किसान ट्रैक्टर रैली: भोपाल में कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर चली लाठियां

किसान ट्रैक्टर रैली: भोपाल में कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर चली लाठियां

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में शनिवार को कृषि कानूनों के खिलाफ किसान हल्लाबोल करने वाले हैं। आज 300 ट्रैक्टरों के साथ किसान राजभवन पहुंचेंगे और कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग उठाएंगे। फिलहाल किसान सुल्तानपुर रोड पर गोसाईंगज के निकट कासिमपुर बिरहुआ गांव पहुंच गए हैं।

भोपाल में किसानों पर चली लाठियां
मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने शनिवार को किसानों के समर्थन में प्रोटेस्ट मार्च निकाला। रास्ते में पुलिस से भिडंत हो गयी, जिसमें पुलिस को किसानों को रोकने के किसानों को लाठी चार्ज करना पड़ा। वो राजभवन की तरफ जा रहे थे। लेकिन रास्ते में पुलिस के साथ भिड़ंत हो गई। जिसके बाद कार्यकर्ताओं को नियंत्रित करने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज किया।

पुलिस ने वाटर कैनन का भी प्रयोग करना पड़ा। ये सभी कार्यकर्ता जवाहर चौक से राजभवन के लिए पैदल मार्च पर निकले थे। जिसके बाद भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस को यह कार्रवाई करनी पड़ी। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह के अलावा जयवर्धन सिंह और कुणाल चौधरी को हिरासत में लिया गया है।

यूपी के पीलीभीत के पूरनपुर तहसील से कई जत्थों में ट्रैक्टर ट्रॉली में सवार होकर सैकड़ों किसान रवाना हुए
कृषि कानूनों के विरोध में दिल्ली में चल रहे आंदोलन में 26 जनवरी को होने वाली ट्रैक्टर रैली में शामिल होने को लेकर यूपी के पीलीभीत के पूरनपुर तहसील से कई जत्थों में ट्रैक्टर ट्रॉली में सवार होकर सैकड़ों किसान रवाना हुए है।हालाकि पुलिस, पीएसी के साथ पहुंचे अफसरों ने बातचीत कर किसानों को मनाने का प्रयास भी किया, लेकिन किसान नहीं माने।किसानों का कहना है कि अधिक सख्या में पहुचकर हमे एकजुटता का परिचय देना है।हालाकि सुरक्षा इंतजाम के बीच किसानों को आगे रवाना कर दिया गया।

इसकी अगुवाई सिख संगठन के प्रदेश अध्यक्ष जसवीर सिंह विर्क ने की है।एक साथ 300 से अधिक किसानों के निकलने पर असम हाईवे पर जाम लग गया जिससे पुलिस ने खुलवाया।हालाकि किसानों के भारी संख्या में रैली में शामिल होने को जाने की भनक पर असम हाईवे पर पुलिस,पीएसी पहले ही तैनात हो गयी थी।साथ ही एसपी जयप्रकाश ने क्षेत्र का भ्रमण करने के बाद पूरनपुर कोतवाली में कैंप भी किया।

ट्रैक्टरों पर सवार होकर दिल्ली जाने को कई गांव के किसान तहसील क्षेत्र के अलग अलग जगहों पर एकत्र हुए और खुटार क्षेत्र से आने वाले किसानों के इंतजार कर रहे थे।इस बीच किसानों का नेतृत्व कर रहे कुछ नेताओं के साथ पुलिस और प्रशासनिक अफसरों ने वैठककर उन पर दबाब बनाने का प्रयास भी किया। मगर बाद में रुकने से मना कर जाने की चेतावनी दी गई।

सिख संगठन के प्रदेश अध्यक्ष जसवीर सिंह विर्क खुटार होते हुए असम हाईवे पर कई जगह रुके। किसानों से मिले और अपने साथ लेकर क्षेत्र से दिल्ली को ओर रवाना हो गए।हालाकि पहले से ही सिटी मजिस्ट्रेट, सीओ,पीएसी और पुलिस बल के साथ मौजूद थे। मगर किसानों को रोका नहीं गया और उन्हें शांतिपूर्ण तरीके से आगे निकाल दिया गया।

भाकियू का राजभवन मार्च: आज 300 टैक्टरों से पहुंचेगे किसान
मोदी सरकार के कृषि कानूनों को लेकर एक तरफ किसानों ने दिल्ली की सीमाओं को घेर रखा है, तो वहीं आज लखनऊ में भारतीय किसान यूनियन बड़ा मार्च निकालने की तैयारी में है। 300 ट्रैक्टरों के साथ किसान आज दोपहर तक राजभवन पहुँच जाएंगे। भारतीय किसान यूनियन तीन कृषि बिलों की वापसी, एमएसपी को कानूनी गारंटी देने समेत विभिन्न मांगों को लेकर राजभवन का घेराव करेगी।

लखनऊ के कासिमपुर बिरहुवा गाँव पहुच चुके किसान
भाकियू के मार्च को रोकने के लिए लखनऊ प्रशासन ने कई जगह बैरिकेडिंग की है। हालंकि इन सब के बावजूद बीती रात किसानों के करीब तीन सौ ट्रैक्टर सुल्तानपुर रोड पर कासिमपुर बिरहुआ गांव पहुंच गए हैं। यहीं से भाकियू कार्यकर्ता आज दोपहर को राजभवन के घेराव के लिए चलेंगे।

किसानों को रोकने में नाकाम रही पुलिस
भाकियू के मंडल अध्यक्ष हरिनाम सिंह वर्मा ने एलान किया है कि यूपी के सभी जिलों में किसान 23 जनवरी यानी आज लखनऊ में राजभवन का घेराव करेंगे और 26 जनवरी को राजधानी दिल्ली व जिलों में ट्रैक्टर परेड करेंगे। इस बाबत पुलिस और प्रशासन ने उन्हें लखनऊ आने से रोकने की कोशिश की। किसानों को नोटिस दिए गए लेकिन इन सब के बावजूद किसान रुकने वाले नहीं और सुल्तानपुर रोड तक पहुँच चुके हैं।

लखनऊ में किसान मार्च के चलते रूट डायवर्डन
वहीं भारतीय किसान से यूनियन के मार्च के चलते ज़िले की सीमा पर पुलिस मुस्तैद है। राजधानी लखनऊ में कई जगह डायवर्जन किया गया है। इसके तहत अहिमामऊ शहीद पथ मोड़ से सामान्य यातायात एचसीएल चौराहे की ओर नहीं जा सकेगा।

सीतापुर रोड से बड़े व भारी वाहन इंजीनियरिंग कॉलेज चौराहे, अयोध्या रोड की तरफ नहीं जा सकेंगे।

सीतापुर रोड से भिठौली तिराहे से टेढ़ी पुलिया चौराहा, पॉलिटेक्निक चौराहा नहीं जा सकेंगे।

बंदरियाबाग़ चौराहे से राजभवन, हज़रतगंज चौराहा, GPO और विधानसभा की ओर नहीं जा सकेंगे।

केकेसी तिराहे से चारबाग़, हुसैनगंज और विधानसभा की ओर डायवर्जन रहेगा।

हालांकि बदली व्यवस्था से एंबुलेंस ,फ़ायर सर्विस और शव वाहन को छूट दी गई है।

छूट के लिए यातायात कंट्रोल रूम के नंबर 0522-2481001, 7311190195, 9454405155 पर सूचना देनी होगी।


उत्तर प्रदेश संगीत नाटक अकादमी के पुरस्कारों की घोषणा

उत्तर प्रदेश संगीत नाटक अकादमी के पुरस्कारों की घोषणा

उत्तर प्रदेश संगीत नाटक अकादमी का प्रतिष्ठित बी.एम.शाह पुरस्कार मुम्बई के चन्द्रप्रकाश द्विवेदी को व सफदर हाशमी पुरस्कार मुम्बई के ही विपुल कृष्ण नागर को दिया जाएगा। जबकि अकादमी की रत्न सदस्यता डा.पूर्णिमा पाण्डे लखनऊ, उस्ताद युगान्तर सिन्दूर लखनऊ, कुंवर जी अग्रवाल वाराणसी और श्रीमती उर्मिला श्रीवास्तव मीरजापुर को प्रदान की जाएगी। बैठक के बाद कुल 17 पुरस्कार गुरुवार को घोषित कर दिये गये।

अकादमी के सचिव तरुण राज ने बताया कि आज हुई कार्यकारिणी समिति एवं सामान्य परिषद की बैठकें अकादमी के अध्यक्ष पद्मश्री डा.राजेश्वर आचार्य की अध्यक्षता में अकादमी परिसर में आहूत की गयी थी। बैठक में वर्ष-2020 के लिए अकादमी पुरस्कार, सफदर हाशमी पुरस्कार एवं बी.एम.शाह पुरस्कार के सम्बन्ध में विचार विमर्श के बाद पुरस्कारों की घोषणा की गई। उन्होंने बताया कि उपसमितियों की इन संस्तुतियों पर गहन विचार-विमर्श के उपरान्त सामान्य परिषद द्वारा अकादमी पुरस्कार में डा.बृजेश्वर सिंह बरेली (नाट्य कला उन्नयन); महन्त प्रो.विशम्भरनाथ मिश्र वाराणसी तथा महाराज कुमार अनन्त नारायण सिंह वाराणसी (संगीत कला उन्नयन) को संयुक्त रूप से चयनित किया गया।


अन्य अकादमी पुरस्कारों में डा.शरदमणि त्रिपाठी, गोरखपुर (शास्त्रीय गायन); ब्रह्मपाल नागर, गौतमबुद्धनगर (रागिनी लोकगायन); रामेश्वर प्रसाद मिश्र लखनऊ (शास्त्रीय गायन); विशाल कृष्णा वाराणसी (कथक नृत्य); भूरा यादव, तिदौली महोबा (राई लोकनृत्य); अनिल मिश्रा गुरुजी लखनऊ (नाट्य निर्देशन); अष्टभुजा मिश्र वाराणसी (नौटंकी-अभिनय व निर्देशन); पं.विनोद लेले दिल्ली (तबला वादन) और फतेह अली खां वाराणसी (शहनाई वादन) का चयन किया गया। सचिव ने बताया कि बी.एम.शाह पुरस्कार के लिए चन्द्रप्रकाश द्विवेदी मुम्बई (निर्देशन) तथा सफदर हाशमी पुरस्कार के लिए विपुलकृष्ण नागर मुम्बई (निर्देशन व अभिनय) के नामों की घोषणा की गयी।


साथ ही अकादमी रत्न सदस्यता के लिए डा.पूर्णिमा पाण्डे, लखनऊ (कथक नृत्य); उस्ताद युगान्तर सिन्दूर, लखनऊ (सुगम गायन); श्री कुंवर जी अग्रवाल, वाराणसी (रंगमंच समीक्षा); श्रीमती उर्मिला श्रीवास्तव, मीरजापुर (लोक गायन) के नामों की घोषणा की गयी। अकादमी पुरस्कार के लिए लगभग 344 संस्तुतियां प्राप्त हुई थीं जिस पर विभिन्न उप समितियों द्वारा गहन विचार-विमर्श के उपरान्त अपनी संस्तुतियां दी गयीं थी। ये पुरस्कार समारोह आयोजित कर प्रदान किये जाएंगे। 


सहवाग ने इग्लैंड के बल्लेबाजों को किया ट्रोल, राहुल गांधी का ये वीडियो किया शेयर       सपा पर बरसे CM योगी, यहां गर्मी दिखाने की जरूरत नहीं       सावधान सोशल मीडिया पर, फेसबुक-ट्विटर हो या नेटफ्लिक्स-अमेजन       अब महँगा होगा दूध, सरकार नहीं किसानों ने किया बड़ा ऐलान!       धरती पर दिखा स्वर्ग, ऐसा नजारा कभी नहीं देखा होगा       सबसे महंगी Biryani: नाम है इसका रॉयल गोल्ड       दुनिया के सबसे बड़े क्रिकेट स्टेडियम का नाम रखा गया नरेंद्र मोदी स्टेडियम       खेल दी 152 रन की पारी और लगाए 5 छक्के 14 चौके, विराट की टीम के ओपनर बल्लेबाज ने मचाया हड़कंप       क्या है India vs England के बीच खेले जाने वाले डे-नाइट टेस्ट की टाइमिंग       नेशनल ड्यूटी के लिए IPL को भी छोड़ सकता है ये खिलाड़ी       रॉबिन उथप्पा व विष्णु विनोद के शतक से सचिन बेबी की टीम को मिली जीत       Happy Birthday Divya Bharti: एक्टिंग के लिए इस एक्ट्रेस ने 16 साल की उम्र में छोड़ दी थी पढ़ाई       Shilpa Shetty In Maldives: इस एक्ट्रेस ने पति संग मालदीव्स में की Pawri       OMG! Aamir Khan के भांजे इमरान ने कजिन जाएन मेरी की कराई शादी       टीज़र देख क्या बोले अक्षय कुमार, प्रियंका चोपड़ा और करण जौहर       जॉन अब्राहम और इमरान हाशमी के बीच कांटे की टक्कर       क्या आपको भी सपने में दिखती हैं ये चीजें तो...       मंगलवार के दिन हनुमानजी को इस उपाय से करें प्रसन्न       रवि योग में जया एकादशी आज, जानें मुहूर्त, राहुकाल एवं दिशाशूल       आज है प्रदोष व्रत, जानें किस मुहूर्त में करें पूजा और इसका धार्मिक मान्यता