पहले मैच के बाद टीम इंडिया के कैप्टन विराट कोहली ने कही यह बात

पहले मैच के बाद टीम इंडिया के कैप्टन विराट कोहली ने कही यह बात

मुंबई में खेले गए पहले वनडे में टीम इंडिया को ऑस्ट्रेलिया को बहुत बुरी तरह से हराया था. उसने हिंदुस्तान को क्रिकेट के तीनों विभाग में पीछे छोड़ते हुए 10 विकेट की करारी मात दी थी.

ऐसी पराजय की टीम इंडिया के कट्‌टर से कट्‌टर आलोचक को भी उम्मीद नहीं थी. लेकिन ऑस्ट्रेलिया के इस प्रदर्शन से टीम इंडिया अब सतर्क हो गई होगी व शुक्रवार को राजकोट में खेले जाने वाले दूसरे वनडे मैच में वापसी के लिए कमर कस कर उतरेगी, जबकि टीम ऑस्ट्रेलिया पहले मैच जैसा ही प्रदर्शन दोहराने की प्रयास करेगी. हिंदुस्तान के लिए कोढ़ में खाज यह है कि वह बिना स्थायी विकेटकीपर के दूसरे मैच में उतरेगी. पहले मैच के दौरान ऋषभ पंत चोटिल हो गए थे व टीम प्रबंधन ने उनके लिए विकल्प की मांग नहीं की है. ऐसे में कामचलाऊ विकेटकीपर केएल राहुल से ही हिंदुस्तान को कार्य चलाना होगा.

कोहली ने माना ऑस्ट्रेलियाई टीम मजबूत

पहले मैच के बाद टीम इंडिया के कैप्टन विराट कोहली ने भी माना था कि यह आस्ट्रेलियाई टीम बेहद मजबूत है व इसके विरूद्ध वापसी करना मुश्किल चुनौती होगा. देखना है कि टीम इंडिया इस चुनौती से कैसे पार पाती है. क्योंकि मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम पर पहले आस्ट्रेलियाई गेंदबाजों ने कागजों पर मजबूत भारतीय बल्लेबाजी क्रम का दम निकाल कर रख दिया व उसके बाद उनकी टीम के सलामी बल्लेबाज एरॉन फिंच तथा डेविड वॉर्नर में दुनिया की सर्वश्रेष्ठ आक्रमण बताई जा रही टीम इंडिया के तेज गेंदबाजों की बखिया उधेड़कर रख दी. इन गेंदबाजों में जसप्रीत बुमराह, मोहम्मद शमी व कुलदीप यादव जैसे बड़े नाम शामिल थे.

बल्लेबाजी क्रम इस बार भी बनेगी समस्या

राजकोट में ऋषभ पंत नहीं खेलेंगे व न उनकी स्थान किसी स्थानापन्न की घोषणा की गई है. ऐसे में केएल राहुल का खेलना तय नजर आता है. ऐसे में विराट कोहली के सामने यह सबसे बड़ी चुनौती रहेगी कि राहुल को किस क्रम पर बल्लेबाजी के लिए उतारा जाए. क्योंकि पिछले मैच में चौथे क्रम पर विराट कोहली का प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा था व राहुल निचले क्रम में अच्छी बल्लेबाजी नहीं कर पाते हैं. इसलिए इन दोनों में से जो भी निचले क्रम में आएगा, उसके लिए अच्छी बल्लेबाजी करना बड़ी चुनौती होगी. वैसे यह नयी कठिनाई नहीं है. टीम इंडिया दुनिया कप से मध्यक्रम को लेकर कठिनाई में है. पिछले कुछ दिनों से श्रेयस अय्यर ने जरूर अच्छी बल्लेबाजी की थी, लेकिन उनकी इम्तिहान ऑस्ट्रेलिया जैसे मजबूत गेंदबाजी आक्रमण वाली टीम के विरूद्ध पहली बार हो रहा है. इसके अतिरिक्त पंत की स्थान मनीष पांडेय व शिवम दुबे में से कौन लेगा. इस पर भी माथा-पच्ची करनी पड़ेगी. उम्मीद है कि टीम इंडिया बल्लेबाजी मजबूत करने के लिए मनीष पांडेय को शिवम पर वरीयता देगी.

चहल व सैनी को मिल सकता है मौका

दूसरे मैच में गेंदबाजी से पहले टीम प्रबंधन के सामने बल्लेबाजी क्रम को व्यवस्थित करने की चुनौती तो है ही, इसके अतिरिक्त गेंदबाजी में भी बुरा हाल है. कुलदीप, जडेजा, बुमराह, शार्दुल व शमी टीम इंडिया के पांचों गेंदबाज बेअसर रहे थे. हालांकि ऐसा बहुत कम ही होता है कि यह दोनों असर न छोड़ पाएं. हां, शार्दुल की स्थान नवदीप सैनी को मौका मिल सकता है. इसके अतिरिक्त रविंद्र जडेजा की स्थान युजवेंद्र चहल को टीम में शामिल किया जा सकता है. क्योंकि देखा गया है कि चहल व कुलदीप जोड़ी में ज्यादा खतरनाक हो जाते हैं.

ऐसी हो सकती है भारतीय एकादश

भारत : विराट कोहली (कप्तान), रोहित शर्मा (उप-कप्तान), शिखर धवन, लोकेश राहुल (विकेटकीपर), श्रेयस अय्यर, मनीष पांडेय, युजवेंद्र चहल, कुलदीप यादव, मोहम्मद शमी, नवदीप सैनी व जसप्रीत बुमराह.

बेंच : शिवम दुबे, रविंद्र जडेजा, केदार जाधव, ऋषभ पंत (विकेटकीपर, चोटिल) व शार्दूल ठाकुर.

आत्मविश्वास से भरी हुई है ऑस्ट्रेलिया

टीम इंडिया पर बड़ी जीत हासिल कर ऑस्ट्रेलिया की टीम आत्मविश्वास से भरी हुई है. लेकिन वह हिंदुस्तान के पलटवार से सावधान रहेगी. पहले मैच के बाद ऑस्ट्रेलियाई कैप्टन एरॉन फिंच ने बोला भी था कि हिंदुस्तान अब व खतरनाक होकर वापसी की प्रयास करेगा. पहले मैच में ऑस्ट्रेलिया के सारे गेंदबाजों ने शानदार गेंदबाजी की थी, लेकिन एरॉन फिंच व डेविड वार्नर के अतिरिक्त उसके बाकी के बल्लेबाजों की इम्तिहान नहीं हुई है. इसलिए यह देखना रोचक रहेगा कि पहला विकेट जल्दी गिर जाने के बाद बाकी के बल्लेबाज भारतीय पिचों पर कैसा प्रदर्शन करते हैं. उसके युवा स्टार बल्लेबाज मार्नस लाबुशाने ने वनडे डेब्यू तो कर लिया है, लेकिन उन्हें बल्लेबाजी करना बाकी है.

संभावित ऑस्ट्रेलियाई एकादश

डेविड वार्नर, एरॉन फिंच (कप्तान), स्टीव स्मिथ, मार्नस लाबुशाने, एश्टन टर्नर, एलेक्स केरी (विकेटकीपर), एश्टन एगर, पैट कमिंस, मिशेल स्टार्क, केन रिचर्डसन व एडम जम्पा.

बेंच : पीटर हैंड्सकॉम्ब, जोश हेजलवुड व डी आर्की शॉर्ट.