उत्तर प्रदेशबिहार

जानें,अयोध्या में रामलला की कब-कब होगी आरती

राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम के बाद मंदिर का पट जब आम लोगों के लिए खुला, तो रामलला के दर्शन के लिए पूरे राष्ट्र से लोग उमड़ पड़े राम मंदिर में रामलला के भक्तों का तांता अभी लग रहा है वहीं राम मंदिर में विराजमान प्रभु राम की प्रतिमा की आरती भी हो रही है इसी कड़ी में श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने राम मंदिर में ईश्वर राम की आरती और दर्शन के समय के बारे में जानकारी दी है श्रृंगार आरती से लेकर शयन आरती तक की ट्रस्ट ने पूरी जानकारी दी है

दरअसल भक्तों की भारी भीड़ को देखते हुए श्री राम जन्मभूमि ट्रस्ट ने आरती और दर्शन की समय सूची जारी की है विश्व हिन्दू परिषद के प्रांत प्रवक्ता और मीडिया प्रभारी शरद शर्मा ने कहा कि श्री राम लला की श्रृंगार आरती अहले सुबह साढ़े चार बजे,मंगला आरती सुबह साढ़े छह बजे इसके बाद भक्तों को दर्शन सात बजे से से प्रारम्भ हो जाता है इसके बाद भोग आरती दोपहर बारह बजे और संध्या आरती शाम साढ़े सात बजे होती है वहीं रात्रि भोग आरती आठ बजे और इसके बाद रात दस बजे शयन आरती होगी

अयोध्या में रामलला के दर्शन को उमड़ रहा श्रद्धालुओं का सैलाब
बीते मंगलवार को अयोध्या में राम मंदिर का कपाट आम भक्तों के लिए खोल दिया गया इसके बाद तो राष्ट्र के कोने-कोने से आये आये भक्तों का ऐसा सैलाब उमड़ा की संभालते-संभालते प्रशासन के भी हाथ पैर फूल गये पहले ही दिन दर्शन करने वाले भक्तों का आंकड़ा कुछ घंटे में ही साढ़े तीन लाख पार कर गया भारी भीड़ को देखते हुए उत्तर प्रदेश के प्रमुख सचिव और विशेष डीजी भी मोर्चा संभालना पड़ा मंगलवार को आधी रात से ही मंदिर के बाहर दर्शन के लिए भक्त खड़े होने लगे थे

आज से प्रारम्भ हुआ राग सेवा
वहीं, राम मंदिर में ईश्वर राम को समर्पित 45 दिवसीय भक्ति संगीत कार्यक्रम आज यानी शुक्रवार से प्रारम्भ हो गया है यह कार्यक्रम 10 मार्च तक चलेगा 45 दिनों तक चलने वाले कार्यक्रम में हेमा मालिनी, अनूप जलोटा सहित 100 कलाकार श्री राम राग सेवा में हिस्सा लेंगे श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र के एक सदस्य ने बोला कि प्राचीन परंपरा के अनुरूप 26 जनवरी से श्री राम जन्मभूमि मंदिर में राग सेवा का आयोजन किया जाएगा यह कार्यक्रम ईश्वर के समक्ष गुड़ी मंडप में आयोजित किया जाएगा, जिसमें राष्ट्र के विभिन्न प्रांतों के 100 से अधिक मशहूर कलाकार और कला परंपराएं शामिल रहेंगी ये कलाकार अगले 45 दिनों तक ईश्वर राम के चरणों में अपनी ‘राग सेवा’ पेश करेंगे

Related Articles

Back to top button