रामगढ़ झील में उतारेंगे सी प्लेन, CM योगी का बड़ा ऐलान

रामगढ़ झील में उतारेंगे सी प्लेन, CM योगी का बड़ा ऐलान

गोरखपुर: गोरखपुर में रोड और एयर कनेक्टिविटी की मजबूत हो रही सुविधाओं के बीच मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को गोरखपुर महोत्सव के मंच से एक बड़ी घोषणा की। सीएम योगी ने गोरखपुर के रामगढ़ ताल में सी प्लेन उतारने का ऐलान करते हुए कहा कि जल्द ही इस संबंध में प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी। इस प्लेन की विशेषता यह होगी कि यह एयरपोर्ट के साथ ही पानी में भी उतर सकेगा। बुधवार को दो दिवसीय गोरखपुर महोत्सव 2021 के समापन समारोह को बतौर मुख्य अतिथि संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि गोरखपुर से आज देश के सभी प्रमुख शहरों के लिए 9 फ्लाइट हैं, कुशीनगर से जल्द ही अंतरराष्ट्रीय उड़ान शुरू हो जाएगी। आने वाले दिनों में यदि किसी को आवश्यकता पड़ेगी तो वह सर्किट हाउस के पास से सी प्लेन पकड़ कर देश के किसी भी कोने में पहुंच जाएगा।

इस अवसर पर ये सभी अधिकारी मौजूद रहे
इस अवसर पर आधुनिक इंफ्रास्ट्रक्चर को विकास की आवश्यकता बताते हुए सीएम योगी ने कहा कि इसका लाभ लोगों को मिलना ही चाहिए। इस अवसर पर एमएसएमई मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह, पर्यटन राज्य मंत्री डॉ नीलकंठ तिवारी, गोरखपुर के सांसद रविकिशन शुक्ल, बांसगांव के सांसद कमलेश पासवान, राज्यसभा सदस्य जयप्रकाश निषाद, नगर विधायक डॉ राधामोहन दास अग्रवाल, गोरखपुर ग्रामीण के विधायक बिपिन सिंह, कैम्पियरगंज के विधायक फतेह बहादुर सिंह, पिपराइच के विधायक महेंद्र पाल सिंह, चौरीचौरा की विधायक संगीता यादव, खजनी के विधायक संत प्रसाद, सतुआ बाबा आश्रम काशी के महामंडलेश्वर संतोष दास, अपर मुख्य सचिव एमएसएमई व सूचना नवनीत सहगल समेत बड़ी संख्या में अधिकारी व कई जनपदों के लोग मौजूद रहे।

सीएम योगी के हाथों गोरखपुर रत्न से सम्मानित हुईं  9 विभूतियां
गोरखपुर महोत्सव के मुख्य मंच से सीएम योगी ने 9 विभूतियों को गोरखपुर रत्न से सम्मानित किया। संगीत के क्षेत्र में भजन गायक नंदू मिश्रा, सेवा के क्षेत्र में राष्ट्रपति पुरस्कार से सम्मानित नागरिक सुरक्षा के चीफ वार्डेन डॉ संजीव गुलाटी, चिकित्सा के क्षेत्र में नेत्र रोग विशेषज्ञ डॉ नरेंद्र मोहन सेठ, विज्ञान के क्षेत्र में गॉड पार्टिकल की खोज करने वाली टीम की सदस्य मीनाक्षी नारायण, कालानमक चावल की पांच प्रजातियों की खोज करने वाले कृषि विज्ञानी डॉ रामचेत चौधरी, खेल के क्षेत्र में हॉकी खिलाड़ी ओलंपियन अली सईद व अर्जुन अवार्डी प्रेम माया, अंतरराष्ट्रीय पहलवान अमरनाथ यादव, उद्यमी ज्योति मस्करा को यह सम्मान प्रदान किया गया। मुख्यमंत्री ने महोत्सव के आयोजकों को भी सम्मानित किया।

कोरोना वैक्सीन 16 से लगेगा
मुख्यमंत्री ने कहा कि लोगों का आह्वान करते हुए कहा कि कोरोना से लड़ने और बचने के लिए जिस संयम, मर्यादा और अनुशासन का पालन किया गया उसी तरह का धैर्य रखते हुए कोरोना वैक्सीन के लिए अपनी बारी का इंतजार करें। उन्होंने कहा कि मकर संक्रांति के बाद 16 जनवरी से कोरोना पर अंतिम प्रहार के लिए पीएम नरेंद्र मोदी के नेतृत्व व मार्गदर्शन में कोरोना वैक्सीनेशन का महाभियान प्रारंभ हो रहा है। सभी के लिए इसकी सुविधा होगी लेकिन वैक्सीन के लिए उतावलापन न दिखाएं, भीड़ न लगाएं बल्कि संयम के साथ अपनी बारी की प्रतीक्षा करें।

वोकल फ़ॉर लोकल का आधार है ओडीओपी
गोरखपुर महोत्सव के मंच से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एक बार फिर ओडीओपी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आत्मनिर्भर भारत और वोकल फ़ॉर लोकल की परिकल्पना को साकार करने का आधार बताया। उन्होंने बताया कि यूपी की स्थापना का नोटिफिकेशन 24 जनवरी1950 को हुआ था लेकिन पहली बार यूपी दिवस उनकी सरकार ने 2018 से मनाना शुरू किया। पहले ही वर्ष के समारोह में एक जिला एक उत्पाद (ओडीओपी) योजना शुरू की गई और हर जिले में इसका व्यापक प्रभाव देखने को मिला। अब यह सर्वाधिक लोकप्रिय योजना है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यूनियन बजट में भी इसे स्थान दिया है।

दिवाली के दौरान टेराकोटा के एक शिल्पकार से हुई बातचीत का अनुभव साझा करते हुए सीएम योगी ने बताया कि लखनऊ के शिल्प मेले में उस कारीगर ने महज तीन दिन में 8 लाख रुपए के टेराकोटा शिल्प  उत्पाद की बिक्री की थी। उन्होंने कहा कि ओडीओपी में शामिल टेराकोटा ने दीपावली पर दिए व मूर्तियों के बाजार से चीन का वर्चस्व समाप्त कर दिया।

गोरखपुर में रेडीमेड गारमेंट का हब बनने की क्षमता
सीएम ने कहा कि गोरखपुर में रेडीमेड गारमेंट का हब बनने की पूरी क्षमता है। इसके लिए प्रदेश सरकार पूरी कोशिश कर रही है। उन्होंने कहा कि खाद व अन्य लोकल प्रोडक्ट स्वदेशी के जरिये आत्मनिर्भरता का माध्यम बनने में सक्षम हैं। मुख्यमंत्री ने गोरखपुर के चिड़ियाघर को प्रदेश का सबसे खूबसूरत चिड़ियाघर बनाने के साथ ही तारामंडल क्षेत्र में इसी वर्ष एक विशाल आडिटोरियम का सौगात देने की भी घोषणा की।

चौरीचौरा शताब्दी के दौरान वर्ष भर होंगे कार्यक्रम
मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वाधीनता आंदोलन को निर्णायक दिशा देने वाली 4 फरवरी 1921 की चौरीचौरा की घटना के शताब्दी वर्ष पर पूरे साल कार्यक्रम होंगे ताकि आजादी दिलाने वाले महापुरुषों के प्रति श्रद्धा निवेदित हो सके। साथ ही इन महापुरुषों के स्मरण को पाठ्यक्रम का हिस्सा बनाया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने किया राज्य के सबसे ऊंचे राष्ट्रीय ध्वज का लोकार्पण
समारोह के दौरान ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रामगढ ताल के तट पर प्रदेश के सबसे ऊंचे राष्ट्रीय ध्वज का वर्चुअल लोकार्पण किया। इसकी ऊंचाई 246 फीट (75 मीटर) है और ऊंचाई के लिहाज से यह पूरे देश में 10वां सबसे ऊंचा राष्ट्रीय ध्वज है। इसके साथ ही उन्होंने नया सवेरा के प्रवेश द्वार व पैडलेगंज के पास स्थित बुद्ध द्वार का वर्चुअल लोकार्पण भी किया। मुख्यमंत्री ने समारोह की स्मारिका का भी विमोचन किया।

100 दिव्यांगजनों को मिली मोटरचालित ट्राइसाइकिल
समारोह के दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 9 दिव्यांगजन को मोटरचालित ट्राइसाइकिल प्रदान की। समारोह स्थल पर 100 दिव्यांगजन (महिला व पुरूष) को मोटरचालित ट्राइसाइकिल दी गई।


भूगर्भ जल रिचार्ज के लिए सीएम योगी करा रही चेकडैम-तालाबों का निर्माण

भूगर्भ जल रिचार्ज के लिए सीएम योगी करा रही चेकडैम-तालाबों का निर्माण

पीलीभीत: जल और जीवन एक-दूसरे के पूरक हैं। जहां जल है वहां जीवन है। यदि जल नहीं तो जीवन नहीं। जल से ही जीव-जन्तु, पेड़-पौधों आदि की उत्पत्ति एवं विकास होता है। आज बढ़ती हुई जनसंख्या एवं औद्योगीकरण के कारण भूजल का दोहन अधिक हो रहा है। भूगर्भ जल के स्तर में धीरे-धीरे कमी आ रही है।

जागरूकता के लिए 5 योजनाएं
प्रदेश में गिरते भूगर्भ जल स्तर में सुधार तथा भूगर्भ जल के नियोजित विकास एवं प्रबंधन के साथ भूजल से सम्बंधित समस्याओं के अध्ययन एवं भूजल संरक्षण हेतु जन जागरूकता के लिए 05 योजनाएं यथा-भूगर्भ जल सर्वेक्षण का विकास, आंकलन एवं सुदृढ़ीकरण, शासकीय भवनों पर रूफटाप रेनवाटर हार्वेस्टिंग प्रणाली की स्थापना, भूजल संसाधनों की गुणवत्ता का अनुश्रवण एवं मैपिंग, भूजल जन-जागरूकता एवं प्रचार-प्रसार तथा राज्य भूजल भवन की स्थापना तथा नये पीजोमीटर की स्थापना की नवीन योजनायें प्रस्तावित हैं। प्रदेश में भूजल संसाधनों की सुरक्षा, संरक्षण, प्रबन्धन एवं विनियमन के दृष्टिगत उ0प्र0 भूगर्भ जल (प्रबन्धन एवं विनियमन) अधिनियम-2019 लागू किया गया है।

जलस्तर बढ़ाने की योजनाएं संचालित
प्रदेश सरकार भूजल के गिरते स्तर को सामान्य लाने के लिए सम्बंधित क्षेत्रों में वर्षा जल को रोकने के लिए बन्धियां/चेकडैम, बांध, तालाब, पोखरों आदि का निर्माण कराकर जलस्तर बढ़ाने की योजनाएं संचालित की हैं। घरों तथा शासकीय भवनों में रूफटाप रेन वाटर हार्वेस्टिंग प्रणाली की योजना संचालित है। जिसके अन्तर्गत शासकीय भवनों एवं निजी घरों के छतों से आने वाले वर्षा के पानी को खोदे गये गड्ढों/हार्वेस्टिंग प्रणाली में एकत्रित कर भूगर्भ जल रिचार्ज में अभिवृद्धि की जा रही है।

प्रदेश के डार्क घोषित विकास खण्डों में सरकार द्वारा बंधियां, चेकडैम, तालाबों का निर्माण कराया जा रहा है। भूगर्भ जल रिचार्ज में अभिवृद्धि हेतु स्थानीय नदी, नालों, एवं वर्षा के जलबहाव वाले स्थलों पर चेकडैम बनाकर वर्षा जल को रोकते हुए भूगर्भ जल स्तर को बढ़ाने पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। प्रदेश में अब तक विभिन्न नदियों , नालों आदि पर 351 से अधिक चेकडैम बनाये गये हैं। जिनपर प्रदेश सरकार द्वारा 131.40 करोड़ रूपये व्यय किया गया है।

तालाबों पर विशेष ध्यान
प्रदेश सरकार द्वारा वर्षा जल संचयन एवं भूजल संवर्द्धन के अन्तर्गत क्रिटिकल तथा अतिदोहित चयनित विकास खण्डों में भूजल संवर्द्धन, सिंचाई, मछली पालन, पशुओं के लिए पीने का पानी की उपलब्धता सुनिश्चित करने आदि कार्यों हेतु तालाबों का निर्माण/जीर्णोद्धार कराया जा रहा है। तालाबों के पुनर्विकास एवं प्रबंधन हेतु 01 हे0 से 05 हेक्टेयर क्षेत्रफल तक के तालाबों पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है।   प्रदेश सरकार ने वर्ष 2019-20 में 47.60 करोड़ रू0 व्यय करते हुए 118 तालाबों का निर्माण कराया है तथा वित्तीय वर्ष 2020-21 में 48 करोड़ रू0 व्यय करते हुए अब तक 117 तालाबों का निर्माण/जीर्णोद्धार कराया गया है। प्रदेश सरकार भूगर्भ जल के स्तर में वृद्धि करते हुए कृषि उत्पादन में वृद्धि हेतु कृत संकल्पित है। इस दिशा में प्रदेश सरकार द्वारा कराये जा रहे कार्य सराहनीय हैं।


कोरोना वॉरियर्स से मोदी का संवाद, बोले...       विमान से कांपा पाकिस्तान, सीमा पर भारत ने मारी दहाड़       निर्धारित दर पर ही किराया लेः एसडीएम, अनुमंडल पदाधिकारी ने टेंपो एसोसिएशन के साथ बैठक कर दिया निदेश       किसान आंदोलन के साथ आंगनबाड़ी कर्मियों ने किया एकजुटता प्रदर्शन, बकाया मानदेय, पोषाहार राशि भुगतान के लिए उठी आवाज       धमाके से दहला J&K, जवानों पर हुआ भयानक हमला       भयानक विस्फोट से दहला कर्नाटक, धमाके से टूट गई सड़कें       अभी ठंड से नहीं मिलेगी राहत, इस राज्यों में होगी भारी बारिश       छत्तीसगढ़: कबड्डी मैच के दौरान खिलाड़ी की मौत       टूटे सभी रिकॉर्ड, पेट्रोल-डीजल के दामों में तेजी से बढ़ोत्तरी       MP पुलिस ने शव के साथ किया ऐसा, हाथरस कांड की याद हुई ताजा       Flipkart Big Saving Days शुरू, सस्ते में खरीदें ये स्मार्टफोन       Reliance Jio का ऑफर, 250 रुपये में हर दिन 2 जीबी डेटा       सस्ती फैमिली कार, ऑटो मोबाइल कंपनियों ने किया लॉन्च       इंडिया में लांच हुआ Vivo Y31, मिल रहे बेहतरीन फीचर       Google में बड़े बदलाव,अब हैकिंग पर लगेगी रोक       बाइडन की ताकतवर कार, बड़े-बड़े हमले इस पर बेअसर       इन 3 राशियों के बनेंगे काम, ये 2 राहु से रहेंगे परेशान, जानें       इस दिन मांं करें निर्जला उपवास, संतान को मिलेगा लंबी उम्र का वरदान       आपकी तरक्की में बाधक हैं ये पौधे, घरों में कभी न लगाएं       जानिए लाल और काली चींटियों का घर में आने का संकेत, शुभ या अशुभ