बीसीसीआई की करप्शन निरोधक ईकाई ACU की टीम ने रविंदर दांडीवाल को लेकर बोली यह बड़ी बात

बीसीसीआई की करप्शन निरोधक ईकाई ACU की टीम ने रविंदर दांडीवाल को लेकर बोली यह बड़ी बात

बीसीसीआई की करप्शन निरोधक ईकाई (ACU) की दो सदस्यीय टीम ने पंजाब पुलिस की ओर से अरैस्ट किये गए कथित मैच फिक्सर रविंदर दांडीवाल (Ravinder Dandiwal) से मोहाली में पूछताछ की। 

दांडीवाल को चंडीगढ के पास खेले गए एक टी20 मैच के आयोजन में कथित किरदार के लिये हिरासत में लिया गया है . इस मैच को औनलाइन इस तरह से स्ट्रीम किया गया था मानों वह श्रीलंका में हो रहा हो . बीसीसीआई की टीम दांडीवाल से सूचनाएं इकट्ठा करने के लिए दिल्ली से मोहाली गयी है।

दांडीवाल की गिरफ्तारी से भ्रष्टाचारियों की संसार में खलबली
बीसीसीआई एसीयू प्रमुख अजीत सिंह ने पीटीआई-भाषा को बताया कि दांडीवाल (Ravinder Dandiwal) की गिरफ्तारी से भ्रष्टाचारियों की संसार में हड़कंप मच गयी है। अजीत सिंह खुद पूछताछ करने के लिए मोहली नहीं गये हैं लेकिन उन्होंने कहा, ' हमारी टीम को उससे पूछ-ताछ करने की अनुमति दी गई थी। वैसे हम उसके व उसकी गतिविधियों के बारे में जानने से ज्यादा कुछ नहीं जानते हैं। पंजाब पुलिस ने उसे पांच दिनों के लिए गिरफ्तार किया है। वे अपनी जाँच जारी रखेंगे व अगर कुछ खुलासा होता है तो हम से जानकारी साझा करेंगे। ' अजीत सिंह ने इस मुद्दे में योगदान के लिए पंजाब पुलिस का शुक्रिया अदा किया। उन्होंने कहा, ' हम उनके आभारी हैं कि उन्होंने त्वरित व प्रभावी कार्रवाई के लिए कदम उठाया। उसकी गिरफ्तारी से भ्रष्टाचारियों की संसार में हड़कंप मची है व इसका बड़ा प्रभाव होगा। इसने एक कड़ा संदेश दिया है। हमें टिप्पणी से पहले कुछ चीजों को सत्यापित करने की आवश्यकता है। '

श्रीलंका की लीग के नाम से खेला गया फर्जी मैच



यह मैच 29 जून को खेला गया था जो चंडीगढ़ से 16 किलोमीटर दूर सवारा गांव में हुआ था लेकिन इसे श्रीलंका के बादुला शहर में ‘यूवा टी20 लीग’ मैच के तौर पर स्ट्रीम किया गया। बादुला शहर यूवा प्रांतीय क्रिकेट संघ का घरेलू मैदान है। पीटीआई से बात करते हुए एसीयू प्रमुख ने पिछले हफ्ते दांडीवाल को जाना माना फिक्सर बताया था, जब ऑस्ट्रेलिया में विक्टोरिया पुलिस ने उसे (Ravinder Dandiwal) टेनिस मैच फिक्सिंग स्कैंडल का मुखिया बताया था . इसमें निचली रैंकिंग वाले टेनिस खिलाड़ियों को 2018 में मिस्र व ब्राजील में दो टूर्नामेंटों में कथित तौर पर जान बूझकर हारने के लिये राजी किया गया था . बीसीसीआई पिछले चार वर्षों से उस पर नजर रख रही थी।

अजीत सिंह ने कहा, 'मैं सिर्फ उसके क्रिकेट से जुड़ाव के बारे में बात कर सकता हूं लेकिन वह अन्य खेलों से भी जुड़ हुआ है। वह खुद अपनी लीग को शुरु करने की प्रयास करता है व जब इस में पास हो जाता है तो अपने मन मुताबिक नतीजों को प्रभावित करने की प्रयास करता है। ' दांडीवाल ने नेपाल में एशियाई प्रीमियर लीग व अफगान प्रीमियर लीग का भी आयोजन किया था। उसने हरियाणा में भी एक लीग आयोजित करने का भी कोशिश किया था जिसे बीसीसीआई ने रद्द कर दिया था।