प्याज उत्पादन में उत्तर प्रदेश को आत्मनिर्भर बनाएगी सरकार

प्याज उत्पादन में उत्तर प्रदेश को आत्मनिर्भर बनाएगी सरकार

लखनऊ: देश में यूपी आलू उत्पादन में सबसे अव्वल जगह पर है इसके बाद पश्चिम बंगाल तथा बिहार का नाम आता है परन्तु प्याज उत्पादन को लेकर उत्तर प्रदेश की स्थित बेहतर नहीं है महाराष्ट्र, कर्नाटक, राजस्थान और मध्य प्रदेश से आया प्याज उत्तर प्रदेश की जरुरतों को पूरा कर रहा है खपत के मुताबिक़ उत्तर प्रदेश में प्याज का उत्पादन ना कर पाने के कारण सालों से यह स्थिति है

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अब इसे बदलने का ठान ली है सीएम चाहते हैं कि यूपी अब प्याज उत्पादन के मुद्दे में आत्मनिर्भर बने सीएम की इस मंशा को पूरा करने के लिए उद्यान विभाग ने प्याज की खेती को और बढ़ावा देने की तैयारी की है जिसके अनुसार क्रमबद्ध ढंग से लगातार प्रदेश में प्याज की खेती को बढ़ावा दिया जाएगा

इसकी शुरूआत करते हुए इस खरीफ सीजन में बुंदेलखंड, प्रयागराज, वाराणसी, मिर्जापुर सहित गंगा के किनारे के उन क्षेत्रों में प्याज की खेती को बढ़ावा दिया जाएगा, जहां बरसात का पानी ना भरता हो इस विषय में तैयार की गई योजना के अनुसार प्याज की खेती करने वाले किसानों को बीज आदि मौजूद कराए जायंगे

यूपी में हर वर्ष करीब 15 लाख मीट्रिक टन प्याज की खपत
उद्यान विभाग के निदेशक आरके तोमर के अनुसार, प्रदेश में हर साल करीब 15 लाख मीट्रिक टन प्याज की खपत है जबकि रवि और खरीफ सीजन में यहां प्याज का कुल उत्पादन 4.70 लाख मीट्रिक टन ही हो रहा है अभी सूबे में 28,538  हेक्टेयर भूमि पर प्याज की खेती की जा रही है सूबे के कृषि जानकारों के मुताबिक प्रदेश में प्याज उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए प्याज की खेती के क्षेत्रफल को एक लाख हेक्टेयर तक किए जाने की आवश्यकता है

प्याज उत्पादन के लिए तैयार किया प्लान 
जब एक लाख हेक्टेयर भूमि में प्याज की खेती होने लगेगी तब ही सूबे की आवश्यकता के मुताबिक़ यानि की 15 लाख मीट्रिक टन प्याज का उत्पादन हो पाएगा यह मुश्किल काम है पर इसे किया जा सकता है सूबे के कृषि जानकारों तथा उद्यान विभाग के अफसरों ने इस मुश्किल काम को करने के लिए एक कार्ययोजना तैयार की है   इसके मुताबिक हर जिले में उन इलाकों को चिन्हित किया गया है, जहां बरसात में पानी का भराव नहीं होता  

गंगा किनारे बसे शहरों में दिया जाएगा बढ़ावा
इसके अनुसार गंगा के किनारे बसे वाराणसी, जौनपुर, मिर्जापुर, गाजीपुर, कौशाम्बी, कानपुर, फतेहपुर, फर्रुखाबाद, कन्नौज, इटावा और बुंदेलखंड के जिलों में प्याज की खेती को बढ़ावा दिया जाएगा इसके अनुसार खरीफ की सीजन में गंगा के किनारे वाले इन जिलों में प्याज की खेती के रकबे में दो हजार हेक्टेयर का वृद्धि करने का निर्णय किया गया है अभी गंगा के किनारे के इन जिलों में 4 हजार हेक्टेयर रकबे में करीब 80 हजार मीट्रिक टन प्याज का उत्पादन होता है इसके अतिरिक्त प्याज की खेती करने वाले किसानों को 12 हजार रुपये प्रति हेक्टेयर अनुदान दिया जाएगा

किसानों की आमदनी में होगा वृद्धि
सरकार का मत है कि प्याज की खेती को बढ़ावा देने के लिए किए जा रहे प्रयासों से सूबे में किसानों की आमदनी में वृद्धि होगा और प्रदेश की भी घरेलू आवश्यकता भी पूरी होगी जिसके चलते प्रदेश को दूसरे राज्यों से प्याज मंगवाने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी और प्रदेश में प्याज की कमी के चलते इसके दाम बढ़ेंगे नहीं किसानों को उनके प्याज की उचित मूल्य मिलती रहेगी इसी सोच के अनुसार इस खरीफ के सीजन में किसानों को प्याज की खेती करने के लिए प्रोत्साहित करना प्रारम्भ किया है  

राज्य में प्याज की फसल बेहतर हो इसके लिए एग्रीफाउंड डार्क रेड, भीमा सुपर तथा लाइन 883 बीज किसानों को मौजूद कराए जा रहें हैं इस बीज से बेहतर प्रजाति का प्याज किसानों को मिलेगा और प्रति हेक्टेयर क्षेत्र में अधिक प्याज की पैदावार होगी अमूमन एक हेक्टेयर क्षेत्र में करीब 50 हजार रुपए की लागत से करीब 150 से 200 कुंतल प्याज की पैदावार होती है  

रवी के सीजन में  किया जाएगा लागू
इन बीजों के उपयोग से प्याज की पैदावार में वृद्धि होगा और कसानों की आय भी बढ़ेगी फ़िलहाल प्याज उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए प्रारम्भ किए गए इस इस्तेमाल को अगले रवी सीजन में भी लागू किया जाएगा, ताकि हर वर्ष प्याज उत्पादन को बढ़ावा मिले और अधिक से अधिक किसान प्याज की खेती करने में उत्साह दिखाएं  


महंगाई को लेकर नरेंद्र मोदी सरकार पर भड़की मायावती, बोलीं...

महंगाई को लेकर नरेंद्र मोदी सरकार पर भड़की मायावती, बोलीं...

देश में लगातार बढ़ती महंगाई को लेकर बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती ने केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर बड़ा हमला बोला है। उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने बढ़ती महंगाई को लेकर अपनी नाराजगी जाहिर की है और सरकार से मांग की है कि वह महंगाई कम करने पर ध्यान दे, उन्होंने बढ़ती महंगाई के लिए केंद्र के साथ ही राज्य सरकारों को जिम्मेदार माना। ठहराया

मायावती ने केंद्र की नरेंद्र मोदी के साथ ही भाजपा तथा अन्य दलों के शासित राज्य सरकारों पर निशाना साधा है। उन्होंने बढ़ी महंगाई के लिए केंद्र और राज्य सरकार को दोषी ठहराया और कहा कि जरूरी वस्तुओं की कीमतें आसमान छू रही और इसको लेकर हमारी केंद्र के साथ राज्य सरकारों ने ध्यान नहीं दिया।


मायावती ने पेट्रोल तथा डीजल की लगातार बढ़ती कीमतें को लेकर भी केंद्र सरकार को घेरा है। इसको लेकर मायावती ने ट्वीट किया है। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा कि एक तरफ कोरोना प्रकोप से हर प्रकार की जबर्दस्त मार और दूसरी ओर पेट्रोल व डीजल आदि की लगातार बढ़ती हुई कीमत के कारण जरूरी वस्तुओं की महंगाई भी आसमान छू रही है। अपने ट्वीट में उन्होंने लिखा है कि देश के कई राज्यों में पेट्रोल व डीजल की कीमत लगभग 100 रुपए पहुंच जाने से लोगों में आक्रोश की खबर लगातार मीडिया की सुर्खियों में हैं। जिसनेे लोगों का जीवन दु:खी व त्रस्त कर दिया है, फिर भी केन्द्र व राज्य सरकारें इस ओर ध्यान नहीं दे रही हैं। यह तो बेहद ही दु:खद है। उन्होंने सरकार से मांग की है कि महंगाई कम करने पर ध्यान दें।


बसपा सुप्रीमो मायावती ने कोरोना वायरस से उबरने के लिए मददगार उपकरणों आदि पर जीएसटी कर को कम करने की भी वकालत की है। कोरोना इलाज सम्बंधी उपकरणों आदि पर जीएसटी कर को कम करके न्यायोचित बनाने की तरह ही सरकार महंगाई कम करने पर भी ध्यान दें।


Covid-19: बिहार में ब्लैक फंगस से अब तक 76 की मौत       16 जून से बिहार के लोगों को मिलेगी छूट या बढ़ेगी पाबंदी       बिहार में कोविड-19 से आठ मरीजों की मौत, इतने नए मुद्दे आए सामने       इन इलाकों में होगी भारी बारिश, समय से पहले पहुंचा मानसून       यूपी में आज से रेहड़ी-पटरी दुकानदारों के लिए विशेष टीकाकरण अभियान       महंगाई को लेकर नरेंद्र मोदी सरकार पर भड़की मायावती, बोलीं...       सीएम योगी का निर्देश, कोरोना संक्रमण को लेकर अभी भी रहें गंभीर       हाल कोडरमा अंचल कार्यालय का, आम आदमी का नहीं हो रहा है कोई काम,आरटीआई कार्यकर्ता ने एसीम को लिखा पत्र       युद्ध के लिए हम तैयार हैं, चीन की सेना PLA ने ताइवान को दी धमकी       धरती पर हैं चार नहीं, पांच महासागर? अंटार्कटिका के पास है कुछ सबसे अनोखा       OMG! इस प्रदेश में कुत्तों से अधिक खूंखार बिल्लियां, अभी तक इतने लोग हुए शिकार       पौष्टिक आहार, पढ़ाई और प्यार, बच्चों के लिए अत्यंत अनिवार्य: शालिनी गुप्ता,  बाल श्रम उन्मूलन दिवस पर पारहो में फूड न्यूट्रिशन किट का किया वितरण        Muslim Lawmaker Ilhan Omar ने US और Israel की तुलना तालिबान से कर डाली       दुनिया के सबसे शक्तिशाली राष्ट्राध्यक्षों की मुलाकात की तैयारियां पूरीं       अमेरिका में फेडरल जज बनने वाले पहले मुस्लिम बने जाहिद कुरैशी       70 दिन बाद कोविड-19 के सबसे कम केस, 24 घंटे में आए 84 हजार मामले, 4002 की मौत       कैसे डोनाल्ड ट्रंप को दी गई दवा कोविड-19 के मरीजों में जगा रही है उम्मीद?       PM मोदी से मुलाकात कर बहुत खुश हुए सीएम योगी, ट्वीट कर कही ये बड़ी बात       राजनाथ सिंह ने किया 'खामोश महामारी' का जिक्र, बोले...       अखिलेश यादव ने कहा कि बंदरबांट में उलझी बीजेपी सरकार से जनता को कोई आशा नहीं