मैराथन के पूर्व दुनिया रिकॉर्ड धारक केन्या के विल्सन किप्सांग ने उड़ाई सरकारी नियमों की धजिज्यां

मैराथन के पूर्व दुनिया रिकॉर्ड धारक केन्या के विल्सन किप्सांग ने उड़ाई सरकारी नियमों की धजिज्यां

दुनिया भर के खिलाड़ी जहां कोरोना वायरस महामारी के विरूद्ध लोगों को जागरूक करने में लगे हुए हैं वहीं मैराथन के पूर्व दुनिया रिकॉर्ड धारक केन्या के विल्सन किप्सांग खुद ही सरकारी नियमों की धजिज्यां उड़ा रहे हैं.

 जबकि वह खुद एक पुलिस ऑफिसर हैं. विल्सन को लॉकडाउन के उल्लंघन में एक रात कारागार में भी गुजारनी पड़ी. पुलिस ने उन्हें रात में कर्फ्यू के दौरान शराब पीने व ग्रुप में पूल खेलने के आरोप में अरैस्ट किया. शुक्रवार को उन्हें न्यायालय में पेश किया जहां उन्हें दोषी मनाते हुए जमानत पर बरी कर दिया गया. विल्सन ने 2013 बर्लिन मैराथन दुनिया रिकॉर्ड के साथ जीती थी. लंदन ओलंपिक 2012 के कांस्य पदक विजेता विल्सन को डोपिंग के चलते मौजूदा समय में वर्ल्ड इंटीग्रेटी एंटी डोपिंग यूनिट (एआईयू) ने अस्थायी रूप से निलंबित कर रखा है.

12 व एथलीट भी हो चुके हैं गिरफ्तार:
इस हफ्ते के प्रारम्भ में सरकारी निर्देशों का पालन न करने के आरोप में पुलिस ने 12 एथलीटों को भी हिरासत में लिया था. यह सभी खतरनाक कोविड-19 महामारी के बीच सामूहिक रूप से ट्रेनिंग कर रहे थे. इसके बाद कैंप को बंद कर दिया गया. केन्याई सरकार ने सामूहिक रूप से एकत्र होने पर प्रतिबंध लगा रखा है.