हरीश रावत ने उम्मीदवारों की सूची को लेकर साधा भाजपा पर निशाना, बोले- 7 दिनों में सामने आएगी पहली लिस्ट

हरीश रावत ने उम्मीदवारों की सूची को लेकर साधा भाजपा पर निशाना, बोले- 7 दिनों में सामने आएगी पहली लिस्ट

नयी दिल्ली। उत्तराखंड में विधानसभा चुनाव का बिगुल बज चुका है। ऐसे में राजनीतिक दलों ने अपनी-अपनी रणनीति पर काम शुरू कर दिया है। इसी बीच पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के कद्दावर नेता हरीश रावत ने बताया कि पार्टी सात दिनों के भीतर उम्मीदवारों की पहली सूची जारी करेगी। हालांकि उन्होंने इस बात की जानकारी नहीं दी कि क्या पहली सूची में हरीश रावत का नाम होगा या नहीं ? 

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने बताया कि अगले सात दिनों के अंदर हम उम्मीदवारों की पहली सूची जारी कर देंगे। लेकिन दूसरी सूची जारी करने से पहले हम देखेंगे कि भाजपा कितनी बीमार हुई है। उनकी बीमारी का अंदाजा लगाकर फिर हम अपनी दूसरी लिस्ट जारी करेंगे।

EC से की थी कार्रवाई की मांग

कांग्रेस ने सोमवार को राज्य सरकार पर आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन का आरोप लगाते हुए चुनाव आयोग से कार्रवाई की मांग की थी। कांग्रेस की प्रदेश चुनाव अभियान समिति के अध्यक्ष हरीश रावत ने कहा था कि भाजपा सरकार ने चुनावों की तारीख के साथ लागू हुई आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन करते हुए आबकारी, शिक्षा और स्वास्थ्य सहित विभिन्न विभागों में नियुक्तियां की हैं। 

कांग्रेस ने जारी किया था थीम सॉन्ग

कांग्रेस की उत्तराखंड इकाई ने विधानसभा चुनाव के मद्देनजर अपना 'थीम सॉन्ग' जारी किया था। जिसके जरिए कांग्रेस ने डबल इंजन सरकार पर जमकर हमला बोला था। कांग्रेस ने तीन तिगाड़ा काम बिगाड़ा थीम सॉन्ग का वीडियो साझा करते हुए कहा था कि उत्तराखंड को मुख्यमंत्री परिवर्तन प्रयोगशाला बनाकर भाजपा ने किया कबाड़ा, इसलिए तो जनता कह रही है- तीन तिगाड़ा, काम बिगाड़ा। अब उत्तराखंड में नहीं आएगी भाजपा दोबारा।


उत्तराखंड में कोरोना! 24 घंटे में सामने आए 2904 नए मामले, कोविड में अनाथ हुए बच्चों को मिलेगी आपदा राहत राशि

उत्तराखंड में कोरोना! 24 घंटे में सामने आए 2904 नए मामले, कोविड में अनाथ हुए बच्चों को मिलेगी आपदा राहत राशि

प्रदेश में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 2904 नए मामले सामने आए हैं, जबकि चार कोरोना संक्रमितों की मौत हो गई। दूसरी ओर, बुधवार को 1241 मरीजों ने कोरोना से जंग जीत ली।



स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी जानकारी के मुताबिक, प्रदेश में सामने आए 2904 नए मामलों में अल्मोड़ा में 19, बागेश्वर में 127, चमोली में 06, चंपावत में 30, देहरादून में 1016, हरिद्वार में 337, नैनीताल में 397, पौड़ी में 89, पिथौरागढ़ में 127, रुद्रप्रयाग में 252, टिहरी में 85, ऊधमसिंह नगर में 384 और उत्तरकाशी में 35 मामले शामिल हैं। प्रदेश में अब 32880 एक्टिव कोरोना केस हैं, जिनमें सर्वाधिक 14387 केस देहरादून जिले के हैं।

कोविड में अनाथ हुए बच्चों को मिलेगी आपदा राहत राशि

प्रदेश के कोविड में अनाथ हुए बच्चों को आपदा राहत राशि मिलेगी। सुप्रीम कोर्ट के आदेश का हलावा देते हुए मुख्य सचिव डॉ.एसएस संधू ने समस्त जिलाधिकारियों को इस संबंध में आदेश जारी किया है। कहा गया है कि 31 जनवरी तक इस तरह के बच्चों को राहत राशि उपलब्ध कराते हुए इससे शासन को अवगत कराएं।

मुख्य सचिव की ओर से जारी आदेश में कहा गया है कि सुप्रीम कोर्ट ने बाल स्वराज पोर्टल पर अपलोड ऐसे बच्चे जिनके दोनों अभिभावक या एकमात्र जीवित अभिभावक की कोविड 2019 से मौत हो गई है, उन्हें आपदा राहत राशि दी जाए। बाल स्वराज पोर्टल पर 25 जनवरी 2022 तक उत्तराखंड के इस तरह के 162 बच्चे पंजीकृत हैं।

जिला कार्यक्रम अधिकारी, बाल विकास परियोजना अधिकारी व आईसीडीएस सुपरवाइजर की टीम बनाकर ऐसे बच्चों का सर्वेक्षण किया जाए। यह देखा जाए कि इन बच्चों को आपदा राहत राशि मिली या नहीं मिली। यदि इन बच्चों को यह राशि नहीं मिली तो उन्हें राशि उपलब्ध कराई जाए। जबकि एक फरवरी तक इस संबंध में रिपोर्ट सचिव आपदा प्रबंधन को उपलब्ध कराई जाए।