हिन्दू महासभा दाखिल कर रही है पुनर्विचार याचिका

हिन्दू महासभा दाखिल कर रही है पुनर्विचार याचिका

अयोध्या केस में हिंदू पक्ष की तरफ से आज पहली पुनर्विचार याचिका दाखिल हो रही है. इस याचिका को हिंदू महासभा दाखिल कर रही है. हिंदू महासभा के वकील विष्णु शंकर जैन के मुताबिक मुस्लिम पक्षकारों को 5 एकड़ जमीन देने के फैसले पर कोर्ट को पुनर्विचार करना चाहिए.

हिन्दू महासभा का कहना है कि विशेष पीठ ने अपने फैसले में माना है कि विवादित जमीन के अंदरूनी हिस्से और बाहरी हिस्से पर हिंदुओं का दावा मजबूत है. ऐसे में मुस्लिम पक्ष को मस्जिद बनाने के लिए 5 एकड़ ज़मीन नहीं दी जानी चाहिए.

9 नवंबर को सुप्रीम कोर्ट की पांच जजों की बेंच ने अयोध्या में राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवाद मामले में अपना फैसला सुनाया था. सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में अयोध्या की विवादित ढांचे वाली जमीन को रामलला विराजमान को दिया था. वहीं इसके बदले में मस्जिद के लिए मुस्लिमों को अदालत ने पांच एकड़ जमीन देने का आदेश दिया था. बता दें कि मुस्लिम पक्षों ने भी सुप्रीम कोर्ट में इस फैसले को चुनौती दी है. मुस्लिम पक्षकारों की ओर से चार से पांच पुनर्विचार याचिकाएं दायर की गई है.

शुक्रवार को पीस पार्टी ने सुप्रीम कोर्ट में पुनर्विचार याचिका दाखिल की थी. पीस पार्टी ने अपनी याचिका में कहा है कि 1949 तक विवादित स्थल पर मुस्लिमों का अधिकार था. लिहाजा कोर्ट को अपने फैसले पर पुनर्विचार करना चाहिए.