आईपीएल नहीं होने से डिप्रेशन में आ सकते हैं कई क्रिकेटर: पैडी अपटन, जाने हरभजन की सलाह

आईपीएल नहीं होने से डिप्रेशन में आ सकते हैं कई क्रिकेटर: पैडी अपटन, जाने हरभजन की सलाह

कोरोनावायरस के कारण भारतीय प्रीमियर लीग (आईपीएल) समेत दुनियाभर में जुलाई तक होने वाले तमाम खेल टूर्नामेंट्स को टाल या रद्द कर दिया गया है. अब 15 अप्रैल को होने वाले आईपीएल पर संकट के बादल छाने लगे हैं.

कई महान टूर्नामेंट को खाली स्टेडियम में भी कराने की बात कह रहे हैं. इस पर भारतीय स्पिनर हरभजन सिंह ने बोला कि उन्हें खाली स्टेडियम में आईपीएल खेलने में परेशानी नहीं है. लेकिन कोरोनावायरस पर नियंत्रण के बाद ही टूर्नामेंट का आयोजन होना चाहिए. क्योंकि इस पर कई लोगों की आजीविका निर्भर है.

हरभजन ने कहा, ‘दर्शक जरूरी होते हैं. लेकिन अगर परिस्थितियां अनुकूल न हों तो मुझे बिना दर्शक के खेलने में परेशानी नहीं है. एक खिलाड़ी के तौर पर मुझे दर्शकों का समर्थन नहीं मिलेगा, लेकिन यह सुनिश्चित होगा कि प्रत्येक प्रशंसक टीवी पर आईपीएल देख पाएगा.’ उन्होंने कहा, ‘हमें हर वस्तु के लिए सतर्क रहना होगा व खिलाड़ियों के स्वास्थ्य को अहमियत में रखना होगा.’

आईपीएल नहीं होने से डिप्रेशन में आ सकते हैं कई क्रिकेटर: पैडी अपटन
जबकि, 2011 वर्ल्ड कप विजेता भारतीय टीम के मेंटल कंडिश्निंग कोच रहे पैडी अपटन का मानना है कि आईपीएल को रद्द नहीं होना चाहिए. अगर ऐसा होता है तो कई खिलाड़ी डिप्रेशन में आ सकते हैं. दक्षिण अफ्रीका के पैडी ने हाल ही में बोला था, ‘‘आईपीएल क्रिकेटर्स के लिए एक बड़ा टूर्नामेंट व दुधारू गौ माता है. लॉकडाउन जैसे दशा में जब कोई स्वस्थ व सामान्य आदमी खुद के बारे में ज्यादा सोचता है, तो वह एंग्जाइटी व डिप्रशन का शिकार होने कि सम्भावना है. ऐसे समय में मैं खिलाड़ियों के साथ अन्य लोगों को भी सलाह देता हूं कि वे खुद के बारे में ज्यादा न सोचें व अपने लोगों पर ध्यान दें. साथ ही दूसरे विकल्पों पर विचार करें.’’