उत्तर प्रदेश फिर धीरे-थीरे रफ्तार पकड़ रहा कोरोना

उत्तर प्रदेश फिर धीरे-थीरे रफ्तार पकड़ रहा कोरोना

उत्तर प्रदेश में कोविड-19 संक्रमितों की संख्या में धीमी गति से मगर लगातार वृद्धि हो रहा है. पिछले 24 घंटे में प्रदेश में 682 नये कोविड-19 के मुद्दे सामने आये है जिन्हें मिलाकर कोविड-19 संक्रमितों की संख्या 3,257 हो चुकी है.  आधिकारिक सूत्रों ने बुधवार को बताया कि बीते 24 घंटों में 91 हजार से अधिक टेस्ट किए गए जिसमें 682 नए रोगी सामने आये हैं. इस बीच 352 लोगों ने संक्रमण को मात दी है. प्रदेश में अभी कोविड-19 संक्रमितों की संख्या 3257 है जिनमें 3,082 लोग होम आइसोलेशन में हैं.

कोरोना संक्रमण के मामलों में एक बार फिर उछाल होने से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ऑफिसरों को कोविड की बदलती परिस्तिथियों पर सूक्ष्मता से नजर बना रखने के नर्दिेश दिए हैं. उन्‍होंने सभी अस्पतालों में चिकत्सिकीय उपकरणों की क्रियाशीलता, डॉक्टरों, पैरामेडिकल स्‍टॉफ की समुचित उपलब्धता की गहनता से परख करने के निर्देश जारी किए हैं. इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने आवश्यक दवाओं के साथ मेडिसिन किट तैयार कराने के आदेश दिए हैं. सार्वजनिक स्थानों पर फेस मास्क लगाए जाने को जरूरी करते हुए पब्लिक एड्रेस सस्टिम के जरिए लोगों को सतर्क भी किया जाएगा.
 
उन्होने बताया कि प्रदेश में अब तक 33 करोड़ 75 लाख से अधिक टीके की डोज देने के साथ ही टीकाकरण अभियान में दूसरे प्रदेशों की तुलना में पहले पायदान पर अपना स्‍थान बनाए हुए है. यही कारण है कि महाराष्ट्र समेत अन्य प्रदेशों को पछाड़ते हुए राष्ट्र में उत्तर प्रदेश टीकाकरण अभियान का सफलतापूर्वक नेतृत्व कर रहा है.
 यूपी में बुधवार को 33,75,72,051 टीके की डोज दी जा चुकी है. जिसमें 17,53,24,563 को पहली डोज और 15,87,91,071 को दूसरी डोज दी जा चुकी है. अब तक उत्तर प्रदेश में 34,56,417 को प्रीकॉशन डोज दी जा चुकी है. ‘फोर टी’ रणनीति के अनुसार उत्तर प्रदेश ने कम समय में न सर्फि संक्रमण पर काबू पाया बल्कि कोविड-19 के नए वेरिएंट के प्रसार को भी रोकने में सक्षम रहा.


UP के होमगार्ड्स के लिए बड़ी खुशखबर

UP के होमगार्ड्स के लिए बड़ी खुशखबर

 यूपी गवर्नमेंट के होमगार्ड जवानों के लिए अच्छी समाचार है जेल मंत्री धर्मवीर प्रजापति ने 33 हजार होमगार्डों के भलाई में बड़ा निर्णय लिया है उन्होंने होमगार्डों की ड्यूटी भत्ते के लिए गृह विभाग पर निर्भरता खत्म कर दी है होमगार्डों का वेतन अब मूल विभाग से जारी होगा बता दें कि 25 हजार होमगार्ड गृह विभाग में और 8000 होमगार्ड डायल 112 पर अपनी सेवाएं दे रहे हैं

इसके अतिरिक्त उत्तर प्रदेश में जीवन भर जेल के कैदियों को भी राहत मिली है मंत्री ने बोला कि अब 60 साल की उम्र सीमा पूरी करना जरूरी नहीं है लोक दिवसों पर जीवन भर जेल के कैदी रिहा होंगे रिहाई के लिए 60 वर्ष उम्र पूरा करने की बंदिश समाप्त कर दी गई है बता दें कि केंद्रीय जांच एजेंसियों की न्यायालय से सजा पाए कैदी इस दायरे में नहीं आएंगे 

ड्यूटी भत्ते के लिए गृह विभाग पर निर्भरता समाप्त 
योगी गवर्नमेंट होमगार्ड होमगार्ड्स को लगातार सुविधाएं देने के कोशिश में जुटी है दूसरे कार्यकाल में गवर्नमेंट ने इस काम की आरंभ और भी तेजी से कर दी है होमगार्ड्स के जवानों को भी सुविधाएं मिलें और वे प्रदेश की शांति प्रबंध बनाने में अपना जरूरी सहयोग दे सकें इसके लिए राज्य गवर्नमेंट लगातार प्रयास कर रही है इसी क्रम में यूपी के 25000 होमगार्ड्स जो कि गृह विभाग में अपनी सेवाएं दे रहे हैं और 8000 होमगार्ड्स जो डायल 112 पर तैनात हैं, उन्हें बड़ी राहत मिली है वहीं, अब इनके ड्यूटी भत्ते के लिए गृह विभाग पर निर्भरता खत्म हो गई है अब उन्हें मूल विभाग वेतन देगा 

आजीवन जेल के कैदियों को मिली राहत
यूपी में जीवन भर जेल के कैदियों को भी मिली राहत 60 साल की उम्र सीमा पूरी करना महत्वपूर्ण नहीं है वर्ष में 10 लोक दिवसों पर कैदी रिहा किए जाएंगे जेल एवं होमगार्ड्स राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार धर्मवीर प्रजापति ने यह आदेश जारी किया है इसके साथ ही उत्तर प्रदेश की नयी कारागार नीति से यूपी में बड़ी संख्या जीवन भर जेल की सजा काट रहे कैदियों को राहत मिलने जा रही है इस नयी कारागार नीति के तहत, अब जीवन भर जेल की सजा काट रहे कैदियों की रिहाई के लिए 60 वर्ष उम्र पूरा करने की बंदिश खत्म कर दी गई है

हालांकि, केन्द्रीय जांच एजेंसियों की अदालतों में जिन कैदियों को सजा मिली है, वह इस दायरे में नहीं आएंगे दरअसल, यूपी की जेलों में कैदियों की संख्या तय नियमों से अधिक है इसलिए वर्तमान जेल मंत्री यूपी गवर्नमेंट लगातार कैदियों की रिहाई और जेल सुधार की दिशा में कदम उठा रहे हैं