नवजोत सिंह सिद्धु की स्थान सचिन को मिला ओपनिंग का मौका, जाने खबर

नवजोत सिंह सिद्धु की स्थान सचिन को मिला ओपनिंग का मौका, जाने खबर

 भारतीय क्रिकेट में भगवान कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) के नाम कई बड़े रिकॉर्ड हैं। उन्होंने दुनिया स्तर पर भारतीय क्रिकेट को वह शोहरत दिलाई जिसने हिंदुस्तान को खेल में नयी पहचान दिलाई। 

सचिन ने यूं तो अपने करियर की आरंभ 1989 में की थी लेकिन आज के ही दिन यानि 27 मार्च 1994 को क्रिकेट में सचिन की नयी पारी की आरंभ हुई थी। सचिन ने इसी दिन पहली बार भारतीय टीम के लिए ओपनिंग की थी जिसके बाद न सिर्फ उनका करियर बल्कि भारतीय क्रिकेट भी बदल गया।

नवजोत सिंह सिद्धु की स्थान सचिन को मिला ओपनिंग का मौका
न्यूजीलैंड के दौरे पर ऑकलैंड (Auckland) में होने वाले मुकाबले से पहले नवजोत सिंह सिद्धु (Navjot Singh Siddhu) अनफिट हो गए थे। इसके बाद कैप्टन मोहम्मद अजहरुद्दीन ने सचिन को  अजय जडेजा के साथ ओपनिंग के लिए भेजा।  सचिन पहली बार भारतीय टीम के लिए ओपनिंग करने उतरे थे औऱ पहली ही बार में तूफानी पारी खेली थी। इस मैच में सचिन ने जडेजा के साथ पहले विकेट के लिए 61 रनों की साझेदारी की, जिसके बाद जडेजा 18 रन पर आउट हो गए। सचिन ने 42 गेंदों में 89 रन बनाए थे। अपनी इस पारी में उन्होंने 15 चौके व दो छक्के लगाए व टीम की जीत की नींव रखी।

सचिन ने बतौर ओपनर अपनी स्थान बनाई व रिकॉर्ड की झड़ी लग गई

इस मैच में 143 रनों का पीछा करते हुए हिंदुस्तान ने 23.2 ओवरों में ही 7 विकेट से जीत हासिल की थी। इस विस्फोटक पारी की वजह से सचिन को सीरीज के बाकी बचे दो मैचों के लिए भी ओपनिंग करने का मौका मिला। उन्होंने शानदार प्रदर्शन कायम रखते हुए दोनों मैचों में क्रमशः 63 व 40 रनों की पारी खेली।

अपने डेब्यू के बाद अगले पांच वर्षों तक सचिन निचले क्रम में बल्लेबाजी करते रहे। इन पांच वर्षों में उन्होंने 116 मैच खेले जिसमें 33 की औसत से 3116 रन बनाए। हालांकि सचिन ने ओपनिंग करने के मौका का लाभ उठाया व अपनी पारी के दम पर यह स्थान पक्की कर ली। बतौर ओपनर सचिन ने वनडे में 344 मैच खेले हैं जिसमें उन्होंने 48.29 की औसत से 15,310 रन बनाए।