11 और जिलों में सोमवार से प्रारम्भ होगा 18+ के लिए वैक्सीनेशन, सीएम योगी का फैसला

11 और जिलों में सोमवार से प्रारम्भ होगा 18+ के लिए वैक्सीनेशन, सीएम योगी का फैसला

सीएम योगी ने आनें वाले सोमवार से 11 और जिलों में 18 से 44 वर्ष तक के लोगों के लिए कोविड-19 वैक्सीनेशन अभियान प्रारम्भ करने का आदेश दिया है. अभी यह अभियान प्रदेश के केवल सात जिलों में चल रहा है. मुख्यमंत्री योगी ने बोला है कि जिन  जिलों में वैक्सीनेशन प्रारम्भ होने वाला है वहां सम्बंधित प्रभारी मंत्री/स्थानीय जनप्रतिनिधि किसी न किसी टीकाकरण केन्द्र पर मौजूद रहें. लोगों का उत्साहवर्धन के लिए जनप्रतिनिधियों की उपस्थिति सहायक होगी. चिकित्सा एजुकेशन मंत्री के स्तर से वैक्सीन निर्माता कंपनियों से सतत सम्पर्क बनाये रखा जाए. 

लखनऊ में टीम 9 के साथ मीटिंग में सीएम ने बोला कि 24 घंटे में 2,41,403 कोविड टेस्ट किए गए हैं. इसी अवधि में 28,076 नए पॉजिटिव केस की पुष्टि हुई है, जबकि 33,117 लोग स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हुए हैं. वर्तमान में 2,54,118 कुल सक्रिय केस हैं. इनमें 1,98,857 लोग होम आइसोलेशन में उपचाराधीन हैं. मुख्यमंत्री ने बोला कि वैक्सीनेशन की प्रक्रिया प्रदेश में तेजी से चल रही है. अब तक 01 करोड़ 34 लाख 30 हजार से अधिक डोज लगाए जा चुके हैं. अधिक संक्रमण दर वाले सात जिलों में 18-44 आयु वर्ग के 85,566 लोगों को वैक्सीनेट किया जा चुका है. यह अच्छा है कि इस आयु वर्ग में वैक्सीन वेस्टेज घटकर 0.11 परसेंट रह गया है. इसे शून्य तक लाने की जरूरत है. - प्रदेश सरकार सभी नागरिकों को टीकाकरण का सुरक्षा कवर निशुल्क मौजूद करा रही है. स्वास्थ्य जानकारों के परामर्श के मुताबिक कोविड-19 संक्रमित अथवा लक्षण वाले लोग अभी टीकाकरण न कराएं. इसी प्रकार स्वास्थ्य जानकारों का यह भी मानना है कि कोविड संक्रमित आदमी को स्वस्थ होने के न्यूनतम एक माह बाद ही वैक्सीनेशन कराना चाहिए. स्वास्थ्य संबंधी इन जरूरी जानकारियों से लोगों को जागरूक किया जाए.

मुख्यमंत्री  ने बोला कि यह सुनिश्चित किया जाए कि टीकाकरण केंद्रों पर कोविड प्रोटोकॉल का कठोरता से अनुपालन हो. ऑन-द-स्पॉट  पंजीयन से अव्यवस्था हो सकती है. अनावश्यक भीड़ न हो, इसके लिए औनलाइन  पंजीयन व्यवस्था को ही लागू रखना उचित होगा. जिनकी बारी है उनसे यथासंभव एक-दो दिन पूर्व फोन से सम्पर्क कर लिया जाना उचित होगा. संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए गांव-गांव टेस्टिंग का महा अभियान चल रहा है. लोग इसमें योगदान कर रहे हैं. नज़र समितियां घर-घर जाएं, स्क्रीनिंग करें, होम आइसोलेशन के मरीजों को मेडिकल किट मौजूद कराएं. लक्षणयुक्त लोगों के बारे में आरआरटी को सूचना देकर उनका एंटीजन टेस्ट कराया जाए. डीएम और सीएमओ यह सुनिश्चित करें कि टेस्ट की यह प्रक्रिया गांव में ही हो. सीएचसी/पीएचसी पर जाने की कोई अवश्यकता नहीं है. आरआरटी की संख्या में तीन से चार गुना बढ़ोतरी के लिए विशेष कोशिश किए जाएं. कांटेक्ट ट्रेसिंग और बेहतर करने की आवश्यकता है.

सीएम ने होम आइसोलेशन में उपचाराधीन लोगों को समय से मेडिकल किट जरूर दी जाए.मुख्य सचिव ऑफिस और सीएम ऑफिस से इसकी समीक्षा की जाए. नज़र समितियां जिन लोगों को मेडिकल किट दें उनका विवरण आईसीसीसी को मौजूद कराएं. आईसीसीसी इसका सत्यापन करे. इसके बाद मुख्यमंत्री हेल्पलाइन से इसका पुनरसत्यापन किया जाए. होम आइसोलेशन में उपचाराधीन मरीजों से प्रत्येक दिन संवाद किया जाए.टेलीकन्सल्टेशन के माध्यम से डॉक्टर उन्हें स्वास्थ्य संबंधी परामर्श दें तो जनपदीय आईसीसीसी से भी बात की जाए. चिकित्सा एजुकेशन मंत्री, स्वास्थ्य मंत्री, सीएम ऑफिस  से भी अधिकाधिक मरीजों से फोन कर उनका हाल-चाल लिया जाए. उन्हें मेडिकल किट, टेलीकन्सल्टेशन आदि सुविधाओं की उपलब्धता की सत्यता की परख करें.


महंगाई को लेकर नरेंद्र मोदी सरकार पर भड़की मायावती, बोलीं...

महंगाई को लेकर नरेंद्र मोदी सरकार पर भड़की मायावती, बोलीं...

देश में लगातार बढ़ती महंगाई को लेकर बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती ने केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर बड़ा हमला बोला है। उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने बढ़ती महंगाई को लेकर अपनी नाराजगी जाहिर की है और सरकार से मांग की है कि वह महंगाई कम करने पर ध्यान दे, उन्होंने बढ़ती महंगाई के लिए केंद्र के साथ ही राज्य सरकारों को जिम्मेदार माना। ठहराया

मायावती ने केंद्र की नरेंद्र मोदी के साथ ही भाजपा तथा अन्य दलों के शासित राज्य सरकारों पर निशाना साधा है। उन्होंने बढ़ी महंगाई के लिए केंद्र और राज्य सरकार को दोषी ठहराया और कहा कि जरूरी वस्तुओं की कीमतें आसमान छू रही और इसको लेकर हमारी केंद्र के साथ राज्य सरकारों ने ध्यान नहीं दिया।


मायावती ने पेट्रोल तथा डीजल की लगातार बढ़ती कीमतें को लेकर भी केंद्र सरकार को घेरा है। इसको लेकर मायावती ने ट्वीट किया है। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा कि एक तरफ कोरोना प्रकोप से हर प्रकार की जबर्दस्त मार और दूसरी ओर पेट्रोल व डीजल आदि की लगातार बढ़ती हुई कीमत के कारण जरूरी वस्तुओं की महंगाई भी आसमान छू रही है। अपने ट्वीट में उन्होंने लिखा है कि देश के कई राज्यों में पेट्रोल व डीजल की कीमत लगभग 100 रुपए पहुंच जाने से लोगों में आक्रोश की खबर लगातार मीडिया की सुर्खियों में हैं। जिसनेे लोगों का जीवन दु:खी व त्रस्त कर दिया है, फिर भी केन्द्र व राज्य सरकारें इस ओर ध्यान नहीं दे रही हैं। यह तो बेहद ही दु:खद है। उन्होंने सरकार से मांग की है कि महंगाई कम करने पर ध्यान दें।


बसपा सुप्रीमो मायावती ने कोरोना वायरस से उबरने के लिए मददगार उपकरणों आदि पर जीएसटी कर को कम करने की भी वकालत की है। कोरोना इलाज सम्बंधी उपकरणों आदि पर जीएसटी कर को कम करके न्यायोचित बनाने की तरह ही सरकार महंगाई कम करने पर भी ध्यान दें।


Covid-19: बिहार में ब्लैक फंगस से अब तक 76 की मौत       16 जून से बिहार के लोगों को मिलेगी छूट या बढ़ेगी पाबंदी       बिहार में कोविड-19 से आठ मरीजों की मौत, इतने नए मुद्दे आए सामने       इन इलाकों में होगी भारी बारिश, समय से पहले पहुंचा मानसून       यूपी में आज से रेहड़ी-पटरी दुकानदारों के लिए विशेष टीकाकरण अभियान       महंगाई को लेकर नरेंद्र मोदी सरकार पर भड़की मायावती, बोलीं...       सीएम योगी का निर्देश, कोरोना संक्रमण को लेकर अभी भी रहें गंभीर       हाल कोडरमा अंचल कार्यालय का, आम आदमी का नहीं हो रहा है कोई काम,आरटीआई कार्यकर्ता ने एसीम को लिखा पत्र       युद्ध के लिए हम तैयार हैं, चीन की सेना PLA ने ताइवान को दी धमकी       धरती पर हैं चार नहीं, पांच महासागर? अंटार्कटिका के पास है कुछ सबसे अनोखा       OMG! इस प्रदेश में कुत्तों से अधिक खूंखार बिल्लियां, अभी तक इतने लोग हुए शिकार       पौष्टिक आहार, पढ़ाई और प्यार, बच्चों के लिए अत्यंत अनिवार्य: शालिनी गुप्ता,  बाल श्रम उन्मूलन दिवस पर पारहो में फूड न्यूट्रिशन किट का किया वितरण        Muslim Lawmaker Ilhan Omar ने US और Israel की तुलना तालिबान से कर डाली       दुनिया के सबसे शक्तिशाली राष्ट्राध्यक्षों की मुलाकात की तैयारियां पूरीं       अमेरिका में फेडरल जज बनने वाले पहले मुस्लिम बने जाहिद कुरैशी       70 दिन बाद कोविड-19 के सबसे कम केस, 24 घंटे में आए 84 हजार मामले, 4002 की मौत       कैसे डोनाल्ड ट्रंप को दी गई दवा कोविड-19 के मरीजों में जगा रही है उम्मीद?       PM मोदी से मुलाकात कर बहुत खुश हुए सीएम योगी, ट्वीट कर कही ये बड़ी बात       राजनाथ सिंह ने किया 'खामोश महामारी' का जिक्र, बोले...       अखिलेश यादव ने कहा कि बंदरबांट में उलझी बीजेपी सरकार से जनता को कोई आशा नहीं