कौन राजा भैया..., मैं तो नहीं जानता, जानें- क्यों रघुराज प्रताप सिंह से नाराज हैं सपा अध्यक्ष : अखिलेश यादव

कौन राजा भैया..., मैं तो नहीं जानता, जानें- क्यों रघुराज प्रताप सिंह से नाराज हैं सपा अध्यक्ष : अखिलेश यादव

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव रविवार को प्रतापगढ़ पहुंचे। सपा जिला अध्यक्ष की बेटी के विवाह समारोह में शामिल होने और फिर जनसभा के बाद अखिलेश ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि हमारा गठबंधन जिन पार्टियों से हो चुका है, उनके साथ चुनाव लड़ेंगे। आने वाले समय में और किससे गठबंधन करना है, इसका निर्णय पार्टी की कोर कमेटी के लोग करेंगे। गठबंधन पार्टियों के सीट के बंटवारे के सवाल को वह टाल गए। रघुराज प्रताप सिंह (राजा भैया) और मुलायम सिंह की मुलाकात और गठबंधन की अटकलों पर बोले कि कौन हैं राजा भैया... किनका नाम ले रहे हो आप। मैं तो नहीं जानता।

दरअसल, गुरुवार को भाजपा व सपा सरकार में मंत्री रहे प्रतापगढ़ की कुंडा से विधायक रघुराज प्रताप सिंह ने सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव से लखनऊ में उनके आवास पर मुलाकात की थी। इसके बाद से राजनीतिक कयासबाजी का दौर चल रहा था। मुलायम सरकार में मंत्री रहे कुंडा विधायक की मुलाकात के बाद भले ही सपा का साथ उनके गठबंधन को लेकर चर्चा शुरू हो गई थी लेकिन दोनों ही पक्ष से कोई ठोस संकेत नहीं मिले। अब अखिलेश यादव के बयान ने साफ कर दिया है कि उनकी नाराजगी अब तक कम नहीं हुई है।

वर्ष 2022 के विधानसभा चुनाव की तैयारी में जुटी समाजवादी पार्टी लगातार छोटे दलों से गठबंधन कर रही है। अभी तक जयंत चौधरी की रालोद, ओमप्रकाश राजभर की सुभासपा, डा. संजय सिंह चौहान की जनवादी पार्टी सोशलिस्ट, कृष्णा पटेल की अपना दल (कमेरावादी), केशव देव मौर्य की महान दल जैसे कई छोटे दल सपा के साथ आ चुके हैं। बुधवार को ही लखनऊ में आप सांसद संजय सिंह ने अखिलेश यादव से मुलाकात की थी। इसके बाद गुरुवार को भाजपा व सपा सरकार में मंत्री रहे प्रतापगढ़ की कुंडा से विधायक रघुराज प्रताप सिंह ने सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव से उनके आवास पर मुलाकात की थी।

मुलायम सिंह यादव से मिलने के बाद रघुराज प्रताप सिंह ने पत्रकारों से कहा था कि इस मुलाकात को चुनाव से जोड़ कर न देखा जाए। इसके कोई दूसरे निहितार्थ न निकाले जाएं। उन्होंने कहा कि वे हमेशा मुलायम सिंह के जन्मदिन पर उनसे मिलकर शुभकामनाएं देते रहे हैं, लेकिन इस बार बाहर होने के कारण जन्मदिन पर शुभकामनाएं नहीं दे पाया था। इसलिए अगले दिन मिलकर उन्हें शुभकामनाएं दी हैं।

हालांकि सूत्रों के अनुसार रघुराज प्रताप की बीते दिनों अखिलेश यादव से फोन पर बात भी हुई थी। इसी के बाद उन्होंने मुलायम सिंह यादव से मुलाकात की। मुलायम सिंह के करीबी रहे रघुराज अपनी पार्टी जनसत्ता दल लोकतांत्रिक को इन दिनों प्रदेश में मजबूत करने में लगे हैं। वह कुंडा से वर्ष 1993 से लगातार निर्दलीय चुनाव जीतते आए हैं।

वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव के दौरान जब सपा व बसपा का गठबंधन हुआ था तब अखिलेश के रघुराज प्रताप सिंह से रिश्ते बिगड़ गए थे। मायावती के कारण ही उन्होंने 2019 के राज्य सभा चुनाव में अखिलेश के कहने के बावजूद अपना वोट बसपा प्रत्याशी को न देकर भाजपा को दे दिया था। इस पर अखिलेश काफी नाराज भी हुए थे। अब रघुराज ने मुलायम से मिलकर इस कड़वाहट को खत्म करने के साथ ही भविष्य की राह प्रशस्त की, लेकिन अखिलेश यादव के ताजा बयान ने साफ कर दिया है कि उनकी नाराजगी अब तक कम नहीं हुई है।


आगरा में कोरोना! सामने आएं इतने नए मरीज, इतने लोग स्वस्थ्य घोषित

आगरा में कोरोना! सामने आएं इतने नए मरीज, इतने लोग स्वस्थ्य घोषित

जनवरी के आखिरी सप्ताह में आगरा में कोरोना संक्रमण के कुछ कम मामले सामने आए हैं। गुरुवार को आई रिपोर्ट में संक्रमित मरीजों की संख्या में कमी आई है। वहीं स्वस्थ्य होने वाले मरीजों की संख्या में बढ़ोत्तरी हुई है।

गुरुवार को जिला प्रशासन की रिपोर्ट में 141 नए मरीज मिले हैं। जनपद के विभिन्न हिस्सों से मिलने वाले मरीजों में अधिकांश होम आइसोलेशन में हैं।  
आगरा में कोरोना संक्रमित मृतकों की संख्या 460 है।

आज मिले नए मरीज
आगरा में गुरुवार को जहां 141 नए संक्रमित मिले हैं वहीं 432 लोग स्वस्थ्य घोषित किए हैं। गाइड लाइन के मुताबिक सात दिन बाद दोबारा रिपोर्ट नहीं कराई जा रही है। ऐसे में मरीजों को ठीक घोषित किया जा रहा है। आगरा में अब तक 460 संक्रमितों की मौत हो चुकी है। सक्रिय मरीजों की संख्या अब 1531 रह गई है। जनपद में 34852 लोग संक्रमित हुए हैं जिनमें से 32862 मरीज ठीक हो चुके हैं। वहीं मृतक संख्या 460 है। अब तक 23 लाख से अधिक सैंपल टेस्ट हो चुके हैं। 34 लाख से अधिक लोग कोरोना वैक्सीन की पहली खुराक ले चुके हैं। 20 लाख के करीब लोग दूसरी खुराक ले चुके हैं। किशोरों में टीकाकरण की रफ्तार भी बढ़ रही है। अब तक 15 हजार से अधिक किशोरों के टीका लगा है। 

मास्क का करें प्रयोग
जिला प्रशासन का कहना है कि कोरोना के मामले कम जरूर हो रहे हैं लेकिन कोरोना खत्म नहीं हुआ है। लोग सावधानी बरतें। घरों से निकलते समय मास्क का प्रयोग करें और भीड़भाड़ वाले स्थानों पर जाने से बचें। बुखार, खांसी और जुकाम होने पर तत्काल स्वास्थ्य विभाग के हेल्पलाइन नंबर पर संपर्क करें।