अमरनाथ यात्रा के दौरान भक्त फ्री चख सकेंगे बनारसी व्यंजनों का स्वाद

अमरनाथ यात्रा के दौरान भक्त फ्री चख सकेंगे बनारसी व्यंजनों का स्वाद

कोविड-19 महामारी के कारण पूरे दो वर्ष बाद 30 जून से इस बार अमरनाथ यात्रा (Amarnath Yatra) की आरंभ होने जा रही है कड़ी सुरक्षा के बीच श्रद्धालु बाबा के दर्शन को जाएंगे खास बात ये होगी कि अमरनाथ यात्रा के दौरान श्रद्धालु पूरी दुनिया में जायके के लिए प्रसिद्ध बनारसी व्यंजन (Banarasi Taste) का स्वाद भी चख सकेंगे 43 दिन की यात्रा के दौरान श्रद्धालुओं को ये सुविधा मिलेगी इसके लिए भोले की नगरी काशी से 60 लोगों की टीम 25 जून को अमरनाथ के लिए रवाना होगी इसमें बनारसी व्यंजनों को तैयार करने वाले खास कारीगर भी शामिल होंगे, जो पूरे 43 दिन यानी 30 जून से 11 अगस्त तक श्रद्धालुओं को चंदनबाड़ी में रहकर बनारसी व्यजनों का स्वाद चखायेगी वाराणसी के श्री काशी विश्वनाथ सेवा समिति ने इसका पूरा प्लान भी तैयार कर लिया है

इस यात्रा के दौरान भक्तों को बनारासी ठंडाई, पान, पूड़ी कचौड़ी, पावभाजी, इडली के अतिरिक्त विशेष फलाहार का स्वाद चख सकेंगे इसके लिए भक्तों को कोई पैसे भी नहीं देना होगा ये सेवा पूरी तरह से निःशुल्क होगी बताते चले कि संस्था की ओर से सेवादारों का पहला जत्था वहां रवाना होकर तैयारियों में भी जुट गया है

22 वर्षों से कर रहे सेवा
समाजसेवी दिलीप सिंह बंटी ने बताया कि इस शिविर में पूरे 43 दिन भक्तों के लिए निःशुल्क भोजन की प्रबंध की जाती है इसके साथ ही उनके लिए गर्म कपड़े, मास्क आदि की प्रबंध भी की इस बार की गई है हम लोग पिछले 22 वर्षों से ये कैम्प लगा रहे हैं और प्रत्येक दिन इस कैम्प में 2 से 3 हजार श्रद्धालुओं को भोजन कराते हैं इसके साथ ही कैम्प में 300 लोगों के ठहरने की प्रबंध भी की जाती है

दान के पैसे से चलाते है भंडारा
दिलीप सिंह बंटी ने बताया कि अमरनाथ यात्रा के दौरान ही उन्हें इसकी प्रेरणा मिली थी वहां भंडारे के लिए एक शख्स ने उनसे दान मांगा था जिसके बाद उन्होंने ये सोचा कि क्यों न वो भी श्रद्धालुओं के लिए भंडारा चलाएं उसके बाद उन्होंने अपने जानने वालों और परिचितों से इसके लिए वार्ता की और फिर भंडारे का लिए दान लेना प्रारम्भ किया आज भी लोगों के सहायता से ही वो इस भंडारे को चलाते हैं वहीं, आप 09793141999,09415815894,09473630139 नंबरों पर अधिक जानकारी ले सकेंगे