डीजीसीए के सर्वे पर टिकी केदारनाथ हेली सेवा, Survey के बाद ही शुरू होगी यात्रियों की बुकिंग

डीजीसीए के सर्वे पर टिकी केदारनाथ हेली सेवा, Survey के बाद ही शुरू होगी यात्रियों की बुकिंग

उत्तराखंड में चारधाम यात्रा शुरू होने के साथ ही केदारनाथ में हेली सेवा को लेकर नजरें टिकी हैं। यह हेली सेवा डायरेक्टर जनरल सिविल एविशन कार्यालय के सर्वे के बाद ही शुरू होगी। बरसात के कारण अभी डीजीसीए की टीम केदारनाथ में सर्वे के लिए नहीं आ सकी है। यही कारण है कि एक अक्टूबर से हेली सेवा शुरू करने की तिथि तय करने के बावजूद यूकाडा ने इसकी बुकिंग शुरू नहीं की है।

प्रदेश में चारधाम यात्रा शुरू हो चुकी है। इस अवधि में बड़ी संख्या में यात्री केदारनाथ के दर्शन को आते हैं। केदारनाथ के लिए हेली सेवा के जरिये बड़ी संख्या में श्रद्धालु केदारनाथ धाम तक पहुंचते हैं। इस वर्ष यह हेली सेवा शुरू नहीं हो पाई है। इसका कारण यह कि अभी डीजीसीए ने हेलीपैड का निरीक्षण नहीं किया है। इसके बाद यह सेवा शुरू होगी। उत्तराखंड नागरिक उड्डयन प्राधिकरण ने केदारनाथ के लिए हेली सेवा शुरू करने की संभावित तिथि एक अक्टूबर रखी है।


हेली सेवा के जरिये आने वाले यात्रियों को भी दर्शन का मौका मिल सके, इसके लिए यूकाडा ने देवस्थानम बोर्ड से प्रतिदिन 200 यात्रियों का कोटा तय करने का अनुरोध किया है। सचिव नागरिक उड्डयन दिलीप जावलकर ने बताया कि हेली सेवा शुरू करने के लिए अभी डीजीसीए का सर्वे होना है। इसके बाद ही हेली सेवा शुरू होगी। एक अक्टूबर से पहले डीजीसीए से अनुमति मिलने की उम्मीद है। उन्होंने कहा कि डीजीसीए का सर्वे पूरा होने के बाद ही हेली सेवाओं के लिए बुकिंग शुरू की जाएगी।


सचिवालय की डिजिटल डायरेक्टरी लांच

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने मंगलवार को सचिवालय संघ और एनआइसी द्वारा विकसित सचिवालय डायरेक्टरी मोबाइल एप लांच किया। इस एप में सचिवालय के सभी अधिकारियों व कर्मचारियों के फोन नंबर हैं। मुख्यमंत्री ने इसे एक अच्छी पहल बताया। मंगलवार को सचिवालय में आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने कहा कि इस मोबाइल एप से कार्मिकों को काफी सहूलियत मिलेगी। बताया गया कि इस एप में सभी अधिकारियों के फोन नंबर, वर्तमान तैनाती स्थान, ईमेल व अन्य जानकारी आसानी से प्राप्त हो सकेगी। यहां तक कि इसके जरिये मेल भी की जा सकती है। 

इस दौरान सचिवालय संघ ने गोल्डन कार्ड और टोल प्लाजा में कर्मचारियों के सामने आ रही समस्याओं को मुख्यमंत्री के समक्ष रखा। मुख्यमंत्री ने संघ को इन समस्याओं के निस्तारण का आश्वासन दिया। इस दौरान सचिवालय संघ के अध्यक्ष दीपक जोशी, महासचिव विमल जोशी, उपाध्यक्ष सुनील लखेड़ा, बची सिंह बिष्ट, जगदंबा प्रसाद मैखुरी समेत अन्य सदस्य मौजूद थे।


Uttarakhand Rains Update : सहायता के लिए अक्टूबर की सैलरी देंगे मुख्यमंत्री धामी, एयर एंबुलेंस भी प्रारम्भ होगी

Uttarakhand Rains Update : सहायता के लिए अक्टूबर की सैलरी देंगे मुख्यमंत्री धामी, एयर एंबुलेंस भी प्रारम्भ होगी

देहरादून उत्तराखंड के सीएम पुष्कर सिंह धामी ने अहम घोषणा करते हुए शुक्रवार को बोला कि वह अक्टूबर महीने का अपना वेतन सीएम राहत फंड में जमा करवाएंगे, जिससे उत्तराखंड में भारी बारिश और भूस्खलन के चलते बने आपदा के दशा में लोगों की सहायता की जा सके आपदा ग्रस्त इलाकों के दौरे पर शुक्रवार को पीड़ितों से मिलते हुए धामी ने ये आदेश भी दिए कि दूरस्थ प्रभावित गांवों और इलाकों में लोगों की सहायता के लिए एयर एंबुलेंस की सुविधा भी प्रारम्भ की जाए इसके साथ ही, बड़ा अपडेट यह भी है कि प्रदेश में आज शनिवार को भी राहत एवं बचाव काम जारी रहेंगे

उत्तराखंड में वर्षाजनित आपदा में अब तक कम से कम 67 लोगों के मारे जाने की बात कही जा रही है जबकि ट्रेकिंग के दौरान बर्फबारी के चलते भी ट्रेकरों और पर्यटकों की मृत्यु की खबरें आ रही हैं इस बीच, धामी ने आपदा प्रभावित क्षेत्रों के दौरे के सिलसिले में शुक्रवार को चमोली ज़िले में उन पीड़ितों से मुलाकात की, जिनके परिजन आपदा के चलते लापता हैं आधिकारिक आंकड़े के अनुसार 64 मौतें हुई हैं और आपदा प्रभावित इलाकों के 11 लोग अब भी लापता हैं

पुष्कर सिंह धामी के बयान के विषय में एएनआई का ट्वीट

बताते चलें कि गुरुवार को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने उत्तराखंड के आपदा प्रभावित क्षेत्रों का हवाई सर्वेक्षण किया था उनके साथ मुख्यमंत्री धामी भी उपस्थित रहे थे इस सर्वे के बाद बोला गया था कि केन्द्र सरकार उत्तराखंड के साथ पूरा योगदान बनाए हुए है इधर, सीएम धामी प्रदेश में 7000 करोड़ के नुकसान का आंकलन बता चुके हैं और इस बारे में केन्द्र को प्रस्ताव भेजने की बात कह चुके हैं