आईपीएल चेयरमैन बृजेश पटेल ने स्पॉन्सरशिप पर कही यह बड़ी बात

आईपीएल चेयरमैन बृजेश पटेल ने स्पॉन्सरशिप पर कही यह बड़ी बात

चाइना के साथ सीमा पर विवाद का प्रभाव वहां की कंपनी वीवो (VIVO) पर भी देखा गया जो कि आईपीएल की मुख्य स्पॉन्सर थी। सीमा पर चल रही तल्खियों के बाद वीवो की एक वर्ष की स्पॉन्सरशिप बीसीसीआई ने रद्द कर दी। 

अब बीसीसीआई आईपीएल के नए स्पॉन्सर की तलाश में है व इस बीच आईपीएल चेयरमैन बृजेश पटेल ने स्पॉन्सरशिप पर बड़ी बात कह दी है। उन्होंने मीडिया को जानकारी दी कि बीसीसीआई को अगले एक सप्ताह में स्पॉन्सर मिल जाएगा व उसे वीवो के अलग होने से कोई फर्क नहीं पड़ता है।

आईपीएल चेयरमैन बृजेश पटेल की बड़ी बातें
भारतीय क्रिकेट बोर्ड (BCCI) को इस वर्ष भारतीय प्रीमियर लीग का आयोजन संयुक्त अरब अमीरात में कराने के लिये केन्द्र सरकार से औपचारिक मंजूरी मिल गई है। लीग के चेयरमैन बृजेश पटेल ने सोमवार को यह जानकारी दी। उन्होंने बोला कि टूर्नामेंट के नये टाइटल प्रायोजक की घोषणा 18 अगस्त तक हो जायेगी। इच्छुक कंपनियों को बोली जमा करने के लिये सात दिन का समय दिया जायेगा। बीसीसीआई ने आईपीएल स्पॉन्सरशिप के मामले पर बोला है कि नयी कंपनी को अधिकार 18 अगस्त 2020 से 31 दिसंबर 2020 तक मिलेंगे। स्पॉन्सरशिप की बोली में वही कंपनी भाग ले सकेगी जिसका टर्नओवर 300 करोड़ रुपये से ज्यादा होगा। आईपीएल संयुक्त अरब अमीरात में 19 सितंबर से 10 नवंबर के बीच शारजाह, दुबई व अबुधाबी में खेला जायेगा।
स्पॉन्सरशिप पर बृजेश पटेल का बड़ा बयान
चीनी मोबाइल कंपनी वीवो से करार टूटने के बाद बीसीसीआई (BCCI) को प्रायोजन तलाशने में भी परेशानी हो रही है। यह 440 करोड़ रुपये का करार था जो हिंदुस्तान व चाइना के सैनिकों के बीच सीमा पर हुई हिंसक झड़प के कारण चीनी उत्पादों व कंपनियों के बहिष्कार की मांग के बीच इस वर्ष के लिये रद्द कर दिया गया है। हालांकि बृजेश पटेल का मानना है कि वीवो का करार एक वर्ष के लिए रद्द होने से बीसीसीआई को कोई फर्क नहीं पड़ता। पटेल ने बोला ,' वीवो का अलग होना कोई झटका नहीं है। कई कंपनियां पहले ही रूचि जता चुकी हैं। चाहे भारतीय कंपनी हो या विदेशी, जो सबसे ज्यादा बोली लगायेगी उसे ही अधिकार मिलेंगे। पूरी प्रक्रिया 18 अगस्त तक पूरी हो जायेगी। बता दें स्पॉन्सरशिप की रेस में पतंजलि, एमेजॉन जैसी कंपनियां बताई जा रही हैं। अब देखना ये है बाजी किसके हाथ लगती है।