इंग्लैंड ने बाबर आजम को नजरअंदाज करने की बात कही थी: हुसैन

इंग्लैंड ने बाबर आजम को नजरअंदाज करने की बात कही थी: हुसैन

वर्ल्ड क्रिकेट में बीते दो वर्ष से भारतीय कैप्टन विराट कोहली व बाबर आजम की बल्लेबाजी की तुलना हो रही है. लेकिन वेस्टइंडीज के पूर्व गेंदबाज इयान बिशप का मानना है कि यह दोनों बल्लेबाज उन्हें सचिन तेंदुलकर की याद दिलाते हैं. बिशप ने जिम्बाब्वे के पूर्व क्रिकेटर पॉमी बांग्वा से इंस्टाग्राम पर लाइव चैट के दौरान यह बात कही.

बिशप ने बोला कि जहां तक सीधा खेलने की बात है, तो सचिन का नाम सबसे पहले सामने आता है. वे हमेशा गेंद की लाइन में आकर ही खेलते थे. इसलिए मैं सचिन को बेस्ट बल्लेबाज मानता हूं. ये दोनों खिलाड़ी (कोहली व आजम) भी ऐसा ही खेलते हैं.

आजम टी-20 रैंकिंग में पहले जगह पर

आजम टी-20 रैंकिंग में पहले पायदान पर हैं. 25 वर्ष के इस पाकिस्तानी बल्लेबाज का वनडे व टी-20 में 50 से ज्यादा का औसत है. बाबर ने 74 वनडे में 54.17 की औसत से 3359 रन बनाए हैं, जबकि 38 टी-20 में उन्होंने 50.72 की औसत से 1471 रन बनाए हैं. टेस्ट में भी उनका औसत 45 से ज्यादा है.

विराट का तीनों फॉर्मेट में औसत 50 से ज्यादा

वहीं, आईसीसी टेस्ट रैंकिंग में दूसरे जगह पर उपस्थित भारतीय कैप्टन विराट कोहली ने 86 टेस्ट में 53.62 की औसत से 7240 रन बनाए हैं. वहीं, उन्होंने 248 वनडे में 59.33 की औसत से 11867 रन बनाए हैं. इसके साथ, टी-20 क्रिकेट में उनके 2794 रन हैं. इस फॉर्मेट में भी उनका औसत 50 से ज्यादा का है. टेस्ट व वनडे में विराट अब तक 70 शतक लगा चुके हैं. दूसरी ओर, सचिन ने टेस्ट व वनडे में 100 शतक लगाए हैं.

तीन दिन पहले इंग्लैंड के पूर्व कैप्टन व कॉमेंटेटर नासिर हुसैन ने पाकिस्तानी बल्लेबाज आजम की तारीफ की थी. उन्होंने बोला था कि वे विराट कोहली व स्टीव स्मिथ जितने काबिल बल्लेबाज हैं. लेकिन उन्हें उस तरह की अटेंशन नहीं मिलती, जिसके वह हकदार हैं.

'कोहली की परफॉर्मेंस की हर कोई बात करता है'

हुसैन ने आगे बोला कि अगर आजम की स्थान कोहली खेल रहे होते, तो हर कोई उनकी परफॉर्मेंस की बात कर रहा होता. 2018 से उनका टेस्ट में औसत करीब 68 व व्हाइट बॉल क्रिकेट में 55 का है. वह युवा हैं, एलीगेंट हैं. हर कोई फैब फोर (विराट कोहली, स्टीव स्मिथ, केन विलियम्सन व जो रूट) के बारे में बात करता है. यहां फैब फाइव हैं व बाबर आजम इसका भाग हैं.