उत्तर प्रदेश

इन एक्सप्रेस वे पर बिना बाधा फर्राटा भर सकेंगे इलेक्ट्रिक वाहन

उत्तर प्रदेश के पांच एक्सप्रेसवे के दोनों ओर पीपीपी मॉडल पर इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए 72 फास्ट चार्जिंग स्टेशन बनेंगे इनमें पहले चरण में 26 स्टेशन विकसित होंगे यहां इलेक्ट्रिक बसों की भी चार्जिंग की सुविधा होगी साथ ही इन स्टेशनों पर बैटरी स्वैपिंग की भी सुविधा होगी इसके जरिए गाड़ी चालक अपनी खराब बैटरी के बदले चार्ज्ड बैटरी ले सकेंगे अगले वर्ष जनवरी से चार्जिंग स्टेशन स्थापित करने का काम प्रारम्भ हो जाएगा

इन एक्सप्रेसवे पर बनाने की तैयारी 
आगरा लखनऊ एक्सप्रेसवे वे में यह चार्जिंग स्टेशन आगरा, मैनपुरी, इटावा, कानपुर नगर, उन्नाव और लखनऊ में बनेंगे आगरा और लखनऊ में एक्सप्रेसवे के दोनों ओर चार्जिंग स्टेशन बनाने की तैयारी है इसी तरह बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे के रास्ते बनने वाले चार्जिंग स्टेशन चित्रकूट, बांदा, हमीरपुर, जालौन, इटावा में पड़ेंगे इटावा और जालौन में चार्जिंग स्टेशन दोनों ओर बनेंगे पूर्वांचल एक्सप्रेसवे पर बाराबंकी में बाईं ओर, अमेठी में दाईं ओर, सुल्तानुपर में बाईं और दाईं ओर, आजमगढ़ में भी बाएं और दाहिने, मऊ में बाईं ओर और गाजीपुर में दाहिनी ओर चार्जिंग स्टेशन बनाए जाएंगे गोरखपुर लिंक एक्सप्रेसवे गोरखपुर और अम्बेडकर नगर में एक-एक चार्जिंग स्टेशन बनेगा जबकि गंगा एक्सप्रेसवे निर्माणाधीन है इसके पूरा होने पर यहां भी दूसरे चरण में चार्जिंग स्टेशन बनेंगे
अभी सिर्फ़ आगरा लखनऊ एक्सप्रेसवे और यमुना एक्सप्रेसवे पर कुछ चार्जिंग स्टेशन काम करते हैं लेकिन वहां फास्ट चार्जिंग की सुविधा नहीं है योगी गवर्नमेंट ने राज्य में 2000 चार्जिंग स्टेशन बनाने की योजना बनाई है इससे सबसे पहले यूपीडा ने इस पर काम प्रारम्भ कर दिया है यूपीडा इसके लिए  निजी कंपनियों को इस वर्ष के लिए लीज पर जमीन और सेटअप मौजूद करवाएगी
इनका बोलना है 
यूपीडा अपर मुख्य कार्यपालक अधिकारी श्रीहरि प्रताप शाही ने कहा कि हमारा फोकस इस बात पर रहेगा कि कौन सी कंपनी इलेक्ट्रिक गाड़ी चालकों के लिए चार्जिंग फीस कितनी कम रखती है न्यूनतम दरों पर ही कंपनी का चयन होगा जनसुविधा परिसर में भी यह सुविधा मौजूद करवाई जाएगी इनके बनने से एक्सप्रेसवे पर इलेक्ट्रिक वाहनों की तादाद और बढ़ेगी

Related Articles

Back to top button