उत्तर प्रदेश

सहारनपुर पुलिस ने फाइनेंसर मोहित राणा से हुई लूट का किया खुलासा

सहारनपुर पुलिस ने 6 जून को फाइनेंसर मोहित राणा से हुई लूट का खुलासा कर दिया है. पुलिस ने चार बदमाशों को अरेस्ट किया है. जबकि दो फरार है. जिनकी पुलिस तलाश कर रही है. दो गैंग के सरगनाओं ने लूट की प्लानिंग तैयार की थी.

6 जून को हुई थी फाइनेंसर से लूट पुलिस लाइन बैठक भवन में एसपी सिटी अभिमन्यु मांगलिक ने बताया, थाना गागलहेड़ी में गांव भायला खुर्द के रहने वाले मोहित राणा ने लूट की तहरीर दी थी. पीड़ित मोहित राणा भायला खुर्द की ब्रांच चैतन्य फाइनेंस कंपनी के मैनेजर है. तहरीर में कहा था कि उनके कलेक्शन एजेंटों से तिवाया रोड पर अज्ञात लोगों ने तमंचे के बल पर लूट की है. लूट में कलेक्शन के 73880 रुपए, एक टैबलेट, एक मोबाइल टेलीफोन और एक बैग गया था.

पुलिस के अनुसार, मुखबिर की सूचना पर थाना गागलहेड़ी पुलिस ने सहारनपुर के रहने वाले राकेश, सोनू और नितिन के अतिरिक्त मुजफ्फरनगर के रवि शर्मा को अरेस्ट किया है. पुलिस ने लुटेरों से 38 हजार रुपए, एक बाइक और एक स्कूटी, एक टैबलेट, दो तमंचे बरामद किए है. मुद्दे में दो आरोपी दीपक और सूडा फरार है.

जेल में मिले थे दोनों गैंग मुखिया पूछताछ में दोनों गैंग को लूट के लिए लीड करने वाले आरोपी राकेश ने कहा कि उसने 2018 में एक लूट थाना बेहट क्षेत्र में की थी. पुलिस ने उसे अरेस्ट कर कारावास भेज दिया था. कुछ दिन पहले ही वो कारावास से छूटकर आया है. आरोपी ने कहा कि कारावास में उसकी मुलाकात दीपक से हुई थी. दोनों की गहरी दोस्ती हो गई थी. दोनों ने कारावास से बाहर आकर एक लूट योजना बनाई. दोनों गैंग को राकेश लीड कर रहा था.

बहन के घर किश्त लेने आए थे फाइनेंस कर्मचारी पूछताछ में आरोपी राकेश ने कहा कि लूट की योजना में सोनू, नितिन, रवि शर्मा और सूडा भी शामिल हुए. राकेश 6 जून को अपनी बहन सरगथल में था. वहां पर फाइनेंस कर्मचारी किश्त लेने के लिए आए थे. उसने लूट की योजना बना ली. फाइनेंस कर्मचारियों के बारे में आरोपी राकेश ने दीपक को बताया. पूरा प्लान समझाया. आरोपी ने सोनू, नितिन और रवि को अपने पास बुला लिया.

आरोपी नितिन करता रहा रेकी उन्होंन प्लान के बारे में समझाया. दोनों गैंग को लीड करने वाले राकेश ने अपने साथियों को कहा कि फाइनेंस कर्मचारियों ने रिकवरी का बहुत सारा पैसा इकट्‌ठा कर रखा है. दो से तीन घंटे में वो ब्रांच छुटमलपुर के लिए जाएंगे. उसने फाइनेंस कर्मियों के हुलिये के बारे में बताया. फाइनेंस कर्मचारियों की रेकी के लिए नितिन को लगाया गया. जो राकेश को पल-पल की रिपोर्ट दे रहा था. जैसे फाइनेंस कर्मचारी तिवाया रोड पर जूस फैक्ट्री के पास पहुंचे. तभी रैकेट ने उन्हें घेर लिया. तमंचा दिखाकर उनसे बैग छिन लिया. लूट के पैसों का बराबर बाट लिया.

Related Articles

Back to top button