स्पोर्ट्स

इस बार बोर्ड ने करोड़ों का दरकिनार कर दोनों प्लेयर्स का किया बड़ा घाटा

Ishan Kishan and Shreyas Iyer: BCCI ने बुधवार को सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट की लिस्ट जारी कर सभी को चौंका दिया है. कई युवा खिलाड़ियों की किस्मत चमकी है तो कुछ को बोर्ड ने तगड़ा झटका दे दिया है. जिसमें से ईशान किशन और श्रेयस अय्यर बड़ा मुद्दा बने हुए हैं. पिछले साल जारी हुई लिस्ट में श्रेयस अय्यर का नाम ग्रेड-B में जबकि ईशान किशन ग्रेड-C में थे. लेकिन इस बार बोर्ड ने करोड़ों का दरकिनार कर दोनों प्लेयर्स का बड़ा घाटा कर दिया है.

श्रेयस-ईशान पर क्या था BCCI का नोट

लिस्ट जारी करने के दौरान श्रेयस अय्यर और ईशान किशन को लेकर बीसीसीआई ने एक स्पेशल नोट लिखा. बोर्ड द्वारा दोनों खिलाड़ियों को लेकर साफ लिखा गया कि सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट पर ईशान और श्रेयस के लिए विचार नहीं किया गया है. सेट्रल कॉन्ट्रैक्ट से बाहर होने के बाद कई सुविधाओं और भारी पैसों का नुकसान ईशान किशन और श्रेयस अय्यर को झेलना पड़ेगा.

NCA सुविधा और इंश्योरेंस नहीं मिलेगा

श्रेयस अय्यर और ईशान किशन आईपीएल में अपनी-अपनी फ्रेंचाइजियों के लिए खेलेंगे. उनकी तरफ से उन्हें रिटेन किया गया है. लेकिन इसके बावजूद दोनों प्लेयर्स को कॉन्ट्रैक्ट से बाहर होने के बाद भारी नुकसान हुआ है. सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट से बाहर होने के बाद दोनों प्लेयर्स सुर्खियों न सिर्फ सु्र्खियों से दूर रहेंगे बल्कि उन्हें NCA और इंश्योरेंस की सुविधा भी नहीं मिलेगी. एनसीए की सुविधा तब काम आती है जब जब कोई क्रिकेटर घायल हो, टीम से बाहर हो या सिर्फ अपने खेल या फिटनेस पर काम करना चाहता हो. इतना ही नहीं, सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट के अंदर आने वाले खिलाड़ी के पास एक बीमा भी कवर होता है. इसमें यदि वह भारत के लिए खेलने के दौरान यदि चोटिल हो जाते हैं और आईपीएल से चूक जाते हैं, तो उन्हें वित्तीय नुकसान की भरपाई की जाएगी. उदाहरण के तौर पर ऐसा मोहम्मद शमी के साथ हुआ था जो वर्ल्ड कप के दौरान चोटिल हो गए थे. अब वे आईपीएल 2024 से बाहर हो चुके हैं.

वापसी करने के लिए करनी होगी मशक्कत

टीम इंडिया में वापसी करने के लिए श्रेयस अय्यर और ईशान किशन को काफी पापड़ बेलने पड़ेंगे. उन्हें आईपीएल में ही नहीं बल्कि घरेलू क्रिकेट में बड़े स्कोर करने होंगे. ग्रेड बी के प्लेयर्स को बीसीसीसाई द्वारा 3 करोड़ रुपये दिए जाते हैं, इसके अलावा साल में हुए मैचों के दौरान मैच फीस भी दी जाती है. वहीं, ग्रेड सी के प्लेयर्स को बोर्ड द्वारा 1 करोड़ रुपये मिलते हैं. ऐसे में पिछले साल ग्रेड बी में रहे श्रेयस अय्यर और ग्रेड सी में रहे ईशान किशन को करोड़ों का नुकसान हो गया है.

Related Articles

Back to top button