बीसीसीआई के कोषाध्यक्ष अरुण धूमल ने इंडिनय प्रीमियर लीग को लेकर बोली यह बड़ी बात

बीसीसीआई के कोषाध्यक्ष अरुण धूमल ने इंडिनय प्रीमियर लीग को लेकर बोली यह बड़ी बात

बीसीसीआई के कोषाध्यक्ष अरुण धूमल ने इंडिनय प्रीमियर लीग (आईपीएल) को लेकर बोला है कि बोर्ड अभी सरकार के लॉकडाउन पर निर्णय का इंतजार कर रहा है.

 कोरोनावायरस के कारण देश में लगा लॉकडाउन 14 अप्रैल को समाप्त हो रहा है. जबकि 29 मार्च से होने वाले आईपीएल को 15 अप्रैल तक के लिए टाल दिया गया था. वहीं, आईपीएल को अक्टूबर-नवंबर में टी-20 वर्ल्ड कप की स्थान कराए जाने के सवाल पर धूमल ने कहा, ‘अभी कुछ भी बोलना जल्दबाजी होगी.’

धूमल ने कहा, ‘‘अभी हमें नहीं पता कि लॉकडाउन कब समाप्त होगा. सरकार की ओर से निर्णय आने के बाद समीक्षा करके कोई फैसला लिया जा सकता है. अभी कोई कयास लगाना जल्दबाजी होगी.’ उन्होंने बोला कि सभी पदाधिकारी लगातार सम्पर्क में हैं, लेकिन सोमवार को कोई कॉन्फ्रेंस कॉल नहीं हुई. दरअसल, केन्द्र के निर्णय से पहले ही मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल, तेलंगाना, ओड़िशा, पंजाब व तमिलनाडु सरकार ने लॉकडाउन की अवधि को 30 अप्रैल तक बढ़ा दिया है.

‘इस बार आईपीएल को भूल जाएं’
बीसीसीआई अध्यक्ष गांगुली ने रविवार को बोला था, ‘‘हम परिस्थितियों पर नजर बनाए हुए हैं. वैसे की स्थिति में कुछ भी स्पष्ट नहीं बोला जा सकता है. अब कोई उपाय नहीं बचा है. एयरपोर्ट बंद है, लोग घरों में कैद रहने को विवश हैं. सभी कार्यालय बंद हैं. कोई कहीं आ या जा नहीं सकता. यह स्थिति आधी मई तक रहने की आसार है. ऐसी स्थिति में खिलाड़ियों को कहां से लाएंगे व उन्हें यात्रा कैसे कराएंगे. कॉमन सेंस है कि यह स्थिति दुनियाभर में किसी भी खेल के अनुसार नहीं है. आईपीएल को भूलें.’’

‘46 वर्ष के ज़िंदगी में ऐसा अनुभव कभी नहीं किया’
गांगुली ने बोला था, ‘‘इस समय स्थिति बहुत ज्यादा भयानक है. मैंने ऐसा अनुभव अपने 46 वर्ष के ज़िंदगी में कभी नहीं किया है. पूरी संसार ने भी कभी ऐसे दशा नहीं देखे होंगे. मुझे लगता है कि कोई भी ऐसा अनुभव दोबारा नहीं करना चाहेगा. पूरी संसार लोग सिर्फ यही सोच रही हैं कि अगले दो सप्ताह कितने लोग व मरेंगे. यह भयावह है.’’

आईपीएल रद्द करने से 3 हजार करोड़ का नुकसान
बीसीसीआई के एक ऑफिसर ने न्यूज एजेंसी को बताया था, ‘‘आईपीएल को तत्काल असर से आईपीएल को रद्द भी नहीं किया जा सकता है. इसके अनिश्चितकाल के लिए टलने की पूरी आसार है. यदि आईपीएल रद्द होता है, तो करीब 3 हजार करोड़ रुपए का नुकसान होगा.’’