अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट काउंसिल (ICC) ने कोरोना के बाद क्रिकेट की वापसी के लिए जारी की नयी गाइडलाइन

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट काउंसिल (ICC) ने कोरोना के बाद क्रिकेट की वापसी के लिए जारी की नयी गाइडलाइन

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट काउंसिल (ICC) ने कोरोनावायरस के कहर के बाद क्रिकेट की वापसी के लिए नयी गाइडलाइन जारी कर दी है. आईसीसी ने फुटबॉल की तरह क्रिकेट में खिलाड़ियों को 4 फेज में एक्सरसाइज करने के लिए बोला है.

 स्पेन, इटली व इंग्लैंड में फुटबॉल क्लब के खिलाड़ी 4 फेज में एक्सरसाइज कर रहे हैं. इसके अतिरिक्त आईसीसी ने अंपायर, गेंद व उसके प्रयोग को लेकर भी नए नियम बनाए है. इतना ही नहीं सभी क्रिकेट बोर्ड को किसी भी टूर्नामेंट या सीरीज से 14 दिन पहले आइसोलेशन में टीम का ट्रेंनिंग कैम्प लगाना होगा.

आईसीसी ने गेंद पर स्लाइवा यानी लार को लगाने पर भी रोक लगा दिया है. अंपायरों को भी गेंद रखने के दौरान ग्लव्स पहनने की सलाह दी गई है. इतना ही नहीं मैदान पर उपस्थित खिलाड़ियों के साथ-साथ अंपायर भी गेंद को प्रयोग करने के दौरान हाथ को नियमित अंतराल पर सैनिटाइज करते रहेंगे. गाइडलाइन में मैच से पहले अलग-थलग एक्सरसाइज शिविर के आयोजन, स्वास्थ्य, तापमान जाँच व कोविड-19 परीक्षण की आवश्यकता पर विचार करने की बात कही गई है.


आईसीसी साथ ही बोला है कि खिलाड़ियों के स्वास्थ्य को सर्वोपरि रखा जाएगा. उसके लिए चीफ मेडिकल अधिकारी की नियुक्ति भी होगी. चार फेज में ट्रेनिंग की आरंभ अकेले एक्सरसाइज से होगी. पहले फेज में खिलाड़ी अकेले-अकेले ही एक्सरसाइज करेंगे. इसके बाद दूसरे फेज में तीन या उससे कम खिलाड़ी एक साथ एक्सरसाइज करेंगे. तीसरे फेज में 10 से कम खिलाड़ी एक साथ ट्रेनिंग कर सकते हैं. वहीं चौथे फेज में पूरी टीम साथ में एक्सरसाइज कर सकती है. इस दौरान खिलाड़ियों को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा.
मैच के दौरान यह देखा जाता था कि खिलाड़ी चश्मा, टोपी या स्वेटर अंपायर को दे देते थे, लेकिन अब ऐसा नहीं होगा. उन्हें इसकी इजाजत नहीं होगी. यहां तक कि पानी की बोतल व तौलिया भी शेयर नहीं कर सकते हैं. खिलाड़ियों को अब स्टेडियम की स्थान टीम होटल से ही तैयार होकर जाना होगा. इससे वे कॉमन फैसिलिटी का प्रयोग करने से बचेंगे. यहां तक कि जश्न मनाने के दौरान भी ध्यान रखना होगा कि वे सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कर रहे हैं या नहीं.