वैक्सीनेशन शुरू: यूपी समेत इन राज्यों में टीकाकरण तेज़

वैक्सीनेशन शुरू: यूपी समेत इन राज्यों में टीकाकरण तेज़

लखनऊ: लगभग एक साल से कोरोना वायरस से कहर से जूझ रहे भारत के लिए आज का दिन बेहद आज खास है। आज से भारत में कोरोना की वैक्सीन दी जा रही है। भारत में दुनिया की सबसे बड़ी वैक्सीनेशन ड्राइव की शुरुआत हुई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कोरोना वैक्सीनेशन ड्राइव का शुभारम्भ किया। एक साथ पूरे देश में टीकाकरण अभियान की शुरुआत हुई, जिसके लिए सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में इसके लिए कुल 3006 टीकाकरण केंद्र बनाए गए हैं।

फ़िरोज़ाबाद में कोरोना वैक्सीन का टीकाकरण शुरू
फ़िरोज़ाबाद: जनपद में कोरोना वैक्सीन का टीकाकरण प्रतिक्रिया कड़ी सुरक्षा और सतर्कता के बीच शुरू हो गई है। टीकाकरण के लिये पहले कोरोना वॉरियर को चुना गया है। जिसमें फ़िरोज़ाबाद जिला अस्पताल में डॉ नवीन जैन को लगया गया है।

आज 16 जनवरी को कोरोना जंग की मुहिम को लेकर कोरोना बेक्सिन का टीकाकरण सरकार के आदेश पर शुरू किया गया है, आज पूरे देश मे कोरोना बेक्सिन का टीकारण एक साथ किया गया, जिसमे फ़िरोज़ाबाद जिले में 5 स्थानों पर टीकाकरण किया गया, जिसमे फ़िरोज़ाबाद जिला अस्पताल में डॉक्टर नवीन जैन को कोरोना टिका करन किया गया, इस दौरान मेडिकल कॉलेज प्रधानाचार्या ने बताया पूरी सुरक्षा और सतर्कता के साथ टीकारण कार्य किया जा रहा है।

SGPGI के निदेशक प्रो. के. धीमान ने लगवाया वैक्सीन का टीका
कोरोना वैक्सीनेसन के अंतर्गत लखनऊ स्थित एसजीपीजीआई में एक एक कर कोरोना वैक्सीन लगवा रहे हैं। एसजीपीजीआई के निदेशक प्रो. के. धीमान ने भी कोविशिल्ड वैक्सीन लगवाया।

दिल्ली में होंगे 1000 सेंटर- सीएम अरविंद केजरीवाल
वैक्सीनेशन कार्यक्रम का जायजा लेने दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल दिल्ली के LNJP अस्पताल पहुंचे। केजरीवाल ने कहा कि आज से देशभर में वैक्सीनेशन ड्राइव शुरू हो रही है।

दिल्ली में 81 जगहों पर वैक्सीनेशन साइट हैं।  वैक्सीनेशन ड्राइव बहुत अच्छे से चल रहा है। सीएम ने कहा कि अबतक जिन्हें टीका लगा उनसे मेरी बात हुई है, किसी को कोई परेशानी नही है।

सीएम ने कहा कि दिल्ली में रोजाना 8100 लोगों को टीका लगेगा। एक्सपर्ट का कहना है कि किसी भी तरफ की अफवाह में ध्यान न दें, वैक्सीन सेफ हैं। अंत मे कोरोना से छुटकारा मिलेगा।

लेकिन वैक्सीन लेने के बाद भी मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें। सीएम ने कहा कि आने वाले समय में दिल्ली में 1000 सेंटर तक बनाये जाएंगे।

मैंने भी ली है वैक्सीन- अदार पूनावाला
देश में कोरोना वैक्सीनेशन शुरू होने पर सीरम इंस्टीट्यूट के अदार पूनावाला ने कहा है कि वे भारत और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को इस कार्यक्रम के लिए शुभकामनाएं देते हैं। उन्होंने कहा कि भारत ने दुनिया का सबसे बड़ा कोरोना टीकाकरण अभियान शुरू किया है। उन्होंने कहा कि ये मेरे लिए गर्व का विषय है कि कोविशील्ड इस टीकाकरण अभियान का हिस्सा है। मैंने अपने कर्मचारियों के साथ खुद भी वैक्सीन लिया है।


दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और स्वास्थ्य मंत्री सतेंद्र जैन थोड़ी देर पहले दिल्ली के एलएनजेपी अस्पताल पहुंचे हैं और कोरोना वैक्सीनेशन कार्यक्रम का जायजा लिया है। सीएम केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में वैक्सीनेशन कार्यक्रम को लेकर लोग बहुत खुश हैं और दिल्ली में सरकार वैक्सीनेशन केंद्र को और भी बढ़ाएगी।

डॉ. महेश शर्मा कोरोना वैक्सीन लेने वाले पहले सांसद
बीजेपी सांसद डॉ महेश शर्मा कोरोना वैक्सीन लेने वाले पहले सांसद बने हैं। डॉक्टर शर्मा ने कहा कि उन्हें कोविशील्ड वैक्सीन लगाया गया है। उन्होंने कहा कि कोरोना काल के दौरान उन्होंने कोरोना फ्रंटलाइन वर्कर के रूप में काम किया है। डॉ शर्मा ने कहा है कि इस वैक्सीन को लेने में किसी को किसी तरह के डर का अनुभव नहीं करना चाहिए।

कोरोना के खिलाफ जंग निर्णायक दौर में- डॉ हर्षवर्धन
कोरोना वैक्सीनेशन शुरू होने के बाद स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने कहा कि कोरोना वैक्सीन इस बीमारी के खिलाफ संजीवनी का काम करेगा। डॉ हर्षवर्धन ने कहा कि कोरोना के खिलाफ लड़ाई निर्णायक दौर में पहुंच चुकी है। डॉ हर्षवर्धन ने कहा कि हम पिछले एक साल से पीएम नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में लड़ रहे थे। ये वैक्सीन संजीवनी के तौर पर काम करेगा।

AIIMS के सैनिटेशन डिपार्टमेंट के कर्मचारी को लगा देश का पहला कोरोना टीका
बता दें कि एम्स में सबसे पहला टीका सैनिटेशन डिपार्टमेंट के एक कर्मचारी मनीष कुमार को लगाया गया। इसके साथ ही मनीष कुमार कोरोना का वैक्सीन लेने वाले देश के पहले नागरिक बन गए हैं।  इसके बाद एम्स के सीनियर डॉक्टर टीका ले रहे हैं।

एम्स डॉयरेक्टर डॉ रणदीप गुलेरिया ने लगवाया टीका
पहले चरण के टीकाकरण में मेडिकल स्टाफ को वैक्सीन दी जायेगी। ऐसे में एम्स के डॉयरेक्टर डॉ रणदीप गुलेरिया ने एलान किया है कि वे खुद कोरोना की वैक्सीन लेंगे। इस मौके पर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन एम्स पहुंच गए हैं।

वहीं बिहार में राम बाबू नाम के स्वास्थ्य कर्मी को पहला टीका लग रहा है, राम बाबू स्वास्थ्य विभाग के सफाईकर्मी हैं। उन्हें पटना के IGMS में टीका दिया जाएगा। राम बाबू ने कहा कि वे सौभाग्यशाली महसूस कर रहे हैं।

पीएम मोदी ने की वैक्सीनेशन ड्राइव की शुरुआत
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आज वो वैज्ञानिक, वैक्सीन रिसर्च से जुड़े अनेकों लोग विशेष प्रशंसा के हकदार हैं, जो बीते कई महीनों से कोरोना के खिलाफ वैक्सीन बनाने में जुटे थे। आमतौर पर एक वैक्सीन बनाने में बरसों लग जाते हैं। लेकिन इतने कम समय में एक नहीं, दो मेड इन इंडिया वैक्सीन तैयार हुई हैं।

मैं ये बात फिर याद दिलाना चाहता हूं कि कोरोना वैक्सीन की 2 डोज लगनी बहुत जरूरी है। पहली और दूसरी डोज के बीच, लगभग एक महीने का अंतराल भी रखा जाएगा।दूसरी डोज़ लगने के 2 हफ्ते बाद ही आपके शरीर में कोरोना के विरुद्ध ज़रूरी शक्ति विकसित हो पाएगी।

भारत में सबसे पहले वैक्सीन लगेगी डॉ. महेश शर्मा को
वैसे तो देश में एक साथ वैक्सीनेशन की शुरुआत होगी और केंद्र के निर्देशानुसार सबको वैक्सीन दी जाएगी। लेकिन जनप्रतिनिधियों में सबसे पहला डोज उत्तर प्रदेश के गौतम बुद्ध नगर के सांसद और पूर्व मंत्री डॉ. महेश शर्मा को दिया जायेगा। इस अभियान के तहत महेश शर्मा आज कोविड का टीका लगवाएंगे। हालांकि डॉ शर्मा एक डॉक्टर यानी कोरोना वॉरियर के तौर पर टीका लगवाएंगे।

दरअसल, ऐसा इसलिए भी होगी क्योंकि एडवाइजरी के मुताबिक, पहले चरण में सिर्फ अग्रिम पंक्ति के कोरोना वॉरियर्स को ही टीका लगाया जा रहा है। नोएडा के कैलाश अस्पताल में बनाए गए टीकाकरण केंद्र में सारे स्टाफ और अन्य लोग उपस्थित होंगे। इस दौरान डॉ महेश शर्मा को भी टीका लगेगा।

टीकाकरण पर केंद्र सरकार के निर्देश:
केंद्र सरकार ने टीकाकरण को लेकर जो निर्देश जारी किये हैं, उनके मुताबिक, वैक्सीन केवल 18 साल और उससे अधिक उम्र के लोगों के लिए है।

दूसरी खुराक उसी वैक्सीन की होनी चाहिए जिसमें पहली डोज ली गई थी। वैक्सीन के इंटरचेंजिंग की इजाजत नहीं होगी।

वैक्सीन की जिम्मेदारी संभाल रहे लोगों को 14 दिन के अंतराल से अलग किया जाना चाहिए।

सुबह 10:30 बजे टीकाकरण अभियान की शुरुआत
देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए देश के सबसे टीकाकरण कार्यक्रम की शुरुआत करेंगे। पीएम मोदी वैक्सीन लगाने वाले हेल्थ वर्कर्स से बातचीत भी करेंगे। 3006 टीकाकरण केंद्रों पर वैक्सीन लगाई जाएगी। वहीं COVID-19 महामारी, वैक्सीन रोलआउट और Co-WIN सॉफ़्टवेयर से संबंधित सवालों के लिए एक 24×7 कॉल सेंटर- 1075 भी स्थापित किया गया है।


इंजीनियरिंग और पॉलिटेक्निक कॉलेजों में इस वर्ष नहीं बढ़ेगी फीस, योगी सरकार का बड़ा फैसला

इंजीनियरिंग और पॉलिटेक्निक कॉलेजों में इस वर्ष नहीं बढ़ेगी फीस, योगी सरकार का बड़ा फैसला

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने छात्र हित में प्रदेश के सभी इंजीनियरिंग और पॉलिटेक्निक कॉलेजों में इस साल फीस में बढ़ोतरी नहीं करने का एक बड़ा फैसला लिया है। प्रदेश के इंजीनियरिंग कॉलेजों और पॉलिटेक्निक संस्थानों में शैक्षिक सत्र 2021-22 में फीस नहीं बढ़ाई जाएगी। इस बड़े फैसले से एकेटीयू से लगभग 750 इंजीनियरिंग कॉलेज और प्राविधिक शिक्षा परिषद उत्तर प्रदेश से संबद्ध निजी क्षेत्र के 1247 डिप्लोमा स्तरीय और 19 अनुदानित संस्थाओ में पढ़ने वाले छात्र छात्रओ को इसका लाभ मिलेगा।

सचिव (प्राविधिक शिक्षा) आलोक कुमार ने बताया कि कोरोना महामारी को देखते हुए इस बार फीस बढ़ोतरी नहीं की जाएगी। जो फीस पिछले शैक्षिक सत्र 2020-21 में निर्धारित की गई थी, वही इस साल भी ली जाएगी। प्राविधिक शिक्षा विभाग के इस फैसले से करीब चार लाख विद्यार्थियों को बड़ी राहत मिल गई है।


उत्तर प्रदेश के 750 इंजीनियरिंग कॉलेजों में अलग-अलग 60 हजार रुपये से लेकर 1.20 लाख रुपये वार्षिक फीस है। वहीं 1,371 पॉलिटेक्निक संस्थानों में 10 हजार रुपये से लेकर 45 हजार रुपये तक सरकारी व निजी पॉलिटेक्निक संस्थानों की फीस निर्धारित है। सभी इंजीनियरिंग व पॉलिटेक्निक संस्थानों को निर्देश दिए गए हैं कि वह पिछले वर्ष तय की गई फीस ही इस सत्र में भी लें। अगर कोई संस्थान इससे अधिक फीस वसूलेगा तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।


प्राविधिक शिक्षा विभाग के सचिव आलोक कुमार ने ट्वीट कर यह जानकारी दी है। प्रदेश में 1247 पॉलिटेक्निक कॉलेज व 750 इंजीनियरिंग कॉलेज हैं और 17 अनुदानित संस्थाओं के विद्यार्थियों को इसका लाभ मिलेगा। पिछले वर्ष भी कोरोना संक्रमण के कारण फीस वृद्धि पर रोक लगाई थी। इसे चालू शैक्षिक सत्र में भी जारी रखा जाएगा। इस सत्र में फीस 2020-21 के सत्र की ही मान्य होगी।


अमेरिका व ईयू के बीच सालों पुराना व्यापारिक विवाद खत्म, पुतिन से मुलाकात से पहले बाइडन का पक्ष मजबूत!       मध्य नेपाल में बाढ़ के कहर से एक की मौत, कई लोगों के लापता होने की आशंका       चीन के 28 लड़ाकू विमानों ने फिर ताइवान के एयरस्पेस में भरी उड़ान       ऑस्ट्रेलिया के मेलबर्न में कोरोना वायरस के प्रकोप के बावजूद लोगों को शहर छोड़ने की मिली अनुमति       जरायल ने गाजा पर किए हवाई हमले, सेना ने पुष्टि कर कहा...       कैलिफोर्निया में वैक्सीन जैकपॉट, जानें दस विजेताओं को मिलेगी कितनी धनराशि       नासा के रोवर परसिवरेंस ने मार्स पर देखी धरती पर मौजूद वॉल्‍केनिक रॉक जैसी चट्टान       दस वर्ष बाद पहली बार आज मिलेंगे बाइडन और पुतिन, तनातनी के बीच जानें       अब तक चोरी की घटना का कोई सुराग नहीं,पीड़ित परिवार से मिलकर जिला प्रधान ने जाना हाल-चाल, शहर की विधि व्यवस्था पर एसपी से करूंगी बात: शालिनी       भारतीय मूल की सरला विद्या बनीं अमेरिका में संघीय जज, बाइडन ने किया मनोनीत       सरला से बढ़ा भारत का मान, बाइडन ने किया कनेक्टिकट राज्‍य का संघीय जज मनोनीत, जानें       बाइडन ने पुतिन को कहा था 'हत्‍यारा', जानें- जिनेवा में उनसे मुलाकात के पूर्व कैसे पड़े नरम, कही ये बात       अंतरिक्ष में Manned Mission को तैयार चीन, कल रवाना होंगे तीन एस्‍ट्रॉनॉट्स       रेडिएशन लीकेज से चीन का इनकार, कहा...       पाक सेना प्रमुख बाजवा ने अफगानिस्तान के साथ अंतरराष्ट्रीय सीमा पर ...       पाक की संसद में जमकर हुआ हंगामा, सत्तापक्ष और विपक्ष के सदस्यों ने एक दूसरे पर फेंके बजट के दस्तावेज       सिंध में पैसे देकर कोई कुछ भी कर सकता है, प्रांत में नहीं है सरकार जैसी कोई चीज- चीफ जस्टिस ऑफ पाकिस्‍तान       कुलभूषण जाधव मामले में इस्लामाबाद हाई कोर्ट ने सुनवाई 5 अक्टूबर तक टाली       पाकिस्तान : 13 साल की लड़की का जबरन धर्म परिवर्तन कर कराया गया निकाह       फेक न्यूज प्रसारित करने वालों पर सीएम योगी सख्त, बोले- संप्रदायिक उन्माद फैलाने की कोशिश नहीं स्वीकार