विराट कोहली भारतीय टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा बार शून्य पर आउट होने वाले कप्तान बने

विराट कोहली भारतीय टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा बार शून्य पर आउट होने वाले कप्तान बने

इंग्लैंड के खिलाफ पहले टेस्ट मैच में भारतीय कप्तान विराट कोहली ने बेहद निराश किया। उम्मीद की जा रही थी कि, विराट कोहली पहली पारी में कुछ खास करेंगे, लेकिन ऐसा बिल्कुल भी नहीं हुआ। उन्हें जेम्स एंडरसन ने क्रीज पर ठीक से पांव भी नहीं टिकाने दिया और वो अपनी पारी की पहली ही गेंद पर आउट हो गए। एंडरसन की गेंद पर विराट कोहली को जोस बटलर ने विकेट के पीछे लपक लिया और वो गोल्डन डक का शिकार होकर पवेलियन वापस लौटे। इस टेस्ट सीरीज में विराट बनाम एंडरसन की भी बात चल रही थी, जिसमें फिलहाल एंडरसन ने बाजी मार ली। वहीं विराट कोहली ने शून्य पर आउट होकर टीम इंडिया के पूर्व कप्तान एम एस धौनी का रिकॉर्ड भी तोड़ दिया।

कोहली टेस्ट में सबसे ज्यादा बार डक पर आउट होने वाले भारतीय कप्तान बने

भारतीय टेस्ट क्रिकेट में अब तक सबसे ज्यादा बार डक (शून्य) पर आउट होने वाले कप्तान महेंद्र सिंह धौनी थे। अब विराट कोहली ने उन्हें पीछे छोड़ दिया है और पहले नंबर पर आ गए हैं। विराट कोहली इंग्लैंड के खिलाफ पहले टेस्ट की पहली पारी में नौवीं बार बतौर कप्तान शून्य पर आउट हुए। महेंद्र सिंह धौनी आठ बार ऐसा कर चुके थे। अब धौनी से आगे कोहली निकल गए हैं। वहीं इस मामले में नवाब पटौदी तीसरे नंबर पर हैं जो बतौर कप्तान टेस्ट क्रिकेट में सात बार शून्य पर आउट हुए थे तो वहीं कपिल देव के साथ छह बार ऐसा हुआ था। 

टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा बार शून्य पर आउट होने वाले भारतीय कप्तानः

9 - विराट कोहली

8 - MS Dhoni

7 - नवाब पटौदी

6 - कपिल देव

भारत की तरफ से तीनों प्रारूपों में सबसे ज्यादा बार गोल्डन डक पर आउट होने वाले कप्तान

भारत की तरफ से टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा बार गोल्डन डक पर आउट होने वाले कप्तान विराट कोहली बन गए हैं तो वहीं वनडे क्रिकेट में सौरव गांगुली सबसे ज्यादा यानी 9 बार गोल्डन डक पर आउट हुए थे। वहीं टी20 इंटरनेशनल क्रिकेट में बतौर कप्तान सबसे ज्यादा बार विराट कोहली ही डक पर आउट हुए हैं। वो तीन बार क्रिकेट के सबसे छोटे प्रारूप में गोल्डन डक हुए हैं। 


टेस्ट क्रिकेट- विराट कोहली (9 बार)

वनडे - सौरव गांगुली (9 बार)

टी20 - विराट कोहली (3 बार)

साल 2021 में विराट कोहली चौथी बार बतौर कप्तान इंटनेशनल क्रिकेट में शू्न्य पर आउट हुए। उन्होंने पाकिस्तान के कप्तान बाबर आजम को पीछे छोड़ दिया जो अब तक तीन बार शून्य पर आउट हो चुके हैं। साल 2011 में वो चार बार शून्य पर आउट हुए थे जबकि साल 2017 में वो पांच बार शून्य पर आउट हुए थे। 


विराट कोहली के फैसले का RCB के प्रदर्शन पर नहीं पड़ा है कोई प्रभाव: माइक हेसन

विराट कोहली के फैसले का RCB के प्रदर्शन पर नहीं पड़ा है कोई प्रभाव: माइक हेसन

रायल चैलेंजर्स बेंगलुरु के मुख्य कोच माइक हेसन ने कहा कि विराट कोहली का वर्तमान सत्र के बाद इस आइपीएल फ्रेंचाइजी की कप्तानी छोड़ने के फैसले का कोलकाता नाइटराइडर्स (केकेआर) के खिलाफ टीम के प्रदर्शन पर किसी तरह का असर नहीं पड़ा। आरसीबी को केकेआर के हाथों नौ विकेट से करारी हार झेलनी पड़ी। इससे एक दिन पहले कोहली ने वर्तमान सत्र के बाद आरसीबी की कप्तानी छोड़ने की घोषणा की थी।

हेसन ने कहा कि जितना जल्दी हो सके घोषणा करना महत्वपूर्ण था। उन्होंने मैच के बाद संवाददाता सम्मेलन में कहा, 'नहीं, मैं ऐसा नहीं मानता। ऐसी किसी भी चीज को जल्दी दूर करना महत्वपूर्ण होता है जिससे आपका ध्यान बंटता हो। इसलिए हमने जल्द से जल्द घोषणा करने को लेकर बात की और सभी खिलाड़ी इससे अवगत थे। लेकिन, इसका वास्तव में टीम के प्रदर्शन पर कोई प्रभाव नहीं पड़ा। हमने वैसी बल्लेबाजी नहीं की जैसी हमें करनी चाहिए थी। हमने परिस्थितियों से सामंजस्य नहीं बिठाया, हमने लगातार विकेट गंवाए। हमने ऐसा कुछ भी नहीं किया जो एक बल्लेबाजी इकाई के रूप में करना चाहिए था, लेकिन मुझे अब भी इस टीम पर भरोसा है। हम जल्द ही बेहतर प्रदर्शन करेंगे।'


कोहली ने आरसीबी की कप्तानी छोड़ने की घोषणा करने से दो दिन पहले अगले महीने होने वाले विश्व कप के बाद भारत की टी-20 कप्तानी छोड़ने का भी फैसला किया था। वहीं आपको बता दें कि, आइपीएल 2021 के यूएई लेग में आरसीबी की शुरुआत काफी खराब रही और इस टीम को केकेआर ने नौ विकेट से पटखनी दे दी। इस मैच में विराट कोहली ने सिर्फ 5 रन का योगदान दिया था। हालांकि इस हार के बाद भी इस वक्त आरसीबी अंकतालिका में तीसरे नंबर पर बनी हुई है। आरसीबी ने अब तक 8 मैचों में से 5 मैच जीते हैं और 3 में उसे हार का सामना करना पड़ा है।