पाक के पूर्व कैप्टन इंजमाम उल हक ने की इस खिलाड़ी की तारीफ कहा - थे एक खतरनाक बॉलर '

पाक के पूर्व कैप्टन इंजमाम उल हक ने की इस खिलाड़ी की तारीफ कहा - थे एक  खतरनाक बॉलर '

पाक के पूर्व कैप्टन इंजमाम उल हक के मुताबिक, सचिन तेंदुलकर जितने महान बल्लेबाज थे, उतने ही खतरनाक बॉलर भी थे. इंजमाम ने कहा- मैंने संसार के तमाम लेग स्पिनर्स को खेला. किसी की गुगली पढ़ने में मुझे कभी परेशानी नहीं आई. एक सचिन ऐसा था जो गुगली करता था तो मैं परेशान हो जाता था. यही वजह है कि उसने मुझे कई बार आउट किया.


इंजी के नाम से प्रसिद्ध इस पूर्व मिडल ऑर्डर बल्लेबाज को सचिन से एक शिकायत भी है. उनके मुताबिक, सचिन ने युवाओं को खेल की बारीकियां नहीं सिखाईं.

कादिर ने सचिन को उकसाया था
इंजमाम ने अपने यूट्यूब चैनल पर सचिन के बारे में पूरा एक एपिसोड किया. कहा, “अगर महान से भी बड़ा कोई शब्द है तो मैं वो सचिन के लिए प्रयोग करूंगा. 16 वर्ष की आयु में उसने इमरान, वकार व अकरम जैसे गेंदबाजों का सामना किया. मुझे नहीं लगता कि कोई उसके करीब भी आ पाएगा. डेब्यू सीरीज के एक मैच में वो पेशावर में बैटिंग कर रहा था. उसने मुश्ताक अहमद की गेंद पर एक छक्का मारा. तभी संसार के महानतम लेग स्पिनर्स में से एक अब्दुल कादिर उसके पास गए. कहा- बच्चे को मार रहे हो. मुझे मारकर दिखाओ. सचिन कहा कुछ नहीं. अगले ओवर में उनसे कादिर को चार छक्के मारे.”

सचिन ने युग बदल दिया
इंजमाम ने कहा, “सचिन उस दौर में खेला जब कोई भी महान बल्लेबाज 8 हजार से ज्यादा स्कोर नहीं कर पाता था. अपवाद के तौर पर आप सुनील गावस्कर का नाम ले सकते हैं. उन्होंने 10 हजार रन बनाए. लेकिन, सचिन की तरफ देखिए. उसने 35 हजार रन बनाए. अब देखने वाली बात होगी कि उसका रिकॉर्ड कौन तोड़ता है. संसार में सचिन से ज्यादा फैन किसी खिलाड़ी के नहीं होंगे. वो बॉलर नहीं था. लेकिन, जब गेंद हाथ में होती थी तो वो मीडियर पेसर भी होता था व लेग स्पिनर भी.”

सचिन से सिर्फ एक शिकायत व गुजारिश
आखिर में इंजमाम ने सचिन को संदेश दिया. कहा, “इस महान प्लेयर से मुझे एक गिला या कहें शिकायत है. इसके पास जो योग्यता व प्रतिभा थी, वो इसने लोगों के साथ शेयर नहीं की. क्रिकेट से ऐसे दूर होना कि अपना अनुभव किसी व खासकर युवाओं से शेयर न करना, ये ठीक नहीं है. मुझे लगता है कि सचिन को इस बारे में सोचना चाहिए.”