नागरिकता संशोधन कानून को लागू करने से मना करने के लिए सीएम कमलनाथ ने की जमकर आलोचना

नागरिकता संशोधन कानून को लागू करने से मना करने के लिए सीएम कमलनाथ ने की जमकर आलोचना

बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने मध्य प्रदेश में नागरिकता संशोधन कानून (CAA) को लागू करने से मना करने के लिए सीएम कमलनाथ की जमकर आलोचना की है। वहीं विजयवर्गीय ने बोला कि उन्हें संविधान पढ़ना चाहिए। वहीं उन्होंने आगे बोला कि सभी प्रदेश नए नागरिकता कानून को लागू करने के लिए बाध्य हैं।

विजयवर्गीय ने बीते बुधवार यानी 25 दिसंबर 2019 को मीडिया से बोला कि उन्हें (कमलनाथ) देश का संविधान पढ़ना चाहिए। जंहा एक बार एक बिल संसद द्वारा पारित हो जाता है व एक कानून बन जाता है तो सभी प्रदेश संविधान के अनुच्छेद 252 के तहत इसे लागू करने के लिए बाध्य हो जाते हैं। वहीं हिंदुस्तान के संविधान का भाग 11 हैं, केन्द्र सरकार व प्रदेश सरकारों के बीच संबंधों को निर्धारित करता है। इसमें अनुच्छेद 245 से अनुच्छेद 263 शामिल है।

भाजपा कुछ भी करेगी उसका ओवैसी विरोध करेंगे: सूत्रों से मिलीं जानकारी के अनुसार विजयवर्गीय ने बोला कि संवैधानिक पद पर बैठे आदमी द्वारा ऐसी असंवैधानिक बातें बोलना बहुत ज्यादा दुर्भाग्यपूर्ण है। जंहा ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी भी नागरिकता कानून का विरोध कर रहे हैं। इसके बारे में पूछे जाने पर, विजयवर्गीय ने बोला कि कुछ भी बीजेपी करेगी उसका वे विरोध करेंगे।