कानपुर में 8 पुलिसवालों की मर्डर कर फरार चल रहे विकास दुबे की गिरफ्तारी के लिए हो रही ताबड़तोड़ छापेमारी

कानपुर में 8 पुलिसवालों की मर्डर कर फरार चल रहे विकास दुबे की गिरफ्तारी के लिए हो रही ताबड़तोड़ छापेमारी

 कानपुर (Kanpur) में 8 पुलिसवालों की मर्डर कर फरार चल रहे विकास दुबे (Vikas Dubey) की गिरफ्तारी के लिए ताबड़तोड़ छापेमारी जारी है। उत्तर प्रदेश सरकार (UP Government) ने इस दौरान विकास दुबे पर इनाम भी बढ़ाकर 5 लाख घोषित कर दिया है। वहीं विकास दुबे के अतिरिक्त उसकी पत्नी रिचा दुबे (Richa Dubey) भी फरार चल रही है, पुलिस उसकी भी तलाश में है।



वहीं विकास दुबे की सियासी लोगों से करीबी इन दिनों चर्चा का विषय बनी हुई है। इस बीच कुछ कागजात वायरल हो रहे हैं। इनके अनुसार कुख्यात विकास दुबे की पत्नी रिचा सपा की सक्रिय मेम्बर थी। उसने 2015 में 20 हज़ार रुपये  समाजवादी बुलेटिन की आजीवन सदस्यता शुल्क दिया था।

2015 में सपा के समर्थन से लड़ा जिला पंचायत मेम्बर का चुनाव 2015 में सपा के समर्थन से ही उसने जिला पंचायत मेम्बर का चुनाव लड़ा था। अधिकृत प्रत्याशिता के लिए रिचा दुबे ने फॉर्म भरा था। फॉर्म में सपा की सक्रिय सदस्यता का नंबर भी भरा। इसमें उसने पार्टी के सभी कार्यक्रमों में शामिल होने का ज़िक्र किया वहीं पार्टी की नीतियों के प्रचार-प्रसार करने का भी ज़िक्र किया है।

विकास दुबे को लेकर उत्तर प्रदेश में सियासी घमासान

बता दें विकास दुबे को लेकर उत्तर प्रदेश की सियासत में घमासान प्रारम्भ हो गया है। प्रदेश में विपक्षी दल समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) व कांग्रेस पार्टी (Congress) ने इस मसले पर योगी सरकार (Yogi Government) पर जमकर हमलावर हैं। सत्ता व अपराधियों के बीच गठजोड़ के आरोप लगाए जा रहे हैं। वहीं योगी सरकार की तरफ से कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह (Sidhartha Nath Singh) ने मोर्चा संभाला है व विपक्ष पर पलटवार किया है।

अपने गिरेबान में झांककर देखें दल

प्रयागराज में उत्तर प्रदेश सरकार के प्रवक्ता व कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने बोला कि आरोप लगा रहे दल पहले अपने गिरेबान में झांककर देखें। उन्हें यह बताना चाहिए कि आपका व आपकी पार्टी का उससे (विकास दुबे) क्या लेना देना था? किस वजह से विकास दुबे की पत्नी को चुनाव में टिकट दिया था?

हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे जल्द पकड़ा जायेगा

सिद्धार्थनाथ सिंह ने बोला कि योगी सरकार क्राइम को लेकर जीरो टालरेंस की सरकार है। हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे जल्द पकड़ा जायेगा। पुलिस की टीमें दूसरे राज्यों की पुलिस व इंटेलीजेंस एजेंसियों के लगातार संपर्क में हैं। प्रदेश सरकार का रवैया अपराधियों को लेकर हमेशा कठोर रहा है। आगे भी अपराधियों के विरूद्ध कार्रवाई जारी रहेगी।