कानपुर में कुख्यात विकास दुबे को लेकर पुलिस के हाथ लगी यह बड़ी सफलता

कानपुर में कुख्यात विकास दुबे को लेकर पुलिस के हाथ लगी यह बड़ी सफलता

कानपुर में  कुख्यात विकास दुबे को पकड़ने के हुए 8 पुलिसवालों की मर्डर के  मुद्दे में बुधवार को पुलिस को एक बड़ी सफलता हाथ लगी. हमीरपुर जिले में विकास का करीबी अमर दुबे पुलिस एनकाउंटर में मारा गया. बताया जा रहा है विकास की सुरक्षा का जिम्मा अमर के ही पास रहता था. 

29 जून को विकास ने लड़की को उठाकर करा दी थी शादी
बताया जा  रहा है कि 29 जून को ही अमर दुबे की विवाह हुई थी. विकास दुबे ने ही रिश्ता तय कराया था लेकिन लड़की वालों ने क्राइम के बारे में जानकारी होने पर इन्कार कर दिया था. इसके बाद विकास ने लड़की को उसके परिवार के साथ अपने घर बुला लिया व यहीं विवाह करा दी. दो दिन लड़की विकास के घर पर रही थी. उसके बाद परिवार के साथ बिदा कर दिया गया. विवाह की सिर्फ रस्म अदायगी रही. परिवार के लोग ही शामिल हुए. कोई कार्ड नहीं बांटे गए, भव्य आयोजन नहीं हुआ. विकास के करीबी 20-25 लोगों को ही विवाह की दावत दी गई थी.

हमीरपुर में मिली अमर की लोकेशन : 

एसपी हमीरपुर श्लोक कुमार ने बताया कि कानपुर में पुलिसवालों की मर्डर में शामिल अमर दुबे जो कि कुख्यात बिकास दुबे का नजदीकी है. जिसकी लोकेशन मौदहा के आसपास मिली थी. आज प्रातः काल हमीरपुर पुलिस और एसटीएफ की चेकिंग के दौरान अमर दुबे ने पुलिस बल पर फायरिंग की. दोनों तरफ से चली गोली में अमर दुबे घायल हुआ जिसे सरकारी अस्पताल ले जाया गया जंहा डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया. गोली बारी में घायल इंस्पेक्टर मनोज शुक्ल और एक सिपाही को भर्ती कराया गया है. उन्होंने बताया कि अमर दुंबे के पास से ऑटोमेटिक गन और कई हथियार मिले है. इस समय घटनास्थल को चारों तरफ से घेर लिया गया है. प्रयागराज ए डी जी और डी आई जी बांदा घटनास्थल पहुंच रहे है.

शूटरों के बंदोवस्त की जिम्मेदारी अमर की थी
बिकरू गांव में सीओ समेत 8 पुलिस कर्मियों की मर्डर के बाद फरार दुर्दांत बदमाश विकास दुबे का भतीजा अमर ही शूटरों का बंदोवस्त करता था. हर घटना की ब्यूह रचना में अमर के जिम्मे थी. वह रायफलधारियों के साथ हमेशा विकास के साथ ही रहता था. आवश्यकता पड़ने पर विकास शूटरों का बंदोवस्त करता था. घटना वाले दिन भी विकास के घर पर ही असलहाधारियों के साथ घर उपस्थित था. अमर के पिता संजीव दुबे गांव में खेती किसानी करते हैं. घटना के बाद से ही संजीव भी परिवार समेत घर छोड़कर फरार हैं.