उत्तर प्रदेश

Varanasi Airport:अब होगा चकाचक, केंद्रीय कैबिनेट ने दी 2,869.65 करोड़ रुपये की मंजूरी

Varanasi Airport: पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी के लाल बहादुर शास्त्री अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे के विकास के लिए केंद्रीय कैबिनेट ने 2,869.65 करोड़ रुपये की स्वीकृति दे दी है गवर्नमेंट की ओर से मंजूर किए गए धनराशि से इस हवाई अड्डे में नए टर्मिनल का निर्माण एप्रन (पार्किंग) और हवाई पट्टी का विस्तार और पैरेलल टैक्सी ट्रैक का निर्माण कराया जाएगा इसके लिए भारतीय हवाई अड्डा प्राधिकरण (एएआई) ने गवर्नमेंट के पास प्रस्ताव भेजा था इसके विकास के बाद वाराणसी के हवाई अड्डे की यात्री संचालन क्षमता को 39 लाख यात्री सालाना से बढ़कर 99 लाख यात्री यात्री सालाना हो जाएगा

सीएम योगी ने प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी का जताया आभार

उधर, यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने केंद्रीय कैबिनेट के निर्णय का स्वागत किया है मुख्यमंत्री योगी ने अपने आधिकारिक एक्स एकाउंट पर पोस्ट करते हुए इसके लिए पीएम मोदी का आभार जताया है मुख्यमंत्री योगी ने लिखा है कि पीएम मोदी के नेतृत्व में केंद्रीय कैबिनेट की ओर से वाराणसी के लाल बहादुर शास्त्री अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे को विकसित करने के भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण के प्रस्ताव को स्वीकृति दे दी गई है उन्होंने लिखा कि करीब 2,869.65 करोड़ की लागत से इस अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे का विकास काशी समेत पूरे यूपी के विकास को नयी ऊंचाइयां प्रदान करेगा

वाराणसी के हवाई अड्डे पर बढ़ेगी यात्री क्षमता

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल ने बुधवार को वाराणसी स्थित लाल बहादुर शास्त्री तरराष्ट्रीय हवाई अड्डे को विकसित करने के भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण (एएआई) के प्रस्ताव को स्वीकृति दे दी, जिसमें नए टर्मिनल भवन, एप्रन एक्सटेंशन, रनवे एक्सटेंशन, समानांतर टैक्सी ट्रैक और संबद्ध कार्यों का निर्माण करना भी शामिल है हवाई अड्डे पर यात्री प्रबंधन क्षमता को मौजूदा 3.9 एमपीपीए से बढ़ाकर 9.9 मिलियन यात्री प्रति साल (एमपीपीए) करने पर अनुमानित वित्तीय व्यय 2869.65 करोड़ रुपये का होगा करीब 75,000 वर्ग मीटर में फैली नयी टर्मिनल बिल्डिंग को 6 एमपीपीए की क्षमता और 5000 पीक ऑवर यात्रियों (पीएचपी) के मुनासिब प्रबंधन के लिए डिजाइन किया गया है इसे शहर की विशाल सांस्कृतिक धरोहर की झलक दिखाने के लिए डिजाइन किया गया है

4075 मीटर का रनवे होगा तैयार

इस प्रस्ताव में रनवे को 4075 मीटर x 45 मीटर तक विस्तारित करना और 20 विमानों को पार्क करने के लिए एक नए एप्रन का निर्माण करना शामिल है वाराणसी हवाई अड्डे को हरित हवाई अड्डे के रूप में विकसित किया जाएगा, जिसका मुख्‍य उद्देश्य ऊर्जा अनुकूलन, अपशिष्ट के पुनर्चक्रण, कार्बन उत्सर्जन में कमी, सौर ऊर्जा का उपयोग, तथा दिन के प्राकृतिक प्रकाश को शामिल करके पर्यावरणीय निरंतरता सुनिश्चित करना है इसके साथ ही योजना, विकास और परिचालन के समस्‍त चरणों में अन्य टिकाऊ या सतत तरीका भी किए जाएंगे

Related Articles

Back to top button