प्रियंका : यूपी में पीड़ित स्त्रियों की नहीं अपराधियों की सुरक्षा होती है

  प्रियंका : यूपी में पीड़ित स्त्रियों की नहीं अपराधियों की सुरक्षा होती है

कांग्रेस (Congress) महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi Vadra) ने स्त्रियों के प्रति हो रहे अपराधों पर गहरी चिंता जाहिर करते हुए योगी सरकार पर जमकर निशाना साधा।  उत्तर प्रदेश के अपने दो दिवसीय दौरे पर शुक्रवार को लखनऊ पहुंचीं प्रियंका ने पार्टी नेताओं व कार्यकर्ताओं के साथ बैठकों के लम्बे दौर के बाद रात में संवाददाताओं से बोला कि यूपी स्त्रियों के प्रति अपराधों के मुद्दे में देश में नम्बर एक पर पहुंच गया है। उन्होंने बोला कि यूपी में पीड़ित स्त्रियों को नहीं अपराधियों की सुरक्षा होती है।



हालांकि प्रियंका गांधी इस दौरान हैदराबाद की घटना की जानकारी न होने का हवाला देकर इस मुद्दे पर सीधे तौर पर टिप्पणी करने से बचती नजर आई। प्रियंका गांधी नें बोला कि मैने स्पष्ट बोला है कि कानून व्यवस्था को कायम रखना सरकार का कर्तव्य है। मुझे डिटेल्स नहीं मालूम कि वहां क्या हुआ क्या नहीं? इसलिये उस पर टिप्पणी करना गलत होगा।

सरकार पर लगाए ये आरोप
प्रियंका ने बोला कि 'कांग्रेस पूरी तरह . मैं तो कहती हूं कि समाज में स्त्रियों को सत्ता मिलनी चाहिए। मैं अपनी बहनों से कहती हूं कि पुरुषों से सत्ता छीनिए। पंचायत, विधानसभा व लोकसभा के चुनाव लड़िए। आपके हाथों में सत्ता आए, ताकि इस तरह के हादसे हों तो आप अपना भी बचाव कर पाएं। ' बीजेपी विधायक कुलदीप सेंगर से जुड़े दुष्कर्म मुद्दे में सरकार ने अपराधियों की तब तक सुरक्षा की, जब तक उस पीड़िता का परिवार समाप्त नहीं हो गया। उसके बाद सम्भल, मैनपुरी व फिर उन्नाव में गुरुवार को नया मुद्दा हुआ है।

'भारत बचाओ महारैली' को पास बनाने की रणनीति पर की गई चर्चा
इसके पूर्व, प्रियंका ने पार्टी की विभिन्न समितियों, प्रदेश कांग्रेस पार्टी पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं से मुलाकात की। प्रियंका ने सबसे पहले रणनीति व योजना समिति के साथ मीटिंग की। इसमें तय किया गया कि पार्टी स्त्रियों के प्रति अपराध, किसानों की समस्याएं, बेरोजगारी व कानून-व्यवस्था के विरूद्ध आंदोलन करेगी। कांग्रेस पार्टी प्रवक्ता राजीव त्यागी ने बताया कि इन बैठकों में आगामी 14 दिसम्बर को दिल्ली के रामलीला मैदान में होने वाली 'भारत बचाओ महारैली' को पास बनाने की रणनीति पर भी चर्चा की गई।