नोएडा न्यायालय व आसपास के सभी रास्तों पर सख्ती बढ़ी, जाने बदमाश विकास दुबे को लेकर खुलासा

 नोएडा न्यायालय व आसपास के सभी रास्तों पर सख्ती बढ़ी, जाने बदमाश विकास दुबे को लेकर खुलासा

कानपुर में आठ पुलिस कर्मियों की मर्डर के बाद कुख्यात बदमाश विकास दुबे (Vikas Dubey) के दिल्ली-एनसीआर में छुपे होने की जानकारी मिल रही है.

 यह भी संभावना है एनकाउंटर से बचने के लिए विकास दिल्ली या ग्रेटर नोएडा स्थित सूरजपुर न्यायालय में आत्म समर्पण कर सकता है. इसे देखते हुए पुलिस ने नोएडा न्यायालय व आसपास के सभी रास्तों पर सख्ती बढ़ा दी है. पुलिस कर्मी सड़क पर आने-जाने वाले हर वाहन की गहनता से जाँच करने के साथ ही न्यायालय के अंदर आने वाले हर आदमी की पड़ताल कर रहे हैं.

विकास की धरपकड़ के लिए लोकल पुलिस तो अलर्ट पर है ही, एसटीएफ की टीमें भी दिल्ली-एनसीआर में चक्कर काट रही हैं. पुलिस उससे जुड़े हर इनपुट को गंभीरता से ले रही है. पुलिस को विकास से जुड़ी हर छोटी से छोटी जानकारी वरिष्ठ अधिकारियों तक पहुंचाने के लिए भी बोला गया है. 

विकास दुबे के फरीदाबाद में छिपे होने की सूचना की बीच एक बार फिर उसकी जैसी ही कद-काठी वाले युवक को एक दुकान के बाहर खड़ा देखा गया है. यह घटना दुकान के बाहर लगे एक सीसीटीवी में कैद हुई है. फरीदाबाद पुलिस सूत्रों ने यह जानकारी दी. बुधवार प्रातः काल विकास दुबे के फरीदाबाद में होने की जानकारी मिली थी, जिसके बाद से पुलिस उसकी तलाश में जुटी हुई है. पुलिस उसकी तलाश में दिल्ली, यूपी, गुरुग्राम व फरीदाबाद व राजस्थान सहित तमाम जगहों पर छापेमारी कर रही है. पहले विकास दुबे को हरियाणा में फरीदाबाद के सेक्टर 87 में दिखाई देने की सूचना पुलिस को मिली थी. सूत्रों का दावा है कि मंगलवार देर रात विकास एक होटल की सीसीटीवी फुटेज में भी देखा गया, लेकिन पुलिस के पहुंचने से पहले ही वह वहां से फरार हो गया.

फरीदाबाद से तीन साथी गिरफ्तार

वहीं, विकास दुबे के फरीदबाद के एक घर में छिपे होने की सूचना पर अपराध ब्रांच के साथ मिलकर फरीदाबाद पुलिस ने छापा मारकर 3 लोगों को हिरासत में लिया है. फरीदाबाद पुलिस ने बताया कि दबिश के दौरान इन अपराधियों ने पुलिस पर फायरिंग भी की थी. यूपी के एडीजी (लॉ एंड ऑर्डर) प्रशांत किशोर ने बुधवार को बताया कि फरीदाबाद से अरैस्ट किए गए बदमाशों की पहचान प्रभात, अंकुर व श्रवण के रूप में हुई है. इनमें से प्रभात बिकरू गांव का ही रहने वाला है. पुलिस ने इनके पास से कुल 4 पिस्टल व कारतूस बरामद किए हैं. इनमें से दो सरकारी पिस्टल हैं जो कानपुर काण्ड के दौरान पुलिस से लूटी गई थीं. 

विकास दुबे पर पांच लाख का इनाम घोषित

उत्तर प्रदेश के कानपुर जिले के बिकरू गांव में 8 पुलिस कर्मियों की मर्डर में वांटेड हिस्ट्रीशीटर क्रिमिनल विकास दुबे पर यूपी सरकार ने बुधवार को 5 लाख रुपये का इनाम घोषित कर दिया है. विकास दुबे पर इनामी राशि में चौथी बार इजाफा किया गया है. अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी ने बुधवार को बताया कि विकास दुबे पर अब पांच लाख रुपये का इनाम घोषित कर दिया गया है. यह इनाम उसे दिया जाएगा जो विकास के बारे में ठीक जानकारी देगा. पुलिस उसका नाम गुप्त रखेगी.

 जानें क्या है मामला

गौरतलब है कि बीते गुरुवार व शुक्रवार की रात यूपी के कानपुर जिले के चौबेपुर के बिकरू गांव में मर्डर के कोशिश के मुद्दे में हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे को अरैस्ट करने गई पुलिस टीम पर बदमाशों ने फायरिंग की थी. इस हमले में पुलिस उपाधीक्षक बिल्हौर देवेंद्र कुमार मिश्र के अतिरिक्त शिवराजपुर के थाना प्रभारी महेश यादव, मंधना चौकी प्रभारी अनूप कुमार, शिवकराजपुर थाने में तैनात सब-इंस्पेक्टर नेबूलाल, चौबेपुर थाने में तैनात कांस्टेबल सुल्तान सिंह ,बिठूर थाने में तैनात कांस्टेबल राहुल, जितेंद्र व बबलू शहीद हो गए थे, जबकि घटना में सात पुलिसकर्मी घायल हो गए थे.