सीएम कमलनाथ के भांजे रतुल पुरी को दिल्ली की न्यायालय से मिली यह बड़ी राहत

 सीएम कमलनाथ के भांजे रतुल पुरी को दिल्ली की न्यायालय से मिली यह बड़ी राहत

अगस्ता वेस्ट लैंड मनी लॉन्ड्रिंग केस में आरोपित मध्य प्रदेश के सीएम कमलनाथ के भांजे रतुल पुरी (businessman Ratul Puri, nephew of Madhya Pradesh सीएम Kamal Nath) को दिल्ली की न्यायालय से बड़ी राहत मिली है. दिल्ली की स्पेशल न्यायालय ने सोमवार को सुनवाई के दौरान रतुल पुरी को नियमित जमानत दे दी है. विशेष न्यायाधीश अरविंद कुमार ने पुरी को 5 लाख रुपये के व्यक्तिगत मुचलके पर जमानत दे दी. वह पिछले कई महीनों से इस मुद्दे में न्यायिक हिरासत में दिल्ली की तिहाड़ कारागार में बंद हैं. बताते चलें कि प्रवर्तन निदेशालय ने रतुल पुरी को 20 अगस्त को हिरासत में लिया था.

यह अलग बात है कि नियमित जमानत याचिका के बावजूद रतुल पुरी को वैसे कारागार में ही रहना होगा, क्योंकि उन्हें एक अन्य मुद्दे भी हिरासत में लिया गया था, जिस पर मुद्दा न्यायालय में है.

गौरतलब है कि कारोबारी रतुल पुरी की ओर से पिछले महीने 16 नवंबर को दिल्ली की स्पेशल न्यायालय में आवेदन देकर नियमित जमानत देने की मांग करते हुए याचिका दाखिल की गई थी.यह याचिका रतुल पुरी के सलाहकार विजय अग्रवाल ने की थी. याचिका में रतुल पुरी के एडवोकेट ने तर्क दिया था कि उनके मुवक्किल ने सारी जानकारी एजेंसी को दे दी है. ऐसे में अब उन्हें हिरासत में रखने का कोई तुक नहीं है.

जानिए- पूरा मामला

गौरतलब है कि भारतीय वायु सेना ने एंग्लो-इतावली कंपनी अगस्ता वेस्टलैंड के साथ 12 वीवीआइपी हेलीकॉप्टर को खरीदने के लिए सौदा वर्ष 2010 में तीन हजार 600 करोड़ रुपये में हुआ था.

वीवीआईपी चॉपर घोटाले में रतुल पुरी का आरोप है कि मध्य प्रदेश के सीएम कमलनाथ के भतीजे रतुल पुरी ने 3600 करोड़ के आरोपी राजीव सक्सेना को धमकाया है.