तांडव’ वेब सीरीज पर क्या है सीएम योगी की असली मंशा!

तांडव’ वेब सीरीज पर क्या है सीएम योगी की असली मंशा!

लखनऊ :  पिछले कई दिनों से उत्तर प्रदेश में सियासत अपने चरम पर है। प्रदेश की राजनीति में सरगर्मी भी बढ़ती जा रही है। बात अगर मुद्दों की करें तो इस राजनीतिक बहस में मुद्दे ख़ुद-ब-ख़ुद पैदा हो जाते हैं। ताज़ा बहस का केंद्र अमेजन प्राइम वीडियो (Amazon Prime Video) की ‘तांडव’ वेब सीरीज (Tandav web series) है। इस वेब सीरीज को बीजेपी व कई हिन्दू धर्म के संगठनों ने बैन करने की मांग की है। ‘तांडव’ वेब सीरीज को लेकर बीजेपी के कई नेताओं ने आरोप लगाया है कि ‘वेब सीरीज में हिन्दू भावनाओं को ठेस पहुंचाई गई है।’

पूरे देश में अलग-अलग जगहों पर ‘तांडव’ वेब सीरीज को लेकर प्रदर्शन जोरों पर है। दिल्ली से लेकर लखनऊ तक इस वेब सीरीज से जुड़े लोगों पर मुकदमें भी हो चुके हैं। उत्तर प्रदेश की ‘योगी सरकार’ ने इस मामले में आगे की कार्रवाई के लिए लखनऊ पुलिस को मुंबई भी भेज दिया था। मगर, अभी तक कोई ठोस कार्रवाई नहीं हो सकी है। इस वेब सीरीज को लेकर संगम नगरी प्रयागराज के ‘माघ मेले’ में जब सुप्रसिद्ध कथावाचक मोरारी बापू पहुंचे थे, तब उन्होंने भी अपनी नाराजगी व्यक्त की थी।

मोरारी बापू ने कहा था कि ‘भविष्य में इस तरह सनातन धर्म और हमारी संस्कृति को लेकर कोई टिप्पणी न करे, इसको लेकर ठोस कदम उठाने की जरूरत है’। उन्होंने कहा था कि ‘यह गलत परंपरा है, इस पर हर हाल में रोक लगनी चाहिए’। उन्होंने कहा ‘हमारे धर्म की उदारता का मतलब यह नहीं होना चाहिए कि कोई उसका गैर जरूरी लाभ ले।’

‘तांडव वेब सीरीज मात्र एक बहाना है…‘
इस बारे में बात करते हुए सपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता ‘डॉ. आशुतोष वर्मा’ ने कहा- ‘भारतीय जनता पार्टी में एक बड़ी अजीब-सी उथल-पुथल चल रही है। उनके संगठन में पुराने नेताओं को दरकिनार किया गया। कुछ नये लोगों को भेजा जा रहा है, ये संकेत अपने आप में हैं कि इनकी कार्यशैली से लोग ख़ुश नहीं हैं। लगातार बढ़ती हुई घटनाएं, लगातार हो रहे शूटआउट, लगातार हो रहे अपहरण, ये सब लोग जान रहे हैं और तांडव वेब सीरीज मात्र एक बहाना है, जिससे लोगों का ध्यान भटकाया जा सके।

योगी सरकार और मोदी सरकार किसानों के मुद्दे पर बैकफुट पर खड़ी हुई है, बेरोज़गारी बढ़ती जा रही है, कोई नई भर्तियां नहीं हो रही हैं और लगातार रेप, गुंडागर्दी व भ्रस्टाचार प्रदेश में हावी है, तो कहीं न कहीं भारतीय जनता पार्टी को ध्यान भटकाना है, लेकिन प्रदेश की जनता अब इन सबसे ऊब चुकी है और अब ये ध्यान भटकाऊ की राजनीति चलने वाली नहीं है।’

विवादित सीन को लेकर मेकर्स ने मांगी माफ़ी
इस वेब सीरीज में जिस सीन को लेकर सबसे ज्यादा विवाद गरमाया हुआ है, उसमें एक्टर जीशान आयूब हैं। यह सीन सीरीज के पहले एपिसोड में है, जिसमें जीशान भगवान शिव बनकर स्टेज से बयानबाजी कर रहे हैं, इससे संत समाज में खासी नाराजगी है। हालांकि, मेकर्स की तरफ से माफी मांगी गई है, मगर गुस्सा शांत होते नहीं दिखाई दे रहा है। आपको बता दें कि इस सीरीज में एक्टर सैफ अली खान, जीशान आयूब, सुनील ग्रोवर, तिग्मांशु धूलिया जैसे सितारों ने काम किया है।


उत्तर प्रदेश संगीत नाटक अकादमी के पुरस्कारों की घोषणा

उत्तर प्रदेश संगीत नाटक अकादमी के पुरस्कारों की घोषणा

उत्तर प्रदेश संगीत नाटक अकादमी का प्रतिष्ठित बी.एम.शाह पुरस्कार मुम्बई के चन्द्रप्रकाश द्विवेदी को व सफदर हाशमी पुरस्कार मुम्बई के ही विपुल कृष्ण नागर को दिया जाएगा। जबकि अकादमी की रत्न सदस्यता डा.पूर्णिमा पाण्डे लखनऊ, उस्ताद युगान्तर सिन्दूर लखनऊ, कुंवर जी अग्रवाल वाराणसी और श्रीमती उर्मिला श्रीवास्तव मीरजापुर को प्रदान की जाएगी। बैठक के बाद कुल 17 पुरस्कार गुरुवार को घोषित कर दिये गये।

अकादमी के सचिव तरुण राज ने बताया कि आज हुई कार्यकारिणी समिति एवं सामान्य परिषद की बैठकें अकादमी के अध्यक्ष पद्मश्री डा.राजेश्वर आचार्य की अध्यक्षता में अकादमी परिसर में आहूत की गयी थी। बैठक में वर्ष-2020 के लिए अकादमी पुरस्कार, सफदर हाशमी पुरस्कार एवं बी.एम.शाह पुरस्कार के सम्बन्ध में विचार विमर्श के बाद पुरस्कारों की घोषणा की गई। उन्होंने बताया कि उपसमितियों की इन संस्तुतियों पर गहन विचार-विमर्श के उपरान्त सामान्य परिषद द्वारा अकादमी पुरस्कार में डा.बृजेश्वर सिंह बरेली (नाट्य कला उन्नयन); महन्त प्रो.विशम्भरनाथ मिश्र वाराणसी तथा महाराज कुमार अनन्त नारायण सिंह वाराणसी (संगीत कला उन्नयन) को संयुक्त रूप से चयनित किया गया।


अन्य अकादमी पुरस्कारों में डा.शरदमणि त्रिपाठी, गोरखपुर (शास्त्रीय गायन); ब्रह्मपाल नागर, गौतमबुद्धनगर (रागिनी लोकगायन); रामेश्वर प्रसाद मिश्र लखनऊ (शास्त्रीय गायन); विशाल कृष्णा वाराणसी (कथक नृत्य); भूरा यादव, तिदौली महोबा (राई लोकनृत्य); अनिल मिश्रा गुरुजी लखनऊ (नाट्य निर्देशन); अष्टभुजा मिश्र वाराणसी (नौटंकी-अभिनय व निर्देशन); पं.विनोद लेले दिल्ली (तबला वादन) और फतेह अली खां वाराणसी (शहनाई वादन) का चयन किया गया। सचिव ने बताया कि बी.एम.शाह पुरस्कार के लिए चन्द्रप्रकाश द्विवेदी मुम्बई (निर्देशन) तथा सफदर हाशमी पुरस्कार के लिए विपुलकृष्ण नागर मुम्बई (निर्देशन व अभिनय) के नामों की घोषणा की गयी।


साथ ही अकादमी रत्न सदस्यता के लिए डा.पूर्णिमा पाण्डे, लखनऊ (कथक नृत्य); उस्ताद युगान्तर सिन्दूर, लखनऊ (सुगम गायन); श्री कुंवर जी अग्रवाल, वाराणसी (रंगमंच समीक्षा); श्रीमती उर्मिला श्रीवास्तव, मीरजापुर (लोक गायन) के नामों की घोषणा की गयी। अकादमी पुरस्कार के लिए लगभग 344 संस्तुतियां प्राप्त हुई थीं जिस पर विभिन्न उप समितियों द्वारा गहन विचार-विमर्श के उपरान्त अपनी संस्तुतियां दी गयीं थी। ये पुरस्कार समारोह आयोजित कर प्रदान किये जाएंगे। 


बॉलीवुड एक्ट्रेस ने समुद्र किनारे ढहाया कहर       इस अभिनेत्री ने कई बार आइटम नंबर करने से किया मना, कही ये बड़ी बात       इस एक्ट्रेस ने कराया टॉपलेस फोटोशूट, फूलों से छुपाये ये अंग       रश्मिका मंदाना करेंगी बॉलीवुड में डेब्यू, सिद्धार्थ मल्होत्रा संग करेंगी शूटिंग       जेसिका अलेक्जेंडर 'द लिटिल मरमेड' के रीमेक में करेंगी काम       झारखंड सरकार के वित्त मंत्री रामेश्वर उरांव ने वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिए 91,277 करोड़ का बजट विधानसभा में पेश किया, बजट में गांव, किसान व मजदूर फोकस में रहे हैं। बजट भाषण के दौरान वित्त मंत्री ने कई घोषणाएं कीं        जिला परिषद प्रधान शालिनी गुप्ता ने किया मरकच्चो का दौरा, .... जब दीपिका ने जिप प्रधान से मांगा ऑटोग्राफ        मेहमान टीम का स्वागत फिर टर्नर पिच से करने की तैयारी, भारत के खिलाफ इंग्लैंड की राह नहीं है आसान       जसप्रीत बुमराह करने जा रहे हैं शादी और इसलिए क्रिकेट से लिया ब्रेक       ये खिलाड़ी लौटा मैदान पर, वनडे सीरीज से पहले भारतीय टीम को मिली बड़ी खुशखबरी       Vijay Hazare Trophy 2021 के नॉकआउट मुकाबलों का शेड्यूल जारी       4th Test मैच में ऐसी हो सकती है दोनों टीमों की प्लेइंग इलेवन       FATF की ग्रे लिस्ट में बना रहेगा पाकिस्तान, इमरान सरकार को लगा बड़ा झटका!       पाकिस्तानी एक्टर का बड़ा खुलासा, इस महिला ने किया शोषण       जानिए सोशल मीडिया पर कैसा है रिएक्शन, पीएम मोदी ने लगवाई कोरोना वैक्‍सीन       कश्मीर दहलाने की तैयारी, जैश का मददगार चढ़ा हत्थे       शिक्षक बन जिला परिषद प्रधान शालिनी गुप्ता ने बच्चों को दिए सफलता के टिप्स       हादसे से कांपा मध्य प्रदेश, पुलिस महकमे में शोक की लहर       कोरोना से मचा हाहाकार, इतने नए मामले आने के बाद अलर्ट हुई सरकार       एक सोसाइटी में 20 से ज्यादा लोग मिले पॉजिटिव, अब यहां हुआ कोरोना विस्फोट