जमीयत का EC को पत्र! यहां प्रस्तावित धर्म संसद पर रोक लगाने की मांग की

जमीयत का EC को पत्र! यहां प्रस्तावित धर्म संसद पर रोक लगाने की मांग की

मुस्लिमों की प्रमुख संस्था जमीयत उलेमा-ए-हिंद ने गुरुवार को कहा कि उसने चुनाव आयोग और जिला अधिकारी को पत्र लिखकर अलीगढ़ में प्रस्तावित धर्म संसद पर रोक लगाने की मांग की है।

जमीयत ने अपने पत्र में कहा कि अलीगढ़ में 22 और 23 जनवरी को या किसी अन्य स्थान पर किसी अन्य तारीख पर प्रस्तावित धर्म संसद के आयोजन पर प्रतिबंध लगे। 

संस्था ने ''आदतन हेट स्पीच (समाज में वैमनस्यता फैलाने वाले भाषण देने वालों) देने वालों, गैर कानूनी कार्यवाही में संलिप्त रहने वालों पर कार्रवाई की मांग की और कहा कि शांतिपूर्ण और निष्पक्ष चुनाव कराना चुनाव आयोग की प्राथमिक जिम्मेदारी है।'' जमीयत ने अपने पत्र में लिखा, ''ये लोग स्पष्ट रूप से धर्म संसद का आयोजन चुनाव के दौरान समाज में साम्प्रदायिक तनाव फैलाने के लिए कर रहे हैं और उन्हें रोका जाना चाहिए।'' 

छात्र नेता ने जिला प्रशासन से की थी आयोजन को अनुमति नहीं देने की मांग अलीगढ़ में धर्म संसद के आयोजन की अनुमति नहीं देने की मांग करने के लिए अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (एएमयू) के छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष सलमान इम्तियाज की अगुआई में एक दल ने पिछले सप्ताह जिला प्रशासन से मुलाकात की थी। उनका दावा था कि इससे चुनावी राज्य उत्तर प्रदेश में माहौल गर्मा सकता है।

सनातन हिंदू सेवा संस्था ने अलीगढ़ में धर्म संसद के आयोजन का प्रस्ताव रखा है, जिसका मुख्य विषय वर्तमान राजनीति में साधु की भूमिका है। अलीगढ़ जिला प्रशासन ने हालांकि ऐसे किसी भी कार्यक्रम के आयोजन से संबंधित कोई लिखित आवेदन नहीं मिला है।


आगरा में कोरोना! सामने आएं इतने नए मरीज, इतने लोग स्वस्थ्य घोषित

आगरा में कोरोना! सामने आएं इतने नए मरीज, इतने लोग स्वस्थ्य घोषित

जनवरी के आखिरी सप्ताह में आगरा में कोरोना संक्रमण के कुछ कम मामले सामने आए हैं। गुरुवार को आई रिपोर्ट में संक्रमित मरीजों की संख्या में कमी आई है। वहीं स्वस्थ्य होने वाले मरीजों की संख्या में बढ़ोत्तरी हुई है।

गुरुवार को जिला प्रशासन की रिपोर्ट में 141 नए मरीज मिले हैं। जनपद के विभिन्न हिस्सों से मिलने वाले मरीजों में अधिकांश होम आइसोलेशन में हैं।  
आगरा में कोरोना संक्रमित मृतकों की संख्या 460 है।

आज मिले नए मरीज
आगरा में गुरुवार को जहां 141 नए संक्रमित मिले हैं वहीं 432 लोग स्वस्थ्य घोषित किए हैं। गाइड लाइन के मुताबिक सात दिन बाद दोबारा रिपोर्ट नहीं कराई जा रही है। ऐसे में मरीजों को ठीक घोषित किया जा रहा है। आगरा में अब तक 460 संक्रमितों की मौत हो चुकी है। सक्रिय मरीजों की संख्या अब 1531 रह गई है। जनपद में 34852 लोग संक्रमित हुए हैं जिनमें से 32862 मरीज ठीक हो चुके हैं। वहीं मृतक संख्या 460 है। अब तक 23 लाख से अधिक सैंपल टेस्ट हो चुके हैं। 34 लाख से अधिक लोग कोरोना वैक्सीन की पहली खुराक ले चुके हैं। 20 लाख के करीब लोग दूसरी खुराक ले चुके हैं। किशोरों में टीकाकरण की रफ्तार भी बढ़ रही है। अब तक 15 हजार से अधिक किशोरों के टीका लगा है। 

मास्क का करें प्रयोग
जिला प्रशासन का कहना है कि कोरोना के मामले कम जरूर हो रहे हैं लेकिन कोरोना खत्म नहीं हुआ है। लोग सावधानी बरतें। घरों से निकलते समय मास्क का प्रयोग करें और भीड़भाड़ वाले स्थानों पर जाने से बचें। बुखार, खांसी और जुकाम होने पर तत्काल स्वास्थ्य विभाग के हेल्पलाइन नंबर पर संपर्क करें।