उत्तर प्रदेश

मून लाइट होटल में आग लगने के बाद दम घुटने से हुई युवती की मौत के मामले में भवन मालिक हुआ अरेस्ट

सेक्टर-104 स्थित मून लाइट होटल में आग लगने के बाद दम घुटने से हुई महिला की मृत्यु के मुद्दे में सेक्टर-39 पुलिस ने पहली कार्रवाई करते हुए बुधवार रात को भवन मालिक को अरैस्ट कर लिया. होटल को लीज पर लेने वाले आरोपी की तलाश अभी जारी है.

18 मई को होटल में आग लगने से हुआ था हादसा
थाना प्रभारी ने कहा कि 18 मई को दोपहर दो बजे के करीब सेक्टर-46 की पलक प्रसाद अपने मंगेतर तरुण के साथ होटल के छठे मंजिल पर बने कमरे में रुकी थीं. शाम साढ़े चार बजे के करीब होटल की चौथी मंजिल पर आग लग गई. देखते ही देखते आग की लपटें और धुआं पांचवीं और छठी मंजिल पर भी पहुंच गया.

धुआं कमरे के अंदर पहुंचने के कारण तरुण और पलक का दम घुटने लगा. सूचना पर पहुंचे अग्निशमन कर्मियों ने किसी तरह दोनों को बाहर निकाला और इलाज के लिए निकट के हॉस्पिटल में भर्ती कराया. कुछ ही घंटे बाद बर्न इंजरी और अंदर अधिक धुआं लेने के कारण पलक की मृत्यु हो गई. तरुण की हालत अब ठीक है.

युवती के भाई ने दर्ज कराई थी एफआईआर
हादसे के बाद अगले दिन पलक के भाई प्रांशु वर्णवाल की ओर से होटल प्रबंधन के विरुद्ध केस दर्ज कराया गया था. मुकदमा दर्ज होने के बाद से ही पुलिस होटल संचालक और भवन मालिक की तलाश कर रही थी. घटना का एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था,जिसमें होटल में आग लगी हुई दिख रही थी. इस मुद्दे में बुधवार को पुलिस ने भवन मालिक विमलेंदु झा को अरैस्ट कर लिया.

युवती होटल की पहली ग्राहक थी
विमलेंदु झा मूलरुप से बिहार का रहने वाला है. इस समय वह सेक्टर-93 में रहता है. घटना से कुछ दिन पहले उसने शामली के आकाश शर्मा को लीज पर होटल दिया था. अभी होटल का निर्माण कार्य भी चल रहा है. इसी बीच इसकी बुकिंग प्रारम्भ कर दी गई. हादसे में जिस महिला की मृत्यु हुई है वह होटल की पहली ग्राहक थीं.

Related Articles

Back to top button