Haldwani news :पीड़ितों के लिए भगवान से कम नहीं है यह आईएएस अफसर

Haldwani news :पीड़ितों के लिए भगवान से कम नहीं है यह आईएएस अफसर

पवन सिंह कुंवर, हल्द्वानी: उत्तराखंड के एक आईएएस अफसर हमेशा अपने काम के उपायों को लेकर सुर्खियों में रहते हैं सरकारी दफ्तरों में अव्यवस्था की कम्पलेन हो या फिर सड़कों पर जनता को होने वाली दिक्कतें, यह आईएएस अधिकारी हमेशा नागरिक हितों की रक्षा करते हुए नजर आते हैं हम बात कर रहे हैं वर्तमान में कुमाऊं के कमिश्नर दीपक रावत की उनके पास आने वाली हर कम्पलेन का वह तुरंत संज्ञान लेते हैं और पीड़ित को न्याय दिलाते हैं दीपक रावत हल्द्वानी शहर में हर शनिवार को जनता दरबार लगाते हैं उनके दरबार में दूर-दूर से लोग अपनी कठिनाई लेकर आते हैं दीपक रावत ज्यादातर शिकायतों का मौके पर ही निवारण कर देते हैं यही वजह है कि वह जनता के बीच काफी लोकप्रिय हैं

कमिश्नर रावत ने गत शनिवार हल्द्वानी के कैंप कार्यालय में लगने वाले जनता दरबार में मंडल के फरियादियों की समस्याएं सुनीं जनता दरबार में फरियादियों द्वारा भूमि कब्ज़ा के साथ ही पेयजल, सड़क, भू-कटाव आदि की परेशानी से सम्बन्धित दर्जनों शिकायतें दर्ज हुईं जनता दरबार में अधिकतर शिकायतें घरेलू हिंसा, जमीन अतिक्रमण और कब्ज़ा से सम्बन्धित आईं, जिसका आयुक्त दीपक रावत ने शिकायतकर्ता और सम्बन्धित ऑफिसरों के साथ वार्ता कर निवारण किया

हल्द्वानी में लैंड फ्रॉड और सूदखोरों से जनता परेशान:
दीपक रावत ने बोला कि हल्द्वानी शहर में लैंड फ्रॉड के काफी मुद्दे सामने आ रहे हैं वहीं शहर में सूदखोरों को लेकर भी काफी शिकायतें मिल रही हैंउन्होंने बोला कि गरीब और भोले-भाले लोग इनके चंगुल में फंस जाते हैं इस पर भी लगाम लगाना महत्वपूर्ण है उन्होंने जनता से अपील की है कि वे लोग ब्याज कमाने के चक्कर मेंअपनी मेहनत की कमाई किसी को न दें और न ही अनावश्यक रूप से इनसे पैसा लेंइसके साथ ही जमीन खरीदने से पहले सभी दस्तावेजों की जानकारी तहसील और राजस्व निरीक्षक से जरूर लें, जिससे भविष्य में होने वाली धोखाधड़ी से बचा जा सकेगा

रावत के जनता दरबार में होता है जनता की समस्याओं का निवारण :
जनता दरबार में कम्पलेन लेकर आए रमेश सिंह मेहरा और रामकिशोर ने बोला कि कमिश्नर दीपक रावत के जनता दरबार में जो भी परेशानी लेकर आता है , उसकी समस्याओं का निवारण जरूर होता है इस दरबार से हम जैसे गरीबों और पीड़ितों को सहायता मिलती है पीड़ितों की जब कोई नहीं सुनता, तो वे कुमाऊं कमिश्नर के पास अपनी कम्पलेन लेकर आते हैं और वह हर शोषित के साथ न्याय जरूर करते हैं