भारतीय क्रिकेटर ने किया आत्महत्या, जाने क्या थी वजह

भारतीय क्रिकेटर ने किया आत्महत्या, जाने  क्या थी वजह

अगले महीने यूएई (UAE) में आईपीएल के 13वें सीजन का आयोजन होने वाला है व पूरी दुनिया की नजर सबसे बड़ी टी20 टी20 लीग में से एक आईपीएल पर रहेगी।

 इस लीग को जहां कई खिलाड़ी अपनी नेशनल टीम में वापसी का एक रास्‍ता मानते हैं तो युवा खिलाड़ी इसे इंटरनेशनल स्‍तर तक पहुंचने का रास्‍ता मानते हैं। इसी आईपीएल से टीम इंडिया को दीपक चाहर, खलील अहमद, नवदीप सैनी जैसे उभरते क्रिकेटर भी मिले।

युवा खिलाड़ी ने की सुसाइड
इसी वजह से पिछले एक दशक से हर युवा खिलाड़ी की प्रयास किसी तरह से आईपीएल खेलने की होती है, ताकि आईपीएल में खुद की काबिलियत को दिखाकर वो आगे का रास्‍ता खुद के लिए खोल सके। मगर आईपीएल में चयन न होने व इस लीग में खेल पाने का सपना अधूरा रहने पर कई युवा खिलाडि़यों को अपना करियर खत्‍म होता हुआ नजर आने लगता है। कुछ ऐसा ही 27 वर्ष के भारतीय क्रिकेटर करन राधेश्‍याम तिवारी (Karan Tiwari) को भी लगा, जिसके बाद उन्‍होंने अपनी जिंदगी का सबसे खतरनाक कदम उठा लिया।

मुंबई के मलाड इलाके के गोकुलधाम शैयाब सोसायटी में रहने वाले करन राधेश्याम तिवारी ने सोमवार की रात साढ़े बजे घर में पंखे से लटक कर सुसाइड कर ली। घटना की जानकरी मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची व उसने मृत शरीर को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। करार पुलिस ने ADR के तहत मुद्दा दर्ज कर आगे की जाँच प्रारम्भ कर दी है।

खुदकुशी से पहले दोस्त को फोन किया
कुरार पुलिस थाने के इंस्पेक्टर बाबासाहेब सालुंखे ने बताया कि घटना की जाँच जारी है।  पुलिस के मुताबिक करन ने खुदकुशी से पहले उदयपुर में रहने वाले अपने दोस्त को फोन कर बताया कि वो खुदकुशी करने वाला है। करन आईपीएल में मौका नहीं मिलने की वजह से बहुत ज्यादा परेशान था। करन के दोस्त ने उसकी बहन को इसकी जानकारी दी जो कि मुंबई में ही रहती हैं। जबतक करन की बहन अपनी मां को इस बारे में बताती तब तक बहुत ज्यादा देर हो चुकी थी। करन अपने भाई व मां के साथ मलाड में रहते थे। कोरोना वायरस की वजह से मैच रुके हुए थे व करन डिप्रेशन का शिकार हो गए। इसी वजह से उन्होंने अपनी जान ले ली।