 127, रुद्रप्रयाग में 252, टिहरी में 85, ऊधमसिंह नगर में 384 और उत्तरकाशी में 35 मामले शामिल हैं। प्रदेश में अब 32880 एक्टिव कोरोना केस हैं, जिनमें सर्वाधिक 14387 केस देहरादून जिले के हैं।

कोविड में अनाथ हुए बच्चों को मिलेगी आपदा राहत राशि

प्रदेश के कोविड में अनाथ हुए बच्चों को आपदा राहत राशि मिलेगी। सुप्रीम कोर्ट के आदेश का हलावा देते हुए मुख्य सचिव डॉ.एसएस संधू ने समस्त जिलाधिकारियों को इस संबंध में आदेश जारी किया है। कहा गया है कि 31 जनवरी तक इस तरह के बच्चों को राहत राशि उपलब्ध कराते हुए इससे शासन को अवगत कराएं।

मुख्य सचिव की ओर से जारी आदेश में कहा गया है कि सुप्रीम कोर्ट ने बाल स्वराज पोर्टल पर अपलोड ऐसे बच्चे जिनके दोनों अभिभावक या एकमात्र जीवित अभिभावक की कोविड 2019 से मौत हो गई है, उन्हें आपदा राहत राशि दी जाए। बाल स्वराज पोर्टल पर 25 जनवरी 2022 तक उत्तराखंड के इस तरह के 162 बच्चे पंजीकृत हैं।

जिला कार्यक्रम अधिकारी, बाल विकास परियोजना अधिकारी व आईसीडीएस सुपरवाइजर की टीम बनाकर ऐसे बच्चों का सर्वेक्षण किया जाए। यह देखा जाए कि इन बच्चों को आपदा राहत राशि मिली या नहीं मिली। यदि इन बच्चों को यह राशि नहीं मिली तो उन्हें राशि उपलब्ध कराई जाए। जबकि एक फरवरी तक इस संबंध में रिपोर्ट सचिव आपदा प्रबंधन को उपलब्ध कराई जाए।