कर्नाटक ने देश का सबसे बड़ा टी20 टूर्नामेंट जीता

कर्नाटक ने देश का सबसे बड़ा टी20 टूर्नामेंट जीता

भारतीय क्रिकेट के क्षमता हाउस कर्नाटक (Karnataka) ने देश का सबसे बड़ा टी20 टूर्नामेंट भी जीत लिया है। उसने रविवार को भी अपने नाम कर ली है। मनीष पांडे की टीम ने इस टी20 टूर्नामेंट के फाइनल में को हराया। सूरत में खेला गया यह मुकाबला बेहद रोमांचक रहा, जिसमें कर्नाटक ने एक रन से जीत दर्ज की। कर्नाटक ने पिछले वर्ष भी यह ट्रॉफी जीती थी।  

तमिलनाडु ने रविवार को के फाइनल में टॉस जीतकर पहले फील्डिंग का निर्णय लिया। इस तरह कर्नाटक ने पहले बैटिंग की। उसने निर्धारित 20 ओवर में 5 विकेट पर 180 रन का स्कोर बनाया। तमिलनाडु की टीम लक्ष्य के बेहद जाकर ठिठक गई। तमिलनाडु को जीत के लिए आखिरी चार गेंद पर पांच रन चाहिए थे, लेकिन वह तीन रन ही बना सकी।  

:

कर्नाटक का 40 दिन के भीतर यह दूसरा बड़ा खिताब है। उसने 25 अक्टूबर को विजय हजारे ट्रॉफी भी जीती थी। इत्तफाक से विजय हजारे ट्रॉफी का फाइनल भी कर्नाटक व तमिलनाडु (Karnataka vs Tamil Nadu) के बीच खेला गया था। इसमें कर्नाटक ने 60 रन से जीत दर्ज की थी।  अब उसने सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी भी जीत ली है। यह भारतीय घरेलू क्रिकेट का सबसे बड़ा टी20 टूर्नामेंट है।

कर्नाटक की ओर से फाइनल में सबसे अधिक रन ने बनाए। उन्होंने 45 गेंदों पर 60 रन की नाबाद पारी खेली। रोहन कदम ने 28 गेंद में 35 व देवदत्त पडिक्कल ने 23 गेंद में 32 रन बनाए। केएल राहुल ने 22 (15 गेंद) व करुण नयर ने 17 (8 गेंद) रनों का सहयोग दिया। तमिलनाडु के रविचंद्रन अश्विन व मुरुगन अश्विन ने दो-दो विकेट झटके। एक विकेट वॉशिंगटन सुंदर को मिला।  

तमिलनाडु की टीम अच्छी बल्लेबाजी करते हुए एक समय जीत के बेहद करीब थी। उसे ट्रॉफी पर अतिक्रमण करने के लिए आखिरी ओवर में 13 रन की आवश्यकता थी। कृष्णप्पा गौतम के इस ओवर की पहली दो गेंद पर रविचंद्रन अश्विन ने दो चौके लगा दिए। अब लक्ष्य पांच रन दूर था। ओवर की तीसरी गेंद पर कोई रन नहीं बना। चौथी गेंद पर अश्विन ने एक रन लिया। अब कर्नाटक को दो गेंद पर चार रन चाहिए थे। पांचवीं गेंद पर विजय शंकर दूसरा रन लेने की प्रयास में आउट हो गए। छठी गेंद पर मुरुगन अश्विन सिर्फ एक रन बना सके।  

इस तरह आखिरी पलों की गलती के कारण विजय शंकर (44), बाबा अपराजित (40), वॉशिंगटन सुंदर (24), दिनेश कार्तिक (20), रविचंद्रन अश्विन (16) व शाहरुख खान (16) की पारियां बेकार चली गईं। कर्नाटक की ओर से रोनित मोरे ने सबसे अधिक दो विकेट लिए। कृष्णप्पा गौतम, श्रेयस गोपाल व जे। सुचिथ को एक-एक विकेट मिला।