इंडियन रेलवे वे ने जारी किए नए नियम बिना इस जानकारी के नहीं मिलेगा टिकट

 इंडियन रेलवे वे ने जारी किए नए नियम बिना इस जानकारी के नहीं मिलेगा टिकट

कोरोना वायरस (COVID-19) संकट के बीच लॉकडाउन (Lockdown) का दौर समाप्त हो रहा है व उसकी स्थान अनलॉक (Unlock 1.0) ने ले ली है। इसके तहत केन्द्र व राज्यों की सरकार धीरे-धीरे कई क्षेत्रों में छूट दे रही हैं, इससे जन-जीवन धीरे-धीरे सामान्य हो रहा है। 

इसी क्रम में इंडियन रेलवे वे ( इंडियन रेलवे ) ने भी ऐतिहासिक बंदी के बाद यात्री ट्रेनें देश भर में प्रारम्भ कर दी हैं। इन ट्रेनों में सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क व सैनेटाइजेशन का सख्ती से पालन कराने का फरमान है। इसके अतिरिक्त यात्रियों के लिए रेलवे ने रिजर्वेशन टिकट के लिए कुछ नियमों में भी परिवर्तन किए हैं।

बिना इस जानकारी के टिकट नहीं मिलेगा

नए आदेश के अनुसार टिकट बुकिंग (Train Ticket Booking) के लिए हर यात्री को रिज़र्वेशन फॉर्म पर कुछ व जानकारी देनी जरूरी होगी। इसके बिना टिकट नहीं मिलेगा। इन जानकारियों में सफर के लिए आप जहां जा रहे हैं? उसका पूरा पता देना होगा। सिर्फ शहर लिखने से कार्य नहीं चलेगा। इसके अतिरिक्त उस स्थान का संबंधित पिनकोड भी देना होगा। रेलवे ने कोरोना संक्रमण काल को देखते हुए यात्री के डेस्टिनेशन सहित अन्य जानकारियों को साझा करना जरूरी कर दिया है। अगर आप रिजर्वेशन फॉर्म पर ये जानकारियां नहीं देंगे तो टिकट बुक नहीं होगा। कम्प्यूटराइज्ड सिस्टम के तहत इन जानकारियों के बाद ही आरक्षित टिकट बनकर मशीन से निकलेगा।



ट्रैवल हिस्ट्री को लेकर कवायद

दरअसल ये सभी जानकारियां इसलिए ली जा रही हैं ताकि ट्रेन में सफर कर चुके किसी यात्री या उसका सहयात्री अगर कोरोना पॉजिटिव पाया जाता है, तो उसके डेस्टिनेशन के एड्रैस पर उससे सम्पर्क किया जा सके। इसके लिए रिज़र्वेशन फॉर्म पर यात्री के डेस्टिनेशन का पता सहित अन्य जानकारियां देना जरूरी कर दिया गया है।

सिर्फ़ अपना पता लिखने से नहीं चलेगा काम

पहले रेलवे रिज़र्वेशन के लिए यात्रियों को रिज़र्वेशन फॉर्म पर सिर्फ अपना आवासीय पता भरना पड़ता था। वह आवासीय पता भी जानकारी के लिए रिकॉर्ड में रखा जाता था। लेकिन अब यात्रियों को पता के साथ-साथ पोस्ट ऑफिस का पिन कोड देना भी जरूरी कर दिया गया है।