स्पोर्ट्स

भारतीय क्रिकेट टीम का दक्षिण अफ्रीका पहुंचने पर किया गया पारंपरिक स्वागत

क्रिकेट न्यूज़ डेस्क भारतीय क्रिकेट टीम का दक्षिण अफ्रीका पहुंचने पर पारंपरिक स्वागत किया गया हिंदुस्तान को 10 दिसंबर को तीन मैचों की श्रृंखला के पहले टी20 के साथ अपने अभियान की आरंभ करनी है यह क्रिकेट का वह प्रारूप है जहां हिंदुस्तान दक्षिण अफ्रीका के विरुद्ध सबसे सफल रहा है हिंदुस्तान ने दक्षिण अफ्रीका के विरुद्ध उस राष्ट्र में एक भी टेस्ट सीरीज नहीं जीती है, जबकि एक वनडे सीरीज जीती है इसके साथ ही हिंदुस्तान ने टी20 में केवल तीन मैचों की सीरीज पर कब्जा जमाया है यह सूर्यकुमार यादव की कप्तानी वाली टीम है जिसके किसी भी क्रिकेटर ने दक्षिण अफ्रीका के विरुद्ध एक भी टी20 मैच नहीं खेला है

दक्षिण अफ्रीका की उछाल भरी पिचों ने हमेशा भारतीय बल्लेबाजों की परीक्षा ली है यही कारण है कि टेस्ट और वनडे में आठ-आठ सीरीज खेलने के बावजूद हिंदुस्तान 2017-18 में केवल एक वनडे सीरीज 5-1 से जीत सका है इसके विपरीत, हिंदुस्तान का दक्षिण अफ्रीका के विरुद्ध टी20ई में अच्छा रिकॉर्ड है 2018 में, तीन मैचों की श्रृंखला 2-1 से जीतने से पहले दोनों राष्ट्रों ने तीन एक मैचों की टी20 मैच खेले टीम इण्डिया दो और अफ्रीकी टीम एक जीत हासिल करने में सफल रही 2007 टी-20 वर्ल्ड कप में भी हिंदुस्तान ने दक्षिण अफ्रीका को हराया था हिंदुस्तान ने यह विश्व कप महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में जीता था

सूर्यकुमार यादव को टी-20 में 360 डिग्री क्रिकेटर का खिताब मिल चुका है ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध रोहित शर्मा और हार्दिक पंड्या की गैरमौजूदगी में उन्हें टीम की कमान सौंपी गई, जिसे उन्होंने भली–भाँति निभाया दक्षिण अफ्रीका दौरे पर उन्हें टीम का कप्तान बनाकर बीसीसीआई चयनकर्ताओं ने साफ कर दिया है कि वह टीम के भविष्य के कप्तान हैं अगले वर्ष टी20 वर्ल्ड कप के बाद रोहित शर्मा के लिए टी20 में बने रहना कठिन होगा

हार्दिक लगातार चोट की परेशानी से जूझ रहे हैं, जिसके कारण वह लगातार टीम से अंदर-बाहर होते रहते हैं ऐसे में विकल्प के तौर पर सूर्यकुमार यादव को आजमाया गया है उन्होंने ऑस्ट्रेलियाई टेस्ट पास कर लिया है यदि वह दक्षिण अफ्रीका में टेस्ट पास कर लेते हैं तो वर्ल्ड कप के बाद टी20 फॉर्मेट में उनकी कप्तानी पक्की हो सकती है

क्रिकेटर वर्ल्ड कप के लिए अपनी दावेदारी मजबूत करेंगे
वर्ल्ड कप की तैयारियों को देखते हुए ये सीरीज अहम है तिलक वर्मा, रिंकू सिंह, विकेटकीपर बल्लेबाज जितेश शर्मा, रवि बिश्नोई और मुकेश कुमार इस सीरीज के जरिए टी20 वर्ल्ड कप के लिए अपना दावा मजबूत करने की पूरी प्रयास करेंगे ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध पांच मैचों में नौ विकेट लेकर बिश्नोई प्लेयर ऑफ द सीरीज बने यदि वह इस सीरीज में भी खतरनाक बने रहे तो विश्व कप के लिए तीसरे स्पिनर के तौर पर उनका दावा काफी मजबूत हो जाएगा

अगर तिलक वर्मा और जितेश को मौका मिलता है और वे सफल होते हैं तो चयनकर्ताओं के पास विश्व कप के लिए अधिक विकल्प होंगे रिंकू सिंह ने ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध छठे नंबर पर फिनिशर की किरदार भली–भाँति निभाई है अब उनकी परीक्षा दक्षिण अफ्रीका की उछाल भरी पिचों पर होगी

भारत बनाम दक्षिण अफ़्रीका घरेलू मैदान पर
2006-07: हिंदुस्तान 1-0 से जीता
2007 विश्व कप: हिंदुस्तान जीता
2010-11: हिंदुस्तान 1-0 से जीता
2011-12: द अफ़्रीका 1-0 से जीता
2017-18: हिंदुस्तान 2-1 से जीता

Related Articles

Back to top button