खिलाड़ियों का हित प्रभावित नहीं होने देगा बीसीसीआई, जाने कैसे

खिलाड़ियों का हित प्रभावित नहीं होने देगा बीसीसीआई, जाने कैसे

 कोरोना वायरस (Coronavirus) के कारण भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) को बहुत ज्यादा नुकसान होने का अनुमान है. इस सत्र के उसके कई मैच व टूर्नामेंट रद्द होने से उसे आर्थिक मोर्चे पर बड़ा झटका लगेगा, इसमें कोई संदेह नहीं है. इसके बावजूद उसने अपने अनुबंधित खिलाड़ियों की त्रैमासिक बकाया राशि का भुगतान कर दिया है.

खिलाड़ियों का हित प्रभावित नहीं होने देगा बीसीसीआई

बीसीसीआइ का बोलना है कि वो नहीं चाहता की कोविड-19 महामारी का प्रभाव क्रिकेटरों की कमाई पर हो. इस महामारी के कारण देश में लॉकडाउन है व उसे बहुत ज्यादा वित्तीय नुकसान होगा. इसके बावजूद एक बीसीसीआई ऑफिसर ने बोला कि बोर्ड किसी भी स्थिति के लिए तैयार है. केंद्रीय अनुबंध वाले सभी खिलाड़ियों को तीन महीने का वेतन दे दिया गया है व इस बीच खेले गए सभी मैचों की बकाया राशि का भी भुगतान कर दिया गया है.

बोर्ड अपने खिलाड़ियों का ध्यान रखने में सक्षम

बता दें कि जहां बीसीसीआई ने अपने क्रिकेटरों के वेतन का भुगतान कर दिया, वहीं इंग्लैंड व ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट बोर्ड की ओर से बोला जा रहा है कि खिलाड़ियों के वेतन में कटौती की जा सकती है. इन दोनों राष्ट्रों के क्रिकेटर भी इसके लिए तैयार हैं. क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने तो अपने सेंट्रल अनुबंध की घोषणा को होल्ड पर रख दिया है. इस पर रिएक्शन देते हुए बोर्ड ऑफिसर ने बोला कि हर तरफ सैलरी में कटौती की बात चल रही है, लेकिन उन्हें लगता है कि बीसीसीआइ अपने खिलाड़ियों का ध्यान रखने में सक्षम है. बोर्ड के साथ अनुबंधित क्रिेकेटर चाहे वह अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर खेलते हों या फिर घरेलू स्तर पर, किसी को कोई कठिनाई नहीं उठानी पड़ेगी. वहीं उन्होंने यह भी बोला कि यह बोर्ड की आर्थिक स्थिरता का बड़ा टेस्ट है.

बता दें कि इस महामारी चपेट में अब तक संसार भर के 16 लाख से ज्यादा लोग आ चुके हैं, जबकि 95 हजार से ज्यादा लोगों की मृत्यु हो चुकी है.