भारत-पाकिस्तान के बीच होने वाले क्रिकेट मुकाबले में रहता है यह बड़ा तनाव

 भारत-पाकिस्तान के बीच होने वाले क्रिकेट मुकाबले में रहता है यह बड़ा तनाव

 भारत-पाकिस्तान (India vs Pakistan) के बीच होने वाले क्रिकेट मुकाबले में रोमांच व चरम अपने तनाव पर रहता है. इन दोनों के बीच जब भी मैच होता है, तब पूरी संसार में भारत-पाकिस्तान के प्रशंसक टीवी सेट से चिपक जाते हैं. 

स्टेडियम पूरा भर जाता है. इस कारण दोनों राष्ट्रों के खिलाड़ियों पर भी जबरदस्त तनाव रहता है. अब इंग्लैंड के अंपायर इयान गोल्ड (Ian Gould) बताया कि न सिर्फ खिलाड़ियों पर, बल्कि अंपायरों पर भी बहुत ज्यादा दबाव होता है. इन दोनों राष्ट्रों के बीच होने वाले मुकाबले में अंपायरिंग करना बहुत ही कठिन होता है. उन्होंने बोला कि यह सचमुच बहुत ज्यादा डराने वाला होता है. हालांकि आगे उन्होंने यह भी बोला कि ऐसा खिलाड़ियों की वजह से नहीं है. वह तो कमाल के लोग हैं.

भीड़ व शोर ध्यान भटका सकता है

अंपायर गोल्ड ने बोला कि उन्होंने भारत-पाकिस्तान के बीच खेले गए सात-आठ मैचों अंपायरिंग की है. इन दोनों राष्ट्रों के खिलाड़ी कमाल के हैं. ये दोनों एक-दूसरे के साथ होते हैं. लेकिन असल समस्या भीड़ व शोर है. अगर आप भीड़ को अपने आप पर हावी होने देते हैं तो फिर वो शोर व मैक्सिकन वेब या इस इसे जो कुछ भी कहें, आपका ध्यान भटका सकती है. व फिर आप धीरे-धीरे छोटी-छोटी चीजें मिस करने लगते हैं. यह बेहद कठिन स्थान बन जाती है.

विश्व कप 2019 के बाद गोल्ड ले चुके हैं संन्यास

इंग्लैंड का इस महान अंपायर ने ब्रिटेन में पिछले वर्ष आयोजित दुनिया कप (ICC ODI Cricket World Cup 2019) से पहले ही अंपायरिंग से संन्यास की घोषणा कर दी थी. गोल्ड ने बोला था कि वह आईसीसी एकदिवसीय क्रिकेट दुनिया कप 2019 के बाद अंपायरिंग से संन्यास ले लेंगे. उन्होंने अपने करियर में आखिरी बार पिछले वर्ष दुनिया कप के दौरान खेला छह जुलाई को हिंदुस्तान व श्रीलंका के बीच खेले गए मैच में अंपायरिंग की.